टीम इंडिया की भगवा जर्सी पर सियासत, सपा-कांग्रेस नेताओं ने किया विरोध

मुंबई, 26 जून 2019, भारतीय क्रिकेट टीम इंग्लैंड में चल रहे विश्व कप में अपना खेल दिखा रही है. सामान्य तौर पर भारतीय टीम की जर्सी का रंग नीला होता है लेकिन रिपोर्ट्स के मुताबिक इंग्लैंड के खिलाफ खेले जाने वाले मुकाबले में टीम इंडिया भगवा जर्सी में नजर आने वाली है. जिसका भारत में विरोध शुरू हो चुका है. क्रिकेट वर्ल्ड कप में टीम इंडिया की भगवा जर्सी पर राजनीति शुरू हो गई है. महाराष्ट्र के मुस्लिम विधायकों ने टीम इंडिया की भगवा रंग की जर्सी पर आपत्ति जताई है. टीम इंडिया के इंग्लैंड के खिलाफ मैच में भगवा जर्सी पहने जाने का कांग्रेस और समाजवादी पार्टी ने विरोध किया है. कांग्रेस नेता नसीम खान ने कहा, 'मोदी सरकार जब से आई है तब से भगवा राजनीति शुरू हो गई है. तिरंगे का सम्मान होना चाहिए लेकिन यह सरकार हर चीज के भगवाकरण की तरफ बढ़ रही है.' महाराष्ट्र कांग्रेस विधायक एमए खान ने कहा, 'ये सरकार हर चीज को अलग नजर से देखने और दिखाने की कोशिश पूरे देश में पिछले पांच साल से कर रही है. ये सरकार भगवाकरण की तरफ इस देश को ले जाने का काम कर रही है. महाराष्ट्र में समाजवादी पार्टी के नेता अबू आसिम आजमी ने कहा, 'प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पूरे देश को भगवा रंग में रंगना चाहते हैं. झंडे को रंग देने वाला मुस्लिम था. तिरंगे में और भी रंग हैं, सिर्फ भगवा ही क्यों? तिरंगे के रंग में उनकी जर्सी हो तो बेहतर होगा.' तृणमूल कांग्रेस के सांसद सौगत राय ने भारतीय क्रिकेट टीम की 'भगवा जर्सी' पर आपत्ति जताई है. उन्होंने कहा कि खेलों का भगवाकरण करना ठीक नहीं है. सौगत राय ने आजतक से बातचीत में कहा कि झारखंड में मॉब लिंचिंग की घटना गंभीर है. प्रधानमंत्री ने जिस तरीके से राज्यसभा में इस घटना के बारे में बोला है वह ठीक नहीं है. सौगत राय ने यह भी कहा कि हां यह ठीक है कि एनआरसी की बात असम समझौते में की गई थी, लेकिन जिस तरीके से इसे लागू किया जा रहा है वह गलत है. एनआरसी को अब पश्चिम बंगाल और पूर्वोत्तर के दूसरे राज्यों में लागू करने की बात कही जा रही है इसको हम नहीं होने देंगे. बीजेपी का समर्थन हालांकि दूसरी तरफ बीजेपी ने कहा है कि विपक्ष कभी भगवा आतंकी का मुद्दा उठाता है तो कभी भगवा रंग का मुद्दा उठाता है. बीजेपी नेता राम कदम ने कहा है कि भगवा रंग को लेकर विपक्ष को क्या आपत्ति है? कभी भगवा आतंकी का मुद्दा होता है तो कभी भगवा रंग का मुद्दा होता है. खेल से इसे दूर रखना चाहिए. समाजवादी पार्टी और कांग्रेस के पास कोई मुद्दा नहीं है, इसलिए यह रंगों की राजनीति कर रही है. भारतीय क्रिकेट टीम की जर्सी का रंग भगवा करने पर केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले ने कहा कि भगवा रंग तो बौद्ध धर्म के भिक्षुओं के कपड़ों का भी है. ये शौर्य और विजय का रंग भी है. इससे किसी को दिक्कत नहीं होनी चाहिए. बता दें कि विश्व कप में भारत और इंग्लैंड के बीच 30 जून को बर्मिंघम में मुकाबला खेला जाना है.

Top News