taaja khabar...FATF में पाकिस्‍तान को चीन-सऊदी अरब ने दिया 'धोखा', तुर्की की नापाक साजिश को श‍िकस्‍त ...रिटर्न भरने की तारीख फिर से बढ़ाई गई, अब 31 दिसंबर तक मौका ...रॉ चीफ से मिलकर बदले नेपाली प्रधानमंत्री केपी ओली के सुर, अब ट्वीट क‍िया पुराना नक्‍शा ...चीन का नाम लिए बगैर केंद्रीय गृह राज्‍य मंत्री बोले- ITBP ने कुछ देशों का भ्रम तोड़ दिया ...6 साल की थी बिहार की बिटिया, पंजाब में रेप, जलाया गया, खामोश राहुल-तेजस्वी से BJP ने पूछा- बोलते क्यों नहीं ...महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस कोरोना पॉजिटिव, ट्वीट कर दी जानकारी ...लद्दाख के पास चीनी सेना के युद्धाभ्‍यास की खुली पोल, सिर्फ फोटो खिंचवाते हैं ड्रैगन के सैनिक! ...कंगना रनौत की फ्लाइट में किया था हंगामा, IndiGo ने नौ पत्रकारों को किया बैन ....नवाज शरीफ के दामाद के गिरफ्तारी का खुलासा करने वाले पाकिस्‍तानी पत्रकार लापता, कटघरे में इमरान ...महबूबा के तिरंगा न थामने के बयान पर बोले जी किशन रेड्डी- राज जाने से हो रहे परेशान...राजस्थान: बाड़मेर में ISI का जासूस रोशन लाल गिरफ्तार, रिश्तेदारों से मिलने गया था पाकिस्तान...एलओसी पर मंडरा रहा था पाकिस्तानी सेना का चीनी कॉडकॉप्‍टर, इंडियन आर्मी ने किया ढेर ...मीडिया का अब ‘‘अत्यधिक ध्रुवीकरण'' हो गया है: बम्बई उच्च न्यायालय ...

ताइवान ने दुनिया को बताया चीन का सच तो भारतीय मीडिया पर भड़का ड्रैगन, दूतावास ने जताई आपत्ति

पेइचिंग दुनिया के साथ कई देशों के साथ क्षेत्रीय विवाद पैदा करके बैठा चीन पूरे ताइवान पर अपना दावा ठोंकता है। कई बार उसकी सेना के जंगी जहाज ताइवान के एयरस्पेस में दाखिल होकर शक्ति प्रदर्शन भी करते हैं। यहां तक कि चीन ऐसे देशों के साथ भी कड़ाई से बर्ताव करता है जो ताइवान से करीबी दिखाते नजर आते हैं। हाल ही में भारत के मीडिया ने जब ताइवान के प्रति नरम रुख दिखाते हुए उसे अपनी आवाज उठाने का मौका दिया तो ड्रैगन को यह नागवार गुजरा है। 'चीन की वन-चाइना पॉलिसी का उल्लंघन' चीन के प्रॉपगैंडा अखबार ग्लोबल टाइम्स ने चीन के दूतावास के हवाले से ट्वीट किया है- 'भारत में चीनी दूतावासकुछ भारतीय मीडिया के ताइवान अथॉरिटी के 'विदेशी संबंध' विभाग के हेड जॉशिया जोसफ वू के इंटरव्यू, जो खुले तौर पर 'ताइवान की आजादी' का समर्थन करते हैं, उसने वन-चाइना पॉलिसी का गंभीरता से उल्लंघन किया है और चीन की बॉटम लाइन को उकसाया है।' आगे बताया गया है कि भारत में चीनी दूतावास ने भारत से इस बारे में आपत्ति जाहिर की है और भारतीय मीडिया से अपील की है कि ताइवान की आजादी की मांग करने वालों को प्लैटफॉर्म न दिया जाए और लोगों को गलत संदेश देने से बचा जाए। ताइवान के विदेश मंत्री का इंटरव्यू बता दें कि इंडिया टुडे से इंटरव्यू में ताइवान के विदेश मंत्री जोसफ वू ने कहा कि दुनिया के इस हिस्से में सिर्फ ताइवान को चीन से परेशानी नहीं है, जापान को ईस्ट चाइना सी में दिक्कत हो रही है जहां समुद्र में चीन घुसपैठ कर रहा है, वहीं दक्षिण चीन सागर के पास देशों को भी परेशानी हो रही है। भारत-चीन सीमा के पास भी विवाद चल रहा है। जोसफ ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय समुदाय और संस्थानों को गंभीरता से ताइवान के अस्तित्व के बारे में सोचना चाहिए। 'ताइवान नहीं था चीन का हिस्सा' जोसफ ने साफ कहा कि ताइवान चीन से बाहर है। उन्होंने कहा कि कई देशों को लगता है कि चीन के पास वन चाइना पॉलिसी है और चीन ताइवान का नेतृत्व करता है लेकिन ऐतिहासिक तर पर 1949 से ताइवान चीन का हिस्सा नहीं जब से चीनी रिपब्लिक की स्थापना हुई थी। उन्होंने कहा कि चीन ताइवान का नेतृत्व नहीं कर सकता, सिर्फ ताइवान की सरकार कर सकती है। यहां के लोगों के पास दुनिया में अपना प्रतिनिधित्व करने का अधिकार हैं।

Top News