taaja khabar.....30 करोड़ को कोरोना वैक्सीन देने के लिए चुनाव जैसी महातैयारी, पोलिंग बूथ जैसे बनेंगे 'वैक्सीन बूथ' ....लक्ष्मी विलास बैंक के DBIL में विलय को कैबिनेट की मंजूरी, NIIF को 6 हजार करोड़ ​पूंजी ...स्मृति ईरानी बोलीं- घुसपैठियों की मदद कर रहे ओवैसी और केसीआर..पंजाब के सभी शहरों में फिर से नाइट कर्फ्यू, मास्क न पहनने पर लगेगा 1000 का जुर्माना...बंगालः दिलीप घोष की रैली में आ रहे बीजेपी कार्यकर्ताओं पर हमला, TMC पर धमकाने का आरोप...'लव जिहाद' पर कानून किसी धर्म के खिलाफ नहीं, किसी धर्म के पक्ष में नहीं : वीएचपी ....वरिष्ठ कांग्रेस नेता अहमद पटेल का निधन, एक महीने पहले हुए थे कोरोना पॉजिटिव.....विजय कुमार सिन्हा बने बिहार विधानसभा के स्पीकर, हंगामे के बीच हुई वोटिंग में महागठबंधन के अवध बिहारी को हराया ,....‘बोल दो कोरोना हो गया’, सुशील मोदी का दावा- लालू ने किया BJP MLA को फोन, ऑडियो जारी...गांगुली होंगे BJP का चेहरा? टीएमसी सांसद बोले- उन्हें नहीं पता गरीबों की दिक्कत, टिक नहीं पाएंगे...यूपी के बाद हरियाणा सरकार भी बनाएगी लव जिहाद पर कानून, अनिल विज बोले- योगी जिंदाबाद...अमेरिका के नए विदेश मंत्री ऐंटनी ब्लिंकेन पाकिस्तान के लिए बुरी खबर? ...नीतीश कुमार और अशोक चौधरी का सदन में रहना गलत नहीं, कानून विशेषज्ञ....

एक गलती जो जानलेवा बना रही है कोरोनाराजस्थान: कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच सभी जिलों में फिर से लागू होगी धारा- 144 वायरस को, इससे बचेंगे तो सुरक्षित रहेंगे आप

जयपुर, 20 नवंबर 2020,राजस्थान में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों के बीच गहलोत सरकार ने बड़ा फैसला लिया है. राज्य सरकार ने सूबे के सभी जिलाधिकारियों को 21 नवंबर से धारा-144 लगाने की सलाह दी है. गृह विभाग के ग्रुप-9 ने सभी जिलाधिकारियों को परामर्श जारी कर दिया है. गृह सचिव एन एल मीणा ने आदेश जारी कर सभी जिलों में धारा 144 लागू कराने और इसका सख्ती से पालने कराने की सलाह दी है. गौरतलब है कि किसी जिले में धारा-144 को लागू करने के लिए जिला मजिस्ट्रेट द्वारा एक नोटिफिकेशन जारी किया जाता है. जिसके बाद उस इलाके में यह धारा प्रभावी हो जाती है. जिस इलाके में धारा-144 लागू होती है वहां 4 या उससे ज्यादा लोग इकट्ठे नहीं हो सकते. उस क्षेत्र में पुलिस और सुरक्षा बलों को छोड़कर किसी के भी हथियार लाने और ले जाने पर पाबंदी होती है. लोगों का घर से बाहर घूमने पर प्रतिबंध होता है तथा यातायात साधनों पर भी रोक होती है. बता दें कि त्योहारों के मौसम के बीच सूबे में कोरोना के मामले लगातार बढ़ने लगे हैं. राजस्थान में बढ़ते मामलों को देखते हुए राज्य सरकार ने यह फैसला लिया है. दिवाली पर लोगों की भीड़ और घरों से बाहर आना-जाना और खरीदारी के दौरान कोरोना संक्रमण का प्रसार हुआ है जिसके बाद कोरोना के मामले बढ़ने लगे हैं. इससे पहले गुरुवार को राजस्थान की अशोक गहलोत सरकार ने बिना परीक्षा विद्यार्थियों को प्रमोट नहीं करने का निर्णय लिया.राज्य सरकार ने निर्णय लिया है कि इस एकेडमिक वर्ष में विद्यार्थियों को बिना परीक्षा के प्रमोट नहीं किया जाएगा. इसके साथ ही गहलोत सरकार ने 'आओ घर में सीखें' नाम से नई पहल की शुरुआत भी की है जिसके तहत बच्चों से घर पर ही पढ़ने का आह्वान किया गया है.

Top News