taaja khabar....PNB ने अन्य बैंकों को चिट्ठी लिख किया सचेत, 10 अधिकारी निलंबित.....PNB केस की INSIDE स्टोरी: 7 साल पहले हुआ था फ्रॉड, सरकार की सख्ती से खुलासा....बिहार के आरा में आतंकियों के कमरे में धमाका, बड़ी साजिश नाकाम, 4 फरार.....तीन दिन में तीन यात्राएं, चुनावी मोड में बीजेपी, निशाना 2019 पर...मोदी केयर' पर केंद्र ने राज्यों की बुलाई बैठक, ममता पहले ही झाड़ चुकी हैं पल्ला....
श्रीनगर: मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने मार गिराए 2 आतंकी, सुंजवान में छठे जवान का शव मिला
श्रीनगर सुरक्षा बलों ने श्रीनगर में करन नगर इलाके की एक इमारत में छिपे आतंकवादियों पर अंतिम प्रहार करते हुए दो को मार गिराया है। सुरक्षाबलों का मानना है कि निर्माणाधीन इमारत में कुछ और आतंकवादी छिपे हो सकते हैं। ऐसे में अभियान अभी जारी रखा गया है। श्रीनगर में सीआरपीएफ के एक कैंप पर सोमवार को हमले की कोशिश की गई थी, जिसके बाद से आतंकवादियों और सुरक्षा बलों के बीच मुठभेड़ जारी है। रात भर शांति के बाद यह मुठभेड़ मंगलवार सुबह फिर शुरू हुई। कश्मीर के पुलिस महानिरीक्षक एसपी पाणि ने दो आतंकियों के मारे जाने की पुष्टि की है। प्रेस से बात करते हुए उन्होंने कहा कि हमले को अंजाम लश्कर-ए-तैयबा ने दिया। मारे गए आतंकियों के पास से हथियार बरामद किए गए हैं। उन्होंने एक सीआरपीएफ जवान के घायल होने के बारे में भी जानकारी दी। उन्होंने बताया कि जवान की हालत अब खतरे से बाहर है। इससे पहले उन्होंने बताया था कि आतंकवादियों के सफाए का अभियान अंतिम चरण में है और जल्द ही इसके खत्म होने की संभावना है। इस बीच आतंकियों से जूझ रहे जवानों पर पत्थर बरसाए जाने की भी खबरें आ रही हैं। रिपोर्ट्स के अनुसार पत्थरबाजों ने भारी पत्थरबाजी शुरू कर दी है। सीआरपीएफ के आईजी ऑपरेशन जुल्फिकार हसन ने एनकाउंटर जारी रहने की पुष्टि की है। उन्होंने कहा है कि एनकाउंटर में इस बात का ख्याल रखना पड़ रहा है कि नागरिकों और संपत्ति को नुकसान न पहुंचे। करण नगर में फिलहाल दोनों ओर से रह-रहकर फायरिंग हो रही है। सीआरपीएफ जवानों ने बिल्डिंग को घेरा हुआ है। आतंकियों के साथ मुठभेड़ में सीआरपीएफ का एक जवान भी शहीद हुआ है। एनकाउंटर के विडियो में गोलियों और इमारत में धमाके की आवाजें सुनाई दे रही हैं। कैसे क्या हुआ सोमवार तड़के करीब साढ़े चार बजे केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के 23 बटालियन मुख्यालय में एक संतरी ने पीठ पर बैग लटकाए और एके-47 रायफल से लैस दो आतंकियों को देखा। उसने दोनों पर गोलियां चलाईं, जिसके बाद आतंकी पास के एक इलाके की तरफ भाग गए। इसके बाद तलाशी अभियान चलाया गया। गोल मार्केट के पास तलाशी दल पर गोलियां चलाई गईं, जिसके बाद मुठभेड़ शुरू हो गई। आतंकी भागकर सीआरपीएफ मुख्यालय के पास के एक खाली मकान में छिप गए। संतरी की सतर्कता से बच गया बड़ा हमला बताया जा रहा है कि श्रीनगर में भी आतंकी सुंजवान जैसे हमले की फिराक में थे। इस हमले से सेना को और नुकसान हो सकता था, यदि संतरी रघुनाथ अपनी जान की परवाह ना करके आतंकियों से भिड़ न होते। सोमवार सुबह 4.30 बजे के करीब आतंकियों ने जैसे ही सीआरपीएफ कैंप पर हमला किया, सीआरपीएफ के संतरी रघुनाथ ने ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी। इससे आतंकियों को अपने पांव पीछे खींचने को मजबूर होना पड़ा। यहां तक कि इन आतंकियों को खुद अपनी जान बचाने के लिए पास के निर्माणाधीन इमारत में छुपना पड़ा।

Top News

http://www.hitwebcounter.com/