taaja khabar....टीकाकरण को गति देने के लिए केंद्र देगा विदेशी कोविड वैक्सीन को झटपट अनुमति, प्रकिया होगी तेज...दार्जिलिंग में बोले शाह- दीदी ने भाजपा-गोरखा एकता तोड़ने का प्रयास किया, देना है मुंहतोड़ जवाब...और मजबूत हुई भारतीय वायुसेना, 6 टन के लाइट बुलेट प्रूफ वाहनों को एयरबेस में किया गया शामिल...इस साल मानसून में सामान्य से बेहतर होगी बारिश, स्काइमेट वेदर का पूर्वानुमान....सुशील चंद्रा ने देश के मुख्य चुनाव आयुक्त का पदभार संभाला...प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बैसाखी त्योहार पर कड़ी मेहनत करने वालों किसानों की तारीफ की...Sputnik V को मंजूरी के बाद अब जल्द मिलेगी डोज, भारत में एक साल में बनेगी 85 करोड़ खुराक....'टीका उत्सव' के तीसरे दिन दी गईं 40 लाख से ज्यादा डोज, अब तक 10.85 करोड़ लोगों को लगी वैक्सीन....शरीर में नई जगह छिपकर बैठ रहा कोरोना, अब RT-PCR टेस्ट से भी नहीं हो रहा डिटेक्ट...

असम दौरे को बीच में छोड़ दिल्ली लौट रहे अमित शाह, कहा- खूनखराबा बर्दाश्त नहीं,जवाब देंगे

नयी दिल्ली केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह नक्सलियों ( Amit Shah On Bijapur Naxal Attack) के साथ मुठभेड़ में 24 जवानों के शहीद होने के मद्देनजर रविवार को असम में चुनाव प्रचार के लिए अपना दौरा बीच में ही रोककर दिल्ली लौट रहे हैं। अमित शाह ने सभी शहीदों को श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि शहीदों ने जो देश के लिए अपने प्राण गंवाए हैं वो व्यर्थ नहीं जाएगा। ये खून खराबा बिल्कुल बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। समय आने पर उचित जवाब दिया जाएगा। गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि शाह राष्ट्रीय राजधानी लौट रहे हैं और छत्तीसगढ़ में स्थिति की समीक्षा करने के लिए मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ एक बैठक कर सकते हैं। रक्तपात बर्दाश्त नहीं होगा, जवाब देंगे- शाह अमित शाह ने सुलालकुची में कहा कि नक्सली हमलों में सुरक्षाकर्मियों की जान जाने जैसी घटना को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा, उचित समय पर मुंहतोड़ जवाब दिया जाएगा। छत्तीसगढ़ में नक्सल हमलों में हताहत हुए लोगों का पता लगाया जाना अभी बाकी है, तलाश अभियान जारी है। शाह ने कहा, ‘जहां तक संख्या का सवाल है, तो दोनों ओर नुकसान हुआ है और हताहत होने वालों की सटीक संख्या तुरंत पता नहीं लग सकती है।’ गृह मंत्री स्थिति का जायजा लेने के लिए हवाई मार्ग से वापस दिल्ली लौट रहे हैं। उन्होंने कहा, ‘हमारे सुरक्षाकर्मियों ने अपनी जान गंवायी है, हम इस रक्तपात को बर्दाश्त नहीं करेंगे और उचित समय पर यथोचित जवाब दिया जाएगा।’ दो सभाएं रद्द कीं एक अधिकारी ने कहा कि शाह ने सरभोग में सभा को संबोधित किया लेकिन बाकी दो स्थानों पर अपनी सभाओं को रद्द कर दिया और दिल्ली लौट रहे हैं। छत्तीसगढ़ में बीजापुर और सुकमा जिलों की सीमा के साथ लगते जंगल में नक्सलियों के साथ मुठभेड़ में शनिवार को पांच सुरक्षाकर्मियों की मौत हो गई और 30 अन्य घायल हो गए थे। शाह बनाएं हुए हैं पैनी नजर पुलिस ने बताया कि मुठभेड़ के बाद लापता हुए 18 जवानों में से 17 के पार्थिव शरीर रविवार को मिले, जिससे इस मुठभेड़ में शहीद हुए जवानों की संख्या बढ़कर 22 हो गई। गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने पहले कहा था कि शाह ने छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से बात की और मुठभेड़ के बाद उत्पन्न स्थिति का जायजा लिया। असम में करनी थी कई रैलियां गृहमंत्री असम के एक दिवसीय दौरे पर थे और उन्हें भाजपा और उसके सहयोगी दलों के उम्मीदवारों के लिए सरभोग, भवानीपुर और जलुकबाड़ी निर्वाचन क्षेत्रों में तीन चुनावी सभाओं को संबोधित करना था। असम में तीसरे और अंतिम चरण का मतदान छह अप्रैल को है। राज्य में पहले दो चरण का मतदान 27 मार्च और एक अप्रैल को हो चुका है।

Top News