taaja khabar....भारत ने पाकिस्तान को दिखाया 'ठेंगा', नहीं भेजा सीमा शुल्क मीटिंग का न्यौता...यूपीः 69,000 सहायक शिक्षकों की भर्ती परीक्षा 6 जनवरी को....पंजाब: कैप्टन बयान पर नवजोत सिंह सिद्धू की बढ़ीं मुश्किलें, 18 मंत्रियों ने खोला मोर्चा...साबुन-मेवे की दुकान में मिले सीक्रेट लॉकर, 25 करोड़ कैश बरामद....J-K: शोपियां में सुरक्षा बलों ने 3 आतंकियों को घेरा, मुठभेड़ जारी...
कठुआ रेप और मर्डर: केस ट्रांसफर को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने जम्मू-कश्मीर सरकार से 27 अप्रैल तक मांगा जवाब
नई दिल्ली कठुआ में 8 साल की बच्ची के रेप और मर्डर केस को राज्य से बाहर चंडीगढ़ की कोर्ट में ट्रांसफर करने की मांग वाली याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने जम्मू और कश्मीर सरकार से जवाब मांगा है। कोर्ट ने राज्य सरकार से 27 अप्रैल तक अपना जवाब देने का आदेश दिया है। सुप्रीम कोर्ट ने राज्य सरकार से पीड़ित परिवार और उनके वकील को भी सुरक्षा देने को कहा है। सुप्रीम कोर्ट ने यह निर्देश सोमवार को मृत बच्ची के पिता की याचिका पर दिया। पिता ने अपने परिवार और वकीलों को सुरक्षा देने की मांग की थी। इसके अलावा उन्होंने कोर्ट से उस जूवेनाइल होम की सुरक्षा बढ़ाने का निर्देश देने की मांग की है, जहां 8 आरोपियों में एक नाबालिग आरोपी को रखा गया है। बच्ची के पिता की वकील दीपिका एस. रजावत ने बताया, 'सुप्रीम कोर्ट ने हमें (पीड़ित परिवार और उनके वकील) सुरक्षा प्रदान करने के लिए अधिकारियों को निर्देश दिया है।' इससे पहले रजावत ने खुद को मिल रही धमकियों का हवाला देते हुए आशंका जताई थी कि उनके साथ कुछ भी हो सकता है, उनका रेप हो सकता है या उनकी हत्या की जा सकती है। इस बीच कठुआ डिस्ट्रिक्ट कोर्ट ने सोमवार को मामले की सुनवाई 28 अप्रैल तक के लिए स्थगित कर दी। कोर्ट में सभी आरोपियों को लाया गया था। बता दें कि इस साल जनवरी में कठुआ जिले में 8 साल की बच्ची को कथित तौर पर गांव के एक छोटे से मंदिर में एक हफ्ते तक बंधक बनाकर रखा गया था। उस दौरान कथित तौर पर बच्ची को नशीली दवाएं दी जाती रहीं और हत्या से पहले कई बार उसका यौन शोषण किया गया।

Top News

http://www.hitwebcounter.com/