taaja khabar...पीएम मोदी का पाक पर करारा वार, कहा- जो आतंकवाद का टूल के तौर पर इस्‍तेमाल कर रहे हैं उनको भी खतरा........यूएन महासभा में भाषण के बाद सुरक्षा प्रोटोकाल तोड़कर भारतीयों के बीच पहुंचे पीएम मोदी, लगे भारत माता की जय के नारे...चाय बेचने वाले के बेटे का चौथी बार UNGA का संबोधित करना भारत के लोकतंत्र की ताकत: पीएम मोदी...UNGA में पीएम मोदी ने पाक और चीन की खोली पोल, कहा- समुद्री सीमा का दुरुपयोग नहीं होना चाहिए..अमेरिका चाहता है यूएन में भारत को मिले स्थायी सदस्यता - हर्षवर्धन श्रृंगला..अफगानिस्तान में हजारा समुदाय को जमीन छोड़ने के लिए मजबूर कर रहा तालिबान..भारत को 'विश्व गुरु' बनाना मोदी का एक मात्र लक्ष्य, प्रधानमंत्री के यूएनजीए संबोधन पर बोले नड्डा....केंद्र सरकार ने कहा- सफल नहीं होगी आतंकियों की ना'पाक' कोशिश, देश सुरक्षित हाथों में..दिल्ली की रोहिणी कोर्ट में जज के सामने गैंगस्टर जितेंद्र उर्फ गोगी की हत्या, दो हमलावर ढेर...सचिन पायलट ने पीसीसी अध्यक्ष और उप मुख्यमंत्री बनने से किया इंकार...: निषाद पार्टी व अपना दल के साथ BJP का गठबंधन, प्रदेश के चुनाव प्रभारी धर्मेन्द्र प्रधान ने की घोषणा...भारत में 84 करोड़ से अधिक हुआ टीकाकरण, यूपी नंबर 1..ब्रिटिश सांसद ने दी चेतावनी, जम्‍मू-कश्‍मीर से हटी भारतीय सेना तो आएगा 'तालिबान राज'... आजादी के बाद सेनाओं के सबसे बड़े कायापलट की दिशा में भारत...PM नरेंद्र मोदी के सामने कमला हैरिस ने आतंकवाद पर पाकिस्तान को लताड़ा, 'ऐक्शन लें इमरान'...इजरायली 'लौह कवच' से लैस होगा अमेरिका, आयरन डोम से मिलेगी फौलादी सुरक्षा...

खुद की गलतियों से फंसे राकेश टिकैत और प्रदर्शनकारी, अब दूसरों पर मढ़ रहे दोष

गाजियाबाद । कृषि कानून विरोधियों ने यूपी गेट पर खुद ही जलनिकासी की व्यवस्था बिगाड़ दी है। इसकी वजह से शनिवार को यहां घुटनों तक जलभराव हो गया। भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने पानी में बैठकर विरोध जताया। नाले की सफाई नहीं होने का आरोप लगाकर दूसरों पर दोष मढ़ा, जबकि हकीकत में इसके दोषी प्रदर्शनकारी खुद हैं। बंद कर रखी है पाइप तीनों कृषि कानूनों के विरोध में यूपी गेट पर 28 नवंबर से धरना चल रहा है। प्रदर्शनकारियों ने यहां टेंट लगाकर राष्ट्रीय राजमार्ग-नौ, दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे, संपर्क मार्ग और फ्लाईओवर के नीचे कब्जा किया है। टेंटों के नीचे ईंट-सीमेंट से चिनाई करा दी है। जगह-जगह टायलेट लगाकर उसे हाईवे की जलनिकासी की लाइन से जोड़ दिया है। इसकी वजह से सकी वजह से हाईवे की जलनिकासी की व्यवस्था पूरी तरह से ध्वस्त हो गई है। बारिश का पानी नहीं निकल पा रहा है। पानी हाईवे पर ही भर रहा है। शुक्रवार रात और शनिवार को दिन में हुई बारिश में यहां घुटनों तक पानी भर गया। टेंटों में रखे बिस्तर, राशन आदि भीग गए। यह सबकुछ प्रदर्शनकारियों की स्वयं की गलती से हुआ। प्रदर्शनकारी अगर हाईवे की जलनिकासी की व्यवस्था नहीं बिगाड़ते तो पानी बह जाता। जलभराव की स्थिति नहीं बनती। राकेश टिकैट ने जताया विरोध शनिवार को धरना स्थल पर घुटनों तक पानी भर गया तो राकेश टिकैत कुछ प्रदर्शनकारियों के साथ बैरिकेड के पास पहुंचे। यहां पानी में बैठकर विरोध जताया। कहा कि दिल्ली की तरफ जाने वाली नाले की सफाई की मांग की गई लेकिन सुनवाई नहीं हुई। इस कारण जलभराव हुआ। उनकी वह फोटो इंटरनेट मीडिया पर जमकर वायरल हुई। चंदन नामक व्यक्ति ने उनकी फोटो वायरल करते हुए लिखा कि '' टिकैत साहब जलमग्न हो गए ''। इस तरह अन्य लोगों ने भी तंज कसते हुए टिप्पणियां की हैं।

Top News