taaja khabar..भारत में बड़ा आतंकी हमला करने की फिराक में है इस्लामिक स्टेट, रूस ने साजिश रच रहे आत्मघाती हमलावर को हिरासत में लिया..भाजपा का सिसोदिया पर पलटवार, कहा- केजरीवाल जिसे देते हैं ईमानदारी का सर्टिफिकेट वो जरूर जाता है जेल..शहनवाज हुसैन को सर्वोच्च न्यायालय से मिली बड़ी राहत, हाई कोर्ट के आदेश पर लगी रोक..आबकारी घोटाले में 'टूलकिट माड्यूल' की जांच, स्टैंडअप कामेडियन और हैदराबाद से जुड़े शराब के व्यापारी भी रडार पर..प्रधानमंत्री 24 अगस्त को हरियाणा और पंजाब में अस्पतालों का उद्घाटन करेंगे..आबकारी नीति मामला: भाजपा की दिल्ली इकाई का केजरीवाल के आवास के बाहर प्रदर्शन..

भारत समर्थक हैकर्स ने चीन और पाकिस्‍तान पर किया बड़ा हमला, सेना की 15000 फाइलें ले उड़े

इस्‍लामाबाद: इन दिनों चीन से लेकर पाकिस्‍तान में हड़कंप मचा हुआ है। भारत समर्थक हैकर्स ने पाकिस्‍तान एयरफोर्स (PAF) और चीन के सुरक्षा संस्‍थान में हैकिंग कर दोनों देशों को बड़ी चोट पहुंचाई है। बताया जा रहा है कि ये घटना इस साल मई में हुई लेकिन इसी माह पाकिस्‍तान में करीबी मिलिट्री ऑफिशियल्‍स के बीच इसके लीक होने से हड़कंप मच गया है। पाकिस्‍तान और चीन दोनों ही इस समय साथ मिलकर साइबर सिक्‍योरिटी की दिशा में काम कर रहे हैं। दोनों का दावा है कि भारत के हैकर्स दोस्‍तों ने उनके साइबर स्‍पेस की जासूसी की है। पाकिस्‍तान नेवी पर भी हमला चीन और पाकिस्‍तान के अधिकारियों ने बताया है कि हैकर्स ने करीब 15000 ऐसी फाइल्‍स को हैक कर लिया है जिसमें टॉप पाक डिफेंस ऑफिसर्स की तरफ से जानका‍रियां दी गई थीं। इसके बाद पाकिस्‍तान के विशेषज्ञ इस बात का पता लगा सके कि उनकी जानकारियों को चोरी कर लिया गया है। कुछ अपुष्ट दावों के मुताबिक हैकर्स कुछ ऐसे संकेत छोड़कर गए थे जिसमें ये पता लग रहा था कि उनके सिस्‍टम में सेंध लगा दी गई है। इसी तरह की एक घटना मार्च माह में भी हुई थी जिसमें पाकिस्‍तान नेवी की जानकारियों को चुराया गया था। चीन और पाकिस्‍तान के अधिकारियों के बीच हुई वार्ता में इस बात की जानकारी मिलती है। चीन के सरकारी मीडिया में एक रिपोर्ट इस महीने आई थी। इसमें कहा गया था कि हैकर्स भारत में ही हैं और वो एक-एक करके कई हमले कर रहे हैं। उनके ऐसे ही हमलों में पिछले साल चीन के मिलिट्री संस्‍थानों को निशाना बनाया गया था। इस रिपोर्ट में दावा किया गया था कि हैकर्स न सिर्फ डाटा चोरी कर रहे हैं बल्कि वो एनर्जी से जुड़ा पूरा इनफ्रास्‍ट्रक्‍चर ही डैमेज कर रहे हैं। भारत पर बड़ा हमला! अगर चीन और पाकिस्‍तान के अधिकारियों का दावा सही साबित होता है तो ये इस साल की पहली ऐसी घटना होगी जिसमें जानकारियों को चोरी किया गया है। चीन और पाकिस्‍तान, भारत की सेनाओं के खिलाफ कई तरह के ऐसे ही साइबर अटैक्‍स को अंजाम देते आ रहे हैं। अक्‍टूबर 2020 में भारत ऐसे ही एक साइबर अटैक का शिकार हुआ था जिसके बाद मुंबई में बड़े पैमाने पर बिजली संकट पैदा हो गया था। हालांकि चीन ने इसे मानने से इनकार कर दिया था।

Top News