taaja khabar.....मन की बात में जीएसटी और श्यामा प्रसाद मुखर्जी पर बोले पीएम नरेंद्र मोदी.......J&K: कुलगाम में सुरक्षा बलों और आतंकियों में मुठभेड़, लश्कर कमांडर समेत 2 आतंकी ढेर...घाटी में 250-275 आतंकी सक्रिय, फिलहाल माहौल बेहतर: लेफ्टिनेंट जनरल ऐके भट्ट....जम्मू-कश्मीर पुलिस की कमान संभालेंगे एसएम सहाय? बन सकते हैं नए डीजीपी....पीएम मोदी ने किया मुंडका-बहादुरगढ़ ग्रीन लाइन मेट्रो सेवा का उद्घाटन....मिशन 2019: TMC को शिकस्त देने के लिए बंगाल BJP का ब्लूप्रिंट तैयार...अगले लोकसभा चुनाव तक हर वोटर 'पुलिस' का काम करेगा: मुख्य चुनाव आयुक्त....पेंशन बढ़ाकर दूर होगी ब्याज कटौती की नाराजगी...'स्पेशल चिप' लगाकर ट्रैक किए जाएंगे अमरनाथ यात्रियों के वाहन, ड्रोन से भी होगी निगरानी....कश्मीर में ISIS के टेलीग्राम ग्रुप का खुलासा, 'लोन वुल्फ' अटैक का बढ़ा खतरा...
पत्रकार का दावा, अखिलेश के बंगले में लगा था 21 करोड़ का फर्नीचर, सपा बोली-बिल दिखाओ
नई दिल्ली, पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के सरकारी बंगला खाली करने के दौरान बंगले में तोड़फोड़ का विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा. वरिष्ठ पत्रकार शरत प्रधान का कहना है कि उनके बंगले में अकेले 21 करोड़ का फर्नीचर लगा हुआ था जिसे वो उठा ले गए. सपा का कहना है कि आरोप लगाने की जगह बिल दिखाया जाए. आजतक पर बुधवार को प्रसारित हुए 'दंगल' कार्यक्रम में बहस के दौरान वरिष्ठ पत्रकार शरत प्रधान ने कहा कि यह फैक्ट है कि उस बंगले में जिस कदर पैसा खर्च किया गया, उस पर अखिलेश यादव को बहुत बुरा लगता था जब कोई इस बंगले के बारे में सवाल पूछता था. शरत ने कहा, 'मैंने 22 फरवरी को व्यक्तिगत तौर उनसे सवाल किया था कि आप मायावती पर आरोप लगाते रहे हो कि उन्होंने 13 ए, माल एवेन्यू रोड पर स्थित अपने बंगले पर 100 करोड़ खर्च कर दिया और आप खुद इस बंगले पर 60-70 करोड़ खर्च कर दिए, इस पर अखिलेश ने कई अन्य लोगों की मौजूदगी में जवाब दिया कि 100 करोड़ नहीं हजार करोड़ खर्च किया है बंगले में, अब तक हम हट गए हैं जो करना है कर लो.' ' 21 करोड़ रुपये का फर्नीचर' शरत ने कहा कि उस बंगले में संपति विभाग ने 42 करोड़ खर्च किए थे, साथ ही अन्य विभागों ने भी पैसा लगाया. उसमें जो फर्नीचर लगा था और जो फर्निशिंग हुई थी, अकेले उसकी ही बिलिंग 21 करोड़ की थी जो एक सरकारी विभाग ने खर्च किया, उसे भी वो साथ उठाकर ले गए. शरत के आरोप पर समाजवादी पार्टी की प्रवक्ता सपा की जूही सिंह ने कहा कि यह आरोप साबित करना होगा कि कौन से विभाग ने इसका भुगतान किया. इस पर शरत ने कहा कि बिल को उन्होंने अपनी आंखों से देखा है. कार्यक्रम में जूही सिंह बार-बार यह कहती रहीं कि विभाग के नाम का खुलासा करें कि कौन से विभाग ने यह भुगतान किया. आपको साबित करना होगा. साथ ही जूही सिंह ने पत्रकार के आरोप पर पलटवार करते हुए कहा कि उन्हें आरोप में बिल भी दिखाना चाहिए. महज आरोप लगाना सही नहीं है. राज्यपाल पर भड़ास इससे पहले, पूरे प्रकरण पर पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव बुधवार को आक्रामक अंदाज में नजर आए. वह अपनी प्रेस कॉन्फ्रेंस में योगी सरकार, राज्यपाल राम नाईक और अन्य अधिकारियों पर बरसे. उन्होंने सबसे पहले राज्यपाल पर अपनी भड़ास निकालते हुए कहा, 'गवर्नर साहब अच्छे आदमी हैं. उन्हें संविधान के हिसाब से बोलना चाहिए, लेकिन कभी-कभी उनके अंदर आरएसएस की आत्मा आ जाती है तो क्या करें.' उनका यह बयान बंगले में तोड़फोड़ मामले पर राज्यपाल की ओर से कार्रवाई करने के लिए योगी सरकार से सिफारिश करने के बाद आया है.

Top News

http://www.hitwebcounter.com/