taaja khabar..भारत में बड़ा आतंकी हमला करने की फिराक में है इस्लामिक स्टेट, रूस ने साजिश रच रहे आत्मघाती हमलावर को हिरासत में लिया..भाजपा का सिसोदिया पर पलटवार, कहा- केजरीवाल जिसे देते हैं ईमानदारी का सर्टिफिकेट वो जरूर जाता है जेल..शहनवाज हुसैन को सर्वोच्च न्यायालय से मिली बड़ी राहत, हाई कोर्ट के आदेश पर लगी रोक..आबकारी घोटाले में 'टूलकिट माड्यूल' की जांच, स्टैंडअप कामेडियन और हैदराबाद से जुड़े शराब के व्यापारी भी रडार पर..प्रधानमंत्री 24 अगस्त को हरियाणा और पंजाब में अस्पतालों का उद्घाटन करेंगे..आबकारी नीति मामला: भाजपा की दिल्ली इकाई का केजरीवाल के आवास के बाहर प्रदर्शन..

आत्मनिर्भर भारत की तरफ एक और बड़ा कदम, सरकारी ई-मार्केटप्लेस में बताना होगा सामान कहां बना

नई दिल्ली आत्मनिर्भर भारत को बढ़ावा देने के लिए भारत सरकार ने एक और कदम आगे बढ़ाया है। इसमें सरकारी ई-मार्केटप्लेस (GeM) में अब जो भी सामान मिलेगा उसपर 'कंट्री ऑफ ऑरिजिन' यानी सामान कहां का है यह बताना जरूरी होगा। क्या है सरकारी ई-मार्केटप्लेस (GeM) यह पोर्टल 2016 में लॉन्च हुआ था। केंद्र सरकार के मंत्रालय और विभाग इसी से सामान और किसी सर्विस को खरीदते हैं। फिलहाल सरकारी डिपार्टमेंट, मंत्रालय, पब्लिक सेक्टर यूनिट, राज्य सरकारें, सीआरपीएफ को ही इससे सामान खरीदने की इजाजत है। इसमें ऑफिस स्टेशनरी से लेकर वाहनों तक सब मिलता है। होगा मेक इन इंडिया फिल्टर भारत का यह कदम भी चीन को आइना दिखाने जैसा है। दरअसल, इस वक्त चीनी सामान के बहिष्कार की मांग देशभर में तेज हो चुकी है। ऐसे में सरकार ने सरकारी ई-मार्केटप्लेस (GeM) को आत्मनिर्भर भारत और मेक इन इंडिया को बढ़ावा देने की बात कही है। इसी के तहत अब सामान बेचनेवालों को बताना होगा कि उसका उद्गम देश कौन सा है। इसके साथ ही साइट पर अब मेक इन इंडिया का फिल्टर भी लगा दिया है। इससे खरीददार सिर्फ उन सामानों में से चुन सकेंगे जिसमें कम से कम 50 प्रतिशत सामान भारत का हो।

Top News