taaja khabar....अब शिकंजे में आएगा भगोड़ा मेहुल चोकसी! रेड कॉर्नर नोटिस जारी.....राफेल-राम मंदिर पर लोकसभा में भारी हंगामा, राज्यसभा की कार्यवाही भी स्थगित...कांग्रेस नेता कर्ण सिंह का योगी को पत्र, 'अयोध्या में राम की मूर्ति का साइज कम कर सीता की भी लगाएं मूर्ति'....राजस्थान, मध्य प्रदेश में कांग्रेस सीएम के नाम पर घमासान, उलझा पेच, बैठकों का दौर...केंद्र में नहीं जाऊंगा, एमपी में जिऊंगा, एमपी में ही मरूंगा: शिवराज सिंह चौहान...तीन राज्यों में सीएम के नाम के ऐलान से पहले कांग्रेस समर्थकों में मची होड़, सचिन पायलट के समर्थकों ने किया सड़क जाम...राजस्‍थान: सीएम रेस में अशोक गहलोत आगे, पायलट समर्थक भी झुकने को तैयार नहीं...
झारखंड के पूर्व उपमुख्यमंत्री के कत्ल की साजिश का खुलासा, ली गई 5 करोड़ की सुपारी
रांची, झारखंड के पूर्व उप मुख्यमंत्री और आजसू पार्टी के सुप्रीमो सुदेश कुमार महतो की हत्या की साजिश का खुलासा होने से हड़कंप मच गया है. झारखंड के नक्सली संगठन पीएलएफआई के कमांडर और हार्डकोर उग्रवादी जीदन गुड़िया ने उनकी हत्या की सुपारी ली है. पुलिस के मुताबिक जीदन को राज्य के एक नेता ने महतो की हत्या के लिए पांच करोड़ की सुपारी दी थी. पीएलएफआई के एक एरिया कमांडर देवसिंह मुंडा ने पुलिस की पूछताछ में ये सनसनीखेज खुलासा किया है. दो दिन पहले ही देवसिंह मुंडा को रांची पुलिस ने गिरफ्तार किया है. उसी ने पुलिस को बताया कि नक्सली संगठन पीएलएफआई के कमांडर और हार्डकोर उग्रवादी जीदन गुड़िया ने महतो का मर्डर करने के लिए 5 करोड़ रुपये की रकम ली है. दरअसल, एक नेता ने ही महतो को रास्ते से हटाने के लिए ये सुपारी दी है. महतो पर पहले भी दो बार हुआ हमला साल 2014 में दो बार सुदेश की हत्या का प्रयास किया गया था. 27 और 28 जनवरी 2014 को सिल्ली में आयोजित प्रतिभा दर्शन महोत्सव में सोनाहातु के कुछ नक्सली एक बैग में शक्तिशाली टाइमर लेकर पहुंचा था. वह सुदेश के साथ मंच पर भी चढ़ा था. लेकिन बम का बड़ा साइज होने के कारण इसे फिट नहीं किया जा सका. इसके बाद जीदन ने 26 फरवरी 2014 को दूसरा प्रयास किया. एक शादी समारोह में सुदेश महतो को मारने की योजना थी. भोजन करने के दौरान हमला किया जाना था. लेकिन हमले से कुछ घंटे पहले ही रांची पुलिस ने जीतन के सभी साथियों को वहां से गिरफ्तार कर लिया था. सच जानने के लिए जांच कर रही है पुलिस जीतन गुड़िया ने 2013 में ही सुदेश की हत्या की सुपारी ले ली थी. उसने दो बार सुदेश की हत्या करने की कोशिश की थी. लेकिन असफल रहा. 5 साल बीत जाने के बाद भी जब जीतन अपने मंसूबों में कामयाब नहीं हुआ तो उस नेता ने सुपारी की रकम वापस करने की मांग की. जीदन ने उस नेता से कुछ और समय मांगा है. फिलहाल रांची पुलिस ने उस नेता के नाम का खुलासा नहीं किया है. अब पुलिस नक्सली के इस बयान की सच्चाई जानने में जुटी है.

Top News

http://www.hitwebcounter.com/