taaja khabar....राफेल डील पर नई रिपोर्ट का दावा, नियमों के तहत रिलायंस को मिला ठेका.....सीबीआई को पहली कामयाबी, भारत लाया गया विदेश भागा भगोड़ा मोहम्मद याह्या.....राजस्थान विधानसभा चुनाव की बाजी पलट कर लोकसभा के लिए बढ़त की तैयारी में BJP.......GST के बाद एक और बड़े सुधार की ओर सरकार, पूरे देश में समान स्टैंप ड्यूटी के लिए बदलेगी कानून....UNHRC में भारत की बड़ी जीत, सुषमा स्वराज ने जताई खुशी....PM मोदी के लिखे गाने पर दृष्टिबाधित लड़कियों ने किया गरबा.....मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव: कांग्रेस के साथ नहीं एसपी-बीएसपी, बीजेपी को हो सकता है फायदा....गुरुग्रामः जज की सुरक्षा में तैनात पुलिसकर्मी ने उनकी पत्नी, बेटे को बीच सड़क गोली मारी, अरेस्ट....बेंगलुरु में HAL कर्मचारियों से मिले राहुल गांधी, बोले- राफेल आपका अधिकार....कैलाश गहलोत के घर से टैक्स चोरी के सबूत मिलेः आईटी विभाग.....मेरे लिए पाकिस्तान की यात्रा दक्षिण भारत की यात्रा से बेहतर: सिद्धू....घायल रहते 2 उग्रावादियों को किया ढेर, शहादत के बाद इंस्पेक्टर को मिलेगा कीर्ति चक्र....छत्तीसगढ़: कांग्रेस को तगड़ा झटका, रामदयाल उइके BJP में शामिल....
औद्योगिक उत्पादन में ग्रोथ जून में 4 महीने के उच्चतम स्तर पर, 7 पर्सेंट की दर से इजाफा
नई दिल्ली देश की औद्योगिक उत्पादन दर में जून में 7 फीसदी से अधिक का इजाफा हुआ है। मैन्युफैक्चरिंग ऐंड कैपिटल गुड्स सेक्टर में मजबूत ग्रोथ के चलते आंकड़ों में यह सुधार देखने को मिला है। बीते 4 महीनों के मुकाबले जून में हुई यह ग्रोथ सबसे अधिक है। मई में इंडस्ट्रियल ग्रोथ का आंकड़ा 3.9 फीसदी ही था और इस कमजोरी की वजह मैन्युफैक्चरिंग और पावर सेक्टर में गिरावट थी। इंडस्ट्रियल प्रॉडक्शन के कुल इंडेक्स की बात करें तो मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर का योगदान करीब 77.63 फीसदी था। कोर सेक्टर इंडस्ट्रीज ने मजबूत ग्रोथ दिखाई है, जिसके चलते जून में ग्रोथ का आंकड़ा 7 फीसदी तक पहुंच सका है। आईसीआरए में मुख्य अर्थशास्त्री अदिति नायर ने इसे लेकर कहा था, 'ऑटोमोबाइल प्रॉडक्शन, नॉन-ऑइल मर्चेंडाइज एक्सपोर्ट्स में ग्रोथ के चलते औद्योगिक उत्पादन में इजाफे की दर 6 फीसदी तक हो सकती है। इसमें भी मैन्युफैक्चरिंग और इलेक्ट्रिसिटी सेक्टर का योगदान अधिक हो सकता है।' उनकी यह भविष्यवाणी काफी हद तक सही साबित हुई है। जून में मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर की ग्रोथ 6.9 पर्सेंट रही है, जबकि मई में यह आंकड़ा 2.8 फीसदी था। इलेक्ट्रिसिटी प्रॉडक्शन में ग्रोथ 8.5 पर्सेंट रहा, जबकि मई में यह आंकड़ा 4.2 फीसदी का ही था। कैपिटल गुड्स सेक्टर की ग्रोथ 9.6 फीसदी रही है। कन्जयूमर ड्यूरेबल्स की ग्रोथ जून महीने में 13.1 फीसदी रही है, जबकि मई में यह 4.3 फीसदी थी।

Top News

http://www.hitwebcounter.com/