taaja khabar....टीकाकरण को गति देने के लिए केंद्र देगा विदेशी कोविड वैक्सीन को झटपट अनुमति, प्रकिया होगी तेज...दार्जिलिंग में बोले शाह- दीदी ने भाजपा-गोरखा एकता तोड़ने का प्रयास किया, देना है मुंहतोड़ जवाब...और मजबूत हुई भारतीय वायुसेना, 6 टन के लाइट बुलेट प्रूफ वाहनों को एयरबेस में किया गया शामिल...इस साल मानसून में सामान्य से बेहतर होगी बारिश, स्काइमेट वेदर का पूर्वानुमान....सुशील चंद्रा ने देश के मुख्य चुनाव आयुक्त का पदभार संभाला...प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बैसाखी त्योहार पर कड़ी मेहनत करने वालों किसानों की तारीफ की...Sputnik V को मंजूरी के बाद अब जल्द मिलेगी डोज, भारत में एक साल में बनेगी 85 करोड़ खुराक....'टीका उत्सव' के तीसरे दिन दी गईं 40 लाख से ज्यादा डोज, अब तक 10.85 करोड़ लोगों को लगी वैक्सीन....शरीर में नई जगह छिपकर बैठ रहा कोरोना, अब RT-PCR टेस्ट से भी नहीं हो रहा डिटेक्ट...

हावड़ा में ममता बनर्जी के रोडशो में गुस्सैल सांड ने मचाया हुड़दंग, बाल-बाल बचीं मुख्यमंत्री

कोलकाता पश्चिम बंगाल के हावड़ा में टीएमसी चीफ ममता बनर्जी की रोडशो में एक सांड ने अफरा-तफरी मचा दी। घटना में मुख्यमंत्री बाल-बाल बच गईं। जानकारी के मुताबिक, ममता बनर्जी शनिवार को हावड़ा उत्तर, हावड़ा मध्य और शिबपुर विधानसभा क्षेत्रों के तृणमूल उम्मीदवारों के समर्थन में रोड शो कर रही थीं। बनर्जी रैली के दौरान वीलचेयर पर हावड़ा काजीपारा से सममिलानी पार्क तक लगभग 4 किलोमीटर की दूरी तय कर रही थीं। मुख्यमंत्री इस प्रकार के रोड शो के दौरान पैदल चलना पसंद करती हैं, लेकिन नंदीग्राम दुर्घटना के बाद उन्हें वीलचेयर पर रैलियों में भाग लेना पड़ता है। तृणमूल समर्थकों, स्थानीय नेताओं और उम्मीदवारों से भरी विशाल रैली फिनिशिंग पॉइंट से लगभग 200 मीटर की दूरी पर थी, तभी रैली में एक गस्सैल सांड घुस गया और मुख्यमंत्री की सुरक्षा पर खतरा मंडराने लगा। अधिकारी ने बताया, क्या था वाकया? एक वरिष्ठ सुरक्षा अधिकारी ने कहा, 'सांड 100 मीटर की सुरक्षा रिंग के ठीक बाहर था और मुख्यमंत्री के निजी सुरक्षा गार्डों द्वारा बनाए गए सुरक्षा घेरा में प्रवेश करने की कोशिश करने लगा। जैसे ही उन्होंने मुख्यमंत्री की सुरक्षा को सुनिश्चित करते हुए सांड को वहां से भगाने का प्रयास किया, गुस्साए सांड ने लोगों का पीछा करना शुरू कर दिया। हालांकि शुरुआत में ऐसा लगा था कि सांड सड़क पार करने की कोशिश कर रहा है, लेकिन इतने सारे लोगों की उपस्थिति ने इसे भ्रमित कर दिया और इससे अराजक स्थिति पैदा हो गई। अंत में, तृणमूल नेता रैली से सांड को बाहर करने में सफल हुए। हालांकि यह अफरातफरी एक मिनट से भी कम समय तक रही, लेकिन इसने फिर से मुख्यमंत्री की सुरक्षा व्यवस्था पर सवाल खड़े कर दिए।

Top News