प्रणब मुखर्जी ने की चुनाव आयोग की तारीफ, राहुल ने कहा था- आत्मसमर्पण कर दिया

नई दिल्ली, 21 मई 2019,लोकसभा चुनाव परिणाम आने में अभी दो दिन का वक्त है, लेकिन एग्जिट पोल से ही विपक्ष के खेमे में खलबली मची हुई है. सोमवार से ही चुनाव आयोग की भूमिका पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी समेत विपक्ष ने सवाल उठाने शुरू कर दिए हैं. इस बीच पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी चुनाव आयोग की तारीफ की है. सोमवार को मीडिया से बात करते हुए प्रणब मुखर्जी ने कहा कि यदि हम संस्थानों को मजबूत करना चाहते हैं तो हमें ध्यान में रखना चाहिए कि ये संस्थान देश की अच्छी तरह से सेवा कर रहे हैं. अगर लोकतंत्र सफल साबित हो रहा है तो इसके लिए चुनाव आयोग को काफी हद तक जिम्मेदार माना जाना चाहिए. सुकुमार सेन से लेकर मौजूदा चुनाव आयुक्तों ने इसके लिए बहुत काम किया है. चुनाव आयोग को लेकर राहुल ने उठाए थे सवाल कुछ दिन पहले राहुल गांधी ने चुनाव आयोग की विश्वसनीयता पर सवाल उठाया था. उन्होंने कहा था, 'इलेक्टोरल बॉन्ड, ईवीएम से लेकर चुनाव कार्यक्रम से छेड़छाड़, नमो टीवी, 'मोदी की सेना' बयान के बाद अब यह केदारनाथ में ड्रामा. चुनाव आयोग का मिस्टर मोदी और उनके गिरोह के सामने आत्मसमर्पण सब भारतीयों ने देखा है.' राहुल ने ट्विटर पर लिखा था, 'चुनाव आयोग का काम सिर्फ डरना और आदर करना है और कुछ नहीं.' वीवीपैट का ईवीएम से मिलान कराने की मांग लोकसभा चुनाव परिणाम आने में अभी दो दिन का वक्त है, लेकिन एग्जिट पोल से ही विपक्ष के खेमे में खलबली मची हुई है. इसी कड़ी में टीडीपी चीफ चंद्रबाबू नायडू आज चुनाव आयोग का दरवाजा खटखटाएंगे. शाम तीन बजे चंद्रबाबू नायडू 21 विपक्षी दलों के साथ चुनाव आयुक्त से मुलाकात करेंगे और अपनी मांग रखेंगे. चंद्रबाबू की मांग है कि 50 फीसदी वीवीपैट का ईवीएम से मिलान किया जाए.

Top News