taaja khabar...पीएम मोदी का पाक पर करारा वार, कहा- जो आतंकवाद का टूल के तौर पर इस्‍तेमाल कर रहे हैं उनको भी खतरा........यूएन महासभा में भाषण के बाद सुरक्षा प्रोटोकाल तोड़कर भारतीयों के बीच पहुंचे पीएम मोदी, लगे भारत माता की जय के नारे...चाय बेचने वाले के बेटे का चौथी बार UNGA का संबोधित करना भारत के लोकतंत्र की ताकत: पीएम मोदी...UNGA में पीएम मोदी ने पाक और चीन की खोली पोल, कहा- समुद्री सीमा का दुरुपयोग नहीं होना चाहिए..अमेरिका चाहता है यूएन में भारत को मिले स्थायी सदस्यता - हर्षवर्धन श्रृंगला..अफगानिस्तान में हजारा समुदाय को जमीन छोड़ने के लिए मजबूर कर रहा तालिबान..भारत को 'विश्व गुरु' बनाना मोदी का एक मात्र लक्ष्य, प्रधानमंत्री के यूएनजीए संबोधन पर बोले नड्डा....केंद्र सरकार ने कहा- सफल नहीं होगी आतंकियों की ना'पाक' कोशिश, देश सुरक्षित हाथों में..दिल्ली की रोहिणी कोर्ट में जज के सामने गैंगस्टर जितेंद्र उर्फ गोगी की हत्या, दो हमलावर ढेर...सचिन पायलट ने पीसीसी अध्यक्ष और उप मुख्यमंत्री बनने से किया इंकार...: निषाद पार्टी व अपना दल के साथ BJP का गठबंधन, प्रदेश के चुनाव प्रभारी धर्मेन्द्र प्रधान ने की घोषणा...भारत में 84 करोड़ से अधिक हुआ टीकाकरण, यूपी नंबर 1..ब्रिटिश सांसद ने दी चेतावनी, जम्‍मू-कश्‍मीर से हटी भारतीय सेना तो आएगा 'तालिबान राज'... आजादी के बाद सेनाओं के सबसे बड़े कायापलट की दिशा में भारत...PM नरेंद्र मोदी के सामने कमला हैरिस ने आतंकवाद पर पाकिस्तान को लताड़ा, 'ऐक्शन लें इमरान'...इजरायली 'लौह कवच' से लैस होगा अमेरिका, आयरन डोम से मिलेगी फौलादी सुरक्षा...

पाकिस्‍तान ने अफगानिस्‍तान पर थोपी अपनी मुद्रा, भड़की अफगान जनता

पाकिस्तानी अखबार डेली जंग ने एक रिपोर्ट में देश के वित्त मंत्री शौकत तरीन के हवाले से कहा कि अफगानिस्तान को डॉलर के भंडार की कमी का सामना करना पड़ा और यही कारण होगा कि अफगानिस्तान पाकिस्तानी रुपये में लेनदेन करेगा। रिपोर्ट में कहा गया है कि अंतरार्ष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) और विश्व बैंक द्वारा अफगानिस्तान को भुगतान निलंबित करने के बाद तरीन ने यह बयान दिया। राहा प्रेस ने बताया कि पाकिस्तान के सबसे ‘चौंकाने वाले’ वित्त मंत्री ने सीनेट की आर्थिक समिति को बताया है कि चूंकि अफगानिस्तान में इन दिनों डॉलर की तरलता खत्म हो रही है, अफगानिस्तान के साथ व्यापार रुपये (पाकिस्तानी रुपये) में हो सकता है। 'अफगानिस्तान की स्थिति पर कड़ी नजर रखी जा रही' यह ध्यान दिया जाना चाहिए कि अतीत में, पाकिस्तान की सीमा से लगे देश के कई शहरों में, मुख्य व्यापार एक्सचेंज पाकिस्तानी रुपये पर आधारित थे, जिसे कई प्रतिक्रियाओं के साथ मिला था। शौकत ने कहा कि अफगानिस्तान की स्थिति पर कड़ी नजर रखी जा रही है और पाकिस्तान अफगान अर्थव्यवस्था को पुनर्जीवित करने में मदद के लिए एक टीम भेजेगा। पझवोक न्यूज ने कहा कि इन रिपोर्टों के बाद, अफगानों ने ‘अफगानी हमारी राष्ट्रीय पहचान है’ शीर्षक से एक सोशल मीडिया अभियान शुरू किया। अधिकांश सोशल मीडिया कार्यकर्ताओं ने नारे साझा किए, जैसे- ‘हम अफगानिस्तान के निवासी हैं, अफगानी हमारी राष्ट्रीय पहचान है और अफगानी मुद्रा का उपयोग करना हमारी राष्ट्रीय जिम्मेदारी है।’ सोशल मीडिया यूजर अब्दुल करीम ने एक ट्वीट में कहा, ‘मैं अपना देश खुद बनाऊंगा, इसलिए मैं अपने देश की मुद्रा का उपयोग करूंगा। अफगानिस्तान में हर लेनदेन अफगान मुद्रा पर होना चाहिए।’ एक अन्य सोशल मीडिया यूजर मोहम्मद सईद ने तालिबान को संबोधित करते हुए कहा, ‘अफगानियों का अस्तित्व पूरी तरह से आप पर निर्भर है, अगर यहां (अफगानिस्तान) अफगानी की जगह पाकिस्तानी रुपये आए, तो इसकी जिम्मेदारी आप पर होगी और अफगान आपको जवाबदेह ठहराएंगे।’ 'अफगान मुद्रा का उपयोग करना चाहिए' कई तालिबान समर्थक लोगों ने भी इस मुद्दे पर प्रतिक्रिया व्यक्त की। उनमें से एक, हम्माद अफगान ने एक ट्वीट में कहा, ‘यदि आप अपने भविष्य को रोशन करना चाहते हैं और एक समृद्ध अफगानिस्तान बनाना चाहते हैं, तो आपको हमारी राष्ट्रीय मुद्रा (अफगानी) को बढ़ावा देना चाहिए।’ तालिबान समर्थक अफगान शेख अब्दुल हामिद हम्मासी ने कहा, ‘अगर कोई राष्ट्रीय पहचान और अफगानपन को महत्व देता है, तो उन्हें लेनदेन के लिए अफगान मुद्रा का उपयोग करना चाहिए ...।’ उन्होंने कहा कि तालिबान को सभी अधिकारियों, व्यापारियों और लोगों को यह स्पष्ट करना चाहिए कि अगर उन्होंने पाकिस्तानी रुपये का इस्तेमाल किया तो उन्हें दंडित किया जाएगा। रिपोर्ट में कहा गया है कि कई अन्य लोगों ने भी इसी तरह के विचार रखे और कहा कि विदेशी मुद्रा का इस्तेमाल करने वालों को दंडित किया जाना चाहिए।

Top News