taaja khabar..भारत में बड़ा आतंकी हमला करने की फिराक में है इस्लामिक स्टेट, रूस ने साजिश रच रहे आत्मघाती हमलावर को हिरासत में लिया..भाजपा का सिसोदिया पर पलटवार, कहा- केजरीवाल जिसे देते हैं ईमानदारी का सर्टिफिकेट वो जरूर जाता है जेल..शहनवाज हुसैन को सर्वोच्च न्यायालय से मिली बड़ी राहत, हाई कोर्ट के आदेश पर लगी रोक..आबकारी घोटाले में 'टूलकिट माड्यूल' की जांच, स्टैंडअप कामेडियन और हैदराबाद से जुड़े शराब के व्यापारी भी रडार पर..प्रधानमंत्री 24 अगस्त को हरियाणा और पंजाब में अस्पतालों का उद्घाटन करेंगे..आबकारी नीति मामला: भाजपा की दिल्ली इकाई का केजरीवाल के आवास के बाहर प्रदर्शन..

यूपी में मोदी को बंपर वोट, अगर आज चुनाव हुए तो टूट जाएगा 2014 का रेकॉर्ड

नई दिल्ली: लोकसभा की 512 सीटों का ओपिनियन पोल आ चुका है। अगर आज चुनाव हो जाता है तो बीजेपी 326 सीटें जीतकर प्रचंड बहुमत के साथ सरकार बनाएगी। अगर एनडीए की सीटें जोड़ दी जाएं तो ये आंकड़ा 350 के आस पास पहुंच जाएगा। 2014 में बीजेपी की 292 सीटें आईं थीं, 2019 में 303 सीटें और अगर आज चुनाव हो जाएं तो बीजेपी सभी का रेकॉर्ड तोड़ सकती है। दक्षिण भारत के राज्यों में बीजेपी खास करिश्मा नहीं कर पा रही है। वहीं उत्तर के राज्यों में बीजेपी का जादू बरकरार है। कई राज्यों में बीजेपी 2019 से भी अच्छा प्रदर्शन करती हुई नजर आ रही है। साउथ के राज्यों में तेलंगाना और कर्नाटक में बीजेपी बढ़त हासिल किए हुए है। बाकी पूरे भारत के हर राज्य में बीजेपी को फायदा मिलता हुआ नजर आ रहा है। यूपीए की 97 सीटों में राहुल गांधी को 39 सीटें मिलती हुई नजर आ रही हैं। इंडिया टीवी मैटराइज ने ओपिनियन पोल किया है। इस पोल में तमाम सवाल किए गए हैं। गुजरात में बीजेपी-बीजेपी गुजरात में अगर आज चुनाव हो जाएं तो बीजेपी 26 की 26 लोकसभा सीटें जीत जाएगी। सर्वे में साफ हुआ है कि गुजरात में पीएम मोदी के नाम पर 61 फीसदी वोट वहां पर मिलते हुए नजर आ रहे हैं। जबकि कांग्रेस को 35 फीसदी के आस-पास वोट मिलने जा रहे हैं। हार्दिक पटेल के बीजेपी में आने से बीजेपी को कोई फायदा नहीं हो रहा है। गुजरात के लोग पीएम मोदी के नाम पर वोट कर रहे हैं। महाराष्ट्र में बीजेपी-एकनाथ शिंदे को पसंद कर रहे लोग महाराष्ट्र में अगर आज चुनाव हो जाएं तो यहां भी पीएम मोदी का जादू सिर चढ़कर बोल रहा है। 2019 में जब लोकसभा चुनाव हुए थे तो बीजेपी को 28 फीसदी वोट मिले थे। अगर आज चुनाव होते हैं यहां पर बीजेपी को 36 फीसदी वोट मिलेगा। यानी की बीजेपी का वोट बैंक यहां पर बढ़ता हुआ नजर आ रहा है। वहीं अगर एकनाथ शिंदे गुट की बात करें तो 2019 में उनके साथ सात फीसदी वोट थे मगर अब एकनाथ शिंदे गुट को 17 फीसदी वोट मिलेंगे। महाराष्ट्र में 48 लोकसभा सीटें हैं। अगर आज चुनाव होंगे तो यहां पर 26 सीटें बीजेपी को मिल सकती हैं। तीन सीटें उद्धव ठाकरे गुट को मिलती हुई दिख रही है। एकनाथ शिंदे को 11 सीटें मिलती हुई नजर आ रही है। एनसीपी को 2019 में 16 फीसदी वोट मिले थे, अब उनको एक फीसदी वोट का लाभ मिल रहा है। सबसे ज्यादा नुकसान हुआ है उद्धव ठाकरे को। उनका वोट बैंक तीन फीसदी तक सिमट गया है। गोवा की दोनों सीटें बीजेपी गोवा में लोकसभा की 2 सीटें हैं। ओपिनियन पोल में ये साफ हो रहा है कि यहां की दोनों सीटें बीजेपी जीत रही है। यहां पर वोट शेयर की बात करें तो बीजेपी को 2019 में 52 फीसदी वोट मिले थे तो वहीं अगर आज चुनाव हो जाएं तो बीजेपी को 53 फीसदी वोट मिलते हुए नजर आ रहे हैं। यहां पर कांग्रेस को एक सीट का नुकसान हो रहा है। राजस्थान में बीजेपी करेगी क्लीन स्वीप राजस्थान में बीजेपी को 25 की 25 सीटें मिल सकती हैं। कांग्रेस को यहां पर एक भी सीट नहीं मिल रही है। हालांकि 2019 में बीजेपी को 25 की 25 सीटें जीती थीं। इस बार भी बीजेपी वही दोहरा रही है। राजस्थान के 56 फीसदी लोगों ने कहा है कि अगर केंद्र और राज्य में एक सरकार होती है तो फायदा होता है। डबल इंजन सरकार को लोगों ने पसंद किया है। बीजेपी को यहां पर 59 फीसदी वोट मिलते हुए नजर आ रहे हैं। हालांकि बीेजपी को एक फीसदी वोट का नुकसान हो रहा है। मध्य प्रदेश में बीजेपी को 28 सीटें मध्य प्रदेश में अगर आज चुनाव होते हैं तो बीजेपी को 29 सीटों में से 28 सीटें बीजेपी जीत सकती है। कांग्रेस को एक सीट में जीत मिलती हुई नजर आ रही है। 2019 में बीजेपी को 28 सीटें मिलीं थीं। 2019 में कांग्रेस को एक सीट ही मिली थी। मध्य प्रदेश में बीजेपी के काम से 43 फीसदी लोग संतुष्ट है। एमपी के सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि शहर के अलावा गांव में लोगों का अपार प्यार मिल रहा है। चौहान ने कहा कि कांग्रेस की बौखलाहट ये बताती है कि अब उनको खुद का अस्तित्व बचाने की चुनौती है। पश्चिम बंगाल में ममता दीदी को फायदा पश्चिम बंगाल में 42 सीटें में से 14 सीटें मिल सकती है। टीएमसी को 26 सीटें मिल रही है। 2019 में दीदी को 22 सीटें मिलीं थीं। आज अगर चुनाव होते हैं तो चार सीटों का फायदा हो रहा है। 2019 में बीजेपी को 18 सीटें मिलीं थीं. वहीं कांग्रेस को 2019 में दो सीटें मिलीं थीं और अगर आज चुनाव होते हैं तो बंगाल में दो सीटें कांग्रेस को फिर से मिल सकती हैं। बीजेपी को पश्चिम बंगाल में 42 फीसदी वोट मिलता दिख रहा है। मगर यहां पर ममता दीदी का जादू अभी भी बरकरार हैं। यूपी में 76 सीटें यूपी में भाजपा को 76 सीटें मिलती हुई नजर आ रही हैं। यहां पर लोकसभा की कुल 80 सीटें हैं। यहां पर बीजेपी को 76 सीटें मिलती नजर आ रही है। वहीं अखिलेश यादव को दो सीटें और कांग्रेस के खाते में 2 सीटें मिलती हुई नजर आ रही है। बसपा का इन चुनावों में खाता तक नहीं खुल रहा है। 2019 में बीजेपी को 56 सीटें मिली थीं। वहीं 2014 बीजेपी के 71 सीटें मिलीं थीं। दो सीटें बीजेपी के खातें में बाद में जुड़ीं थीं। इस बार यूपी में बीजेपी को बंपर वोट मिलते हुए दिखाई दे रहे हैं। बिहार में बीजेपी को बढ़त बिहार में बीजेपी को 2019 से ज्यादा वोट मिलते दिखाई दे रहे हैं। यहां पर बीजेपी को 21 सीटें मिलती हुई नजर आ रही है। वहीं जेडीयू को 14 और राजद को 4 सीटें मिलती हुई नजर आ रही है। यानी की यहां पर बीजेपी को बढ़त हासिल होती दिखाई दे रही है। यहां पर कांग्रेस के खाते में सिर्फ एक सीट जाती हुई नजर आ रही है। यानी कांग्रेस हर राज्य से सिमटती हुई नजर आ रही है। पंजाब में आप तो हरियाणा में बीजेपी पंजाब में लोकसभा की कुल 13 सीटें हैं। यहां पर आप सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरती हुई नजर आ रही है। अगर आज चुनाव हो जाएं तो यहां पर केजरीवाल की पार्टी 5 सीटें जीत सकती है। बीजेपी यहां पर तीन सीटें जीतती हुई नजर आ रही है। अकाली दल सुखबीर सिंह बादल एक सीट जीत रही है और कांग्रेस के खाते में तीन सीटें जाती हुई नजर आ रही है। हरियाणा में सीधा मुकाबला बीजेपी और कांग्रेस की बीच है। यहां पर 10 लोकसभा सीटें हैं और बीजेपी इसमें से 9 सीटें जीतने की कगार पर है। यानी कांग्रेस के खाते में सिर्फ एक सीट जाती हुई नजर आ रही है। जम्मू कश्मीर लद्दाख में 6 सीटें हैं। यहां पर बीजेपी की तीन सीटें और नेशनल कॉन्फ्रेंस को तीन सीटें मिलती हुई नजर आ रही है। तेलंगाना में बीजेपी को बढ़त दक्षिण भारत के राज्यों में भाजपा की पैनी नजर बनी हुई है। अभी हार ही में तेलंगाना में बीजेपी ने राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक भी की थी। बैठक में पीएम मोदी शामिल हुए थे। तेलंगाना की बात करें तो यहां पर केसीआर को नुकसान हो रहा है। केसीआर को 2019 में 42 फीसदी वोट मिला था, अगर अभी चुनाव हो जाएं तो 34 फीसदी वोट ही उनको मिल रहे हैं। इसके अलावा बीजेपी को 2019 में सिर्फ 20 फीसदी वोट मिले थे मगर अब 39 फीसदी वोट मिलते हुए नजर आ रहे हैं। वहीं कांग्रेस को यहां भी नुकसान उठाना पड़ सकता है। कांग्रेस को 2019 में 30 फीसदी वोट मिले थे तो वहीं अब 14 फीसदी मिल रहे हैं। यानी की 16 फीसदी वोट कम हुआ है। तेलंगाना में कुल 17 सीटें हैं। जिसमें से केसीआर को 8 सीटें मिल सकती हैं। बीजेपी को यहां पर 6 सीटें मिल सकती हैं। कांग्रेस को दो सीटें मिल रही हैं। ओवैसी की पार्टी को यहां पर एक सीट जोकि खुद ओवैसी की है। वो मिलती हुई नजर आ रही है। दक्षिण भारत में बीजेपी की नजर दक्षिण भारत के राज्यों में भाजपा की पैनी नजर बनी हुई है। अभी हार ही में तेलंगाना में बीजेपी ने राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक भी की थी। बैठक में पीएम मोदी शामिल हुए थे। तेलंगाना की बात करें तो यहां पर केसीआर को नुकसान हो रहा है। केसीआर को 2019 में 42 फीसदी वोट मिला था, अगर अभी चुनाव हो जाएं तो 34 फीसदी वोट ही उनको मिल रहे हैं। इसके अलावा बीजेपी को 2019 में सिर्फ 20 फीसदी वोट मिले थे मगर अब 39 फीसदी वोट मिलते हुए नजर आ रहे हैं। वहीं कांग्रेस को यहां भी नुकसान उठाना पड़ सकता है। कांग्रेस को 2019 में 30 फीसदी वोट मिले थे तो वहीं अब 14 फीसदी मिल रहे हैं। यानी की 16 फीसदी वोट कम हुआ है। तेलंगाना में कुल 17 सीटें हैं। जिसमें से केसीआर को 8 सीटें मिल सकती हैं। बीजेपी को यहां पर 6 सीटें मिल सकती हैं। कांग्रेस को दो सीटें मिल रही हैं। ओवैसी की पार्टी को यहां पर एक सीट जोकि खुद ओवैसी की है। वो मिलती हुई नजर आ रही है। आंध्र प्रदेश में नहीं खुल रहा खाता आंध्र प्रदेश में बीजेपी का खाता खुलता नहीं दिखाई दे रहा है। यहां पर लोकसभा की 25 सीटें हैं। बीजेपी को एक भी सीट नहीं मिल रही है। यहां पर जगन मोहन रेड्डी को 19 सीटें मिलती हुईं नजर आ रही है। टीडीपी यानी चंद्र बाबू नायडू के खाते में 6 सीटें मिलती हुई नजर आ रही है। कर्नाटक में कुल 28 सीटें हैं। यहां पर बीजेपी कुल 23 सीटें जीतती हुई नजर आ रही है। यहां पर कांग्रेस को चार सीटें मिलती हुईं नजर आ रही है। एसडी कुमारस्वामी की बात करें तो उन्हें सिर्फ एक सीट ही मिल रही है। तमिलनाडु में भी बीजेपी साफ तमिलनाडु में कुल 39 लोकसभा सीटें हैं। यहां पर यूपीए के खाते में 38 सीटें जाती हुईं नजर आ रही हैं। यहां पर एनडीए के खाते में सिर्फ एक सीट जाती हुई दिख रही है। तमिलनाडु में डीएमके की 25 सीटें, कांग्रेस की 7, सीपीआई की 2, सीपीएम की 2, वीसीके की एक, समेत कई पार्टियों का गठबंधन है। ये पार्टियां यूपीए में आती हैं। इसीलिए यहां पर आपको 38 सीटें जाती हुई दिख रही हैं। केरल में कुल 20 लोकसभा सीटे हैं। यहां पर भी बीजेपी का खाता नहीं खुल रहा है। केरल की 20 सीटें कांग्रेस के खाते में जाती हुई दिख रही हैं।

Top News