taaja khabar...सुप्रीम कोर्ट से मोदी को राफेल पर बड़ी राहत, राहुल को झटका....मध्य प्रदेश के 18वें मुख्यमंत्री होंगे कमलनाथ, कांग्रेस ने किया ऐलान...हिमाचल विधानसभा में पारित हुआ गाय को राष्ट्रमाता का दर्जा देने का प्रस्ताव...मुठभेड़ में मारे गए तीन लश्कर आतंकियों में हैदर मूवी में ऐक्टिंग करने वाला युवक भी शामिल...मिजोरम: पहली बार ईसाई रीति-रिवाजों के साथ होगा शपथ ग्रहण...पाकिस्तानियों को भारत में बसाने का विवादित कानून, SC ने उठाए सवाल...तीन राज्यों में हार के बाद 2019 के लिए मैराथन प्रचार में जुटेंगे पीएम मोदी, दक्षिण, पूर्व और पूर्वोत्तर पर नजर...बीजेपी का बड़ा दांव, गांधी परिवार के गढ़ से कुमार विश्वास को दे सकती है टिकट...छत्तीसगढ़ में हर तीसरे MLA पर आपराधिक केस, तीन-चौथाई करोड़पति...हार के बाद BJP ने 2019 के चुनाव के लिए भरी हुंकार, रणनीति तैयार...
85 अस्पतालों में 2,348 गर्भवतियों की हुई एएनसी
8 निजी गायनेकोलोजिस्ट ने दी निःशुल्क सेवाए *********** बीकानेर। प्रतिमाह की भांति 9 तारीख सोमवार को पूरे देश के साथ बीकानेर में भी प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान के तहत विशेष एएनसी शिविर आयोजित किए गए। आशा और एएनएम द्वारा घर-घर सूचना देकर गर्भवतियों को डॉक्टरी जांच के लिए स्वास्थ्य केंद्र लाया गया। सुबह से ही शहरी-ग्रामीण स्वास्थ्य केन्द्रों पर गर्भवतियों की लाइने लग गई। भीषण गर्मी के चलते स्टाफ द्वारा कूलर-शीतल पेय जल की भी उचित व्यवस्था की गई। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. देवेन्द्र चौधरी ने बताया कि इस तेज गर्मी के बावजूद इस माह पीएमएसएमए शिविर अत्यंत सफल रहे। समस्त सीएचसी, पीएचसी, यूपीएचसी, शहरी डिस्पेंसरी और जिला अस्पताल सहित जिले भर के 85 अस्पतालों में चिकित्सकों द्वारा गर्भवतियों की गुणवत्तापूर्ण एएनसी जांचें की गई। जिला अस्पताल में डॉ. बी.एल. हटीला व डॉ. विजयलक्ष्मी व्यास द्वारा 106 गर्भवतियों की एएनसी की गई 33 गर्भवतियों की सोनोग्राफी, 48 की एचआईवी और वीडीआरएल जांचें हुई। शहरी यूपीएचसी में 345, खण्ड बीकानेर में 304, श्रीडूंगरगढ़ में 314, नोखा में 452, कोलायत में 336, लूणकरणसर में 381 व खाजूवाला में 110 गर्भवतियों की जांचे हुई। ये जांचें हैं जरूरी आरसीएचओ डॉ. रमेश गुप्ता ने बताया कि गर्भवतियों को खून की जांच, हीमोग्लोबिन, रक्तचाप, शुगर, पेशाब की जांच, सोनोग्राफी, वजन की जांच, ऊंचाई, पेट की जांच इत्यादि जांचों सहित आवश्यक औषधियांे की निशुल्क सेवाएं उपलब्ध करायी गई। ये जांचें हाई रिस्क गर्भवतियों की पहचान के लिए कारगर है। मातृ व शिशु मृत्युदर में कमी लाने विशेषकर एनीमिया की जांच कर एनेमिक महिलाओं को आवश्यकतानुसार आयरन की गोलियां, आयरन सुक्रोज इंजेक्शन व ब्लड ट्रांसफ्यूजन की सलाह दी गई। 8 निजी गायनेकोलोजिस्ट ने दी निःशुल्क सेवाएं डीपीएम सुशील कुमार ने बताया कि जिले के 8 निजी गायनेकोलोजिस्ट ने भी पीएमएसएमए अभियान के तहत स्वेच्छा से निःशुल्क सेवाएं दी। इस बार डॉ. मधु आर्य द्वारा सीएचसी नापासर की बजाय सीएचसी देशनोक में निःशुल्क सेवाएं दी गई। इसके अलावा डॉ. स्वाति बिन्नानी ने यूपीएचसी न. 5 कोटगेट में, डॉ. रूपम कालरा ने रानी बाजार औद्योगिक क्षेत्र डिस्पेंसरी न 7 में, डॉ. नीता कपूर ने यूपीएचसी न. 1 (अणचाबाई डिस्पेंसरी) में, डॉ वीणा श्रीवास्तव ने यूपीएचसी सर्वोदय बस्ती में, डॉ. जुगल किशोर छाबड़ा यूपीएचसी न. 6, नत्थूसर गेट में, डाॅ. इति माथुर ने यूपीएचसी नं. 2 भुजिया बाजार में व डॉ. सूरत चलाना ने यूपीएचसी तिलकनगर में गर्भवतियों की निःशुल्क एएनसी जांचें कर आवश्यक सलाह दी। 8 निजी विशेषज्ञों द्वारा कुल 230 एएनसी जांचें की गई।

Top News

http://www.hitwebcounter.com/