taaja khabar....अब शिकंजे में आएगा भगोड़ा मेहुल चोकसी! रेड कॉर्नर नोटिस जारी.....राफेल-राम मंदिर पर लोकसभा में भारी हंगामा, राज्यसभा की कार्यवाही भी स्थगित...कांग्रेस नेता कर्ण सिंह का योगी को पत्र, 'अयोध्या में राम की मूर्ति का साइज कम कर सीता की भी लगाएं मूर्ति'....राजस्थान, मध्य प्रदेश में कांग्रेस सीएम के नाम पर घमासान, उलझा पेच, बैठकों का दौर...केंद्र में नहीं जाऊंगा, एमपी में जिऊंगा, एमपी में ही मरूंगा: शिवराज सिंह चौहान...तीन राज्यों में सीएम के नाम के ऐलान से पहले कांग्रेस समर्थकों में मची होड़, सचिन पायलट के समर्थकों ने किया सड़क जाम...राजस्‍थान: सीएम रेस में अशोक गहलोत आगे, पायलट समर्थक भी झुकने को तैयार नहीं...
मोदी सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव को समर्थन देने पर आरजेडी में कंफ्यूजन
पटना,संसद में शुक्रवार को नरेंद्र मोदी सरकार के खिलाफ विपक्ष के द्वारा लाया गया अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा और वोटिंग होनी है. एक तरफ जहां तेलुगू देशम पार्टी (टीडीपी) द्वारा लाए गए अविश्वास प्रस्ताव को कई विपक्षी दलों का समर्थन मिला है वहीं आरजेडी में इस बात को लेकर कंफ्यूजन है कि वह अविश्वास प्रस्ताव के समर्थन में वोट करे या फिर वोटिंग के दौरान सदन से गैरहाजिर रहे? आरजेडी के इसी कन्फ्यूजन से विपक्षी एकता पर भी सवाल खड़े हो गए हैं. आजतक से खास बातचीत में आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने कहा कि अभी पार्टी ने विपक्ष के अविश्वास प्रस्ताव को समर्थन देने को लेकर कोई फैसला नहीं किया है. तेजस्वी ने कहा कि इस पूरे मुद्दे को लेकर वह अन्य विपक्षी पार्टियों से बात करेंगे और शुक्रवार तक ही कोई फैसला लेंगे. केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए तेजस्वी यादव ने कहा कि पिछले 4 वर्षों में विकास के कोई भी काम नहीं हुआ और अच्छे दिनों का वादा केवल सपना बनकर रह गया है. तेजस्वी ने कहा कि आज देश में किसान मर रहा है, मजदूर के पास काम नहीं है, युवाओं में बेरोजगारी बढ़ती जा रही है, सभी महत्वपूर्ण संस्थानों में RSS के लोग काबिज है. तेजस्वी ने आरोप लगाया कि नरेंद्र मोदी सरकार पूरी तरीके से निजी करण की तरफ बढ़ रही है. लाल किले के रख-रखाव को निजी हाथों में देना और एयर इंडिया को बेचना इस बात को बल देता है. तेजस्वी ने दावा किया कि 2019 में लोकसभा चुनाव में नरेंद्र मोदी की सरकार वापस किसी भी कीमत पर नहीं आएगी. यह पूछे जाने पर कि यूपीए की चेयरपर्सन सोनिया गांधी ने दावा किया है कि विपक्षी दलों के पास सरकार गिराने के लिए संख्या है, इस पर तेजस्वी यादव ने इशारों-इशारों में कहा कि यह संभव है. पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपाई सरकार का जिक्र करते हुए तेजस्वी ने कहा कि 90 के दशक में उन्होंने भी दावा किया था कि एनडीए के पास संख्या बल मौजूद है, इसके बावजूद उनकी सरकार 1 वोट से गिर गई थी.

Top News

http://www.hitwebcounter.com/