taaja khabar....संघ प्रमुख मोहन भागवत ने कहा- नागपुर से नहीं चलती सरकार, कभी नहीं जाता फोन...जॉब रैकिट का पर्दाफाश, कृषि भवन में कराते थे फर्जी इंटरव्यू...हिज्बुल का कश्मीरियों को फरमान, सरकारी नौकरी छोड़ो या मरो...एमपी, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में भी बीएसपी को चाहिए ज्यादा सीटें...अगस्ता डील के बिचौलिए क्रिश्चियन मिशेल का दुबई से जल्द हो सकता है प्रत्यर्पण....PM मोदी की पढ़ाई पर सवाल उठाकर फंसीं कांग्रेस की सोशल मीडिया हेड स्पंदना, हुईं ट्रोल...
राज ठाकरे को दिए इंटरव्यू में बोले शरद पवार, 'आर्थिक आधार पर होना चाहिए आरक्षण'
पुणे नैशनलिस्ट कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) अध्यक्ष शरद पवार ने महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (एमएनएस) के प्रमुख राज ठाकरे को दिए पब्लिक इंटरव्यू पर आरक्षण मुद्दे पर बड़ी बात कही है। शरद पवार का कहना है कि आरक्षण आर्थिक आधार पर दिया जाना चाहिए। बता दें कि महाराष्ट्र में मराठा समुदाय के लोग भी नौकरी और शिक्षा में आरक्षण को लेकर काफी समय से मांग कर रहे हैं, जो पवार का वोट बैंक भी है। पिछले साल अगस्त महीने में इसको लेकर विशाल मूक मोर्चा आंदोलन निकाला गया था। पुणे में आयोजित एक कार्यक्रम में शरद पवार ने राज ठाकरे को दिए इंटरव्यू में कहा, 'आरक्षण का मुद्दा काफी संवेदनशील है। दलित और आदिवासियों को आरक्षण मिलना चाहिए। इसमें कोई दो राय नहीं लेकिन अलग-अलग जाति के लोग कई जगहों पर आरक्षण के लिए रैलियां निकाल रहे हैं। मेरा साफ कहना है कि आरक्षण जाति के आधार पर नहीं बल्कि आर्थिक रूप से पिछड़े लोगों को मिलना चाहिए। चाहे वह किसी भी जाति का हो।' कांग्रेस के आने वाले हैं 'अच्छे दिन' दो घंटे के इस पब्लिक इंटरव्यू में शरद पवार ने यह भी कहा कि कांग्रेस में देश को बीजेपी का विकल्प उपलब्ध कराने की क्षमता है। उन्होंने पीएम मोदी के अच्छे दिन वाले स्लोगन पर खेलते हुए कहा कि कांग्रेस के 'अच्छे दिन' आने वाले हैं क्योंकि पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी राष्ट्र के सामने आने वाले मुद्दों को सीखने और समझने में अपना झुकाव दिखा रहे हैं। वह इसके लिए देश के कोने-कोने में जाने को तैयार दिखते हैं। 'पीएम मोदी सब कुछ खुद ही करना चाहते हैं' वहीं पीएम मोदी के सवाल पर शरद पवार ने कहा, 'वह एक मेहनती व्यक्ति हैं और वह गुजरात के मुख्यमंत्री के रूप में वहां के मुद्दे समझने में सफल रहे हैं।' साथ ही शरद पवार ने यह भी कहा कि जब आप प्रधानमंत्री के रूप में पूरे देश को चला रहे हों तो आपको देश के अलग-अलग हिस्सों की समस्याएं समझने के लिए एक टीम के साथ काम करने की जरूरत है। मुझे नहीं लगता कि उनके पास ऐसी कोई टीम है। वह स्वयं ही सब कुछ करना चाहते हैं। यह देश के लिए सही नहीं है। 'आप और मैं मुंबई को महाराष्ट्र से अलग नहीं होने देंगे' वहीं बुलेट ट्रेन प्रॉजेक्ट के सवाल पर शरद पवार ने कहा, 'मैं बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट का विरोध नहीं कर रहा हूं लेकिन यह मुंबई और दिल्ली के बीच दौड़नी चाहिए या फिर मुंबई और नागपुर के बीच। कोई बुलेट ट्रेन से मुंबई से अहमदाबाद के बीच यात्रा नहीं करेगा।' इसके बाद राज ठाकरे के बुलेट ट्रेन या ऐसी कई परियोजनाएं गुजराती बिजनसमैन और राजनेताओं की मुंबई में 'भेदने' की कोशिश के सवाल पर पवार ने कहा, 'हां, बिल्कुल मुंबई को कंट्रोल में लेने की कोशिश की जाएगी क्योंकि यह आर्थिक केंद्र है लेकिन इस तरह के प्रयास सफल नहीं होंगे। दोनों, आप और मैं महाराष्ट्र से मुंबई को अलग नहीं होने देंगे।' वहीं कांग्रेस से नाता तोड़ चुके शरद पवार ने बीजेपी और कांग्रेस में से कांग्रेस को गठबंधन के लिए चुना। बता दें कि पवार का राज ठाकरे के प्रति लगाव देखकर एमएनएस नेता भी हैरान हैं। कुछ साल पहले तक पवार, राज ठाकरे पर कई बार सार्वजनिक रूप से प्रहार करते रहे हैं। उन्होंने एक बार राज ठाकरे के लिए कहा था, 'जो लोग दिन में सोकर उठते हैं कभी अच्छे नेता नहीं बन सकते।' एक वरिष्ठ एमएनएस कार्यकर्ता ने कहा, '2006 से करीब 11 साल बाद एक बार पवार साहेब राज साहेब के साथ सार्वजनिक रूप से मंझ साझा करेंगे। जरूर पवार साहेब के मन में कुछ बात है।'

Top News

http://www.hitwebcounter.com/