taaja khabar...सुप्रीम कोर्ट से मोदी को राफेल पर बड़ी राहत, राहुल को झटका....मध्य प्रदेश के 18वें मुख्यमंत्री होंगे कमलनाथ, कांग्रेस ने किया ऐलान...हिमाचल विधानसभा में पारित हुआ गाय को राष्ट्रमाता का दर्जा देने का प्रस्ताव...मुठभेड़ में मारे गए तीन लश्कर आतंकियों में हैदर मूवी में ऐक्टिंग करने वाला युवक भी शामिल...मिजोरम: पहली बार ईसाई रीति-रिवाजों के साथ होगा शपथ ग्रहण...पाकिस्तानियों को भारत में बसाने का विवादित कानून, SC ने उठाए सवाल...तीन राज्यों में हार के बाद 2019 के लिए मैराथन प्रचार में जुटेंगे पीएम मोदी, दक्षिण, पूर्व और पूर्वोत्तर पर नजर...बीजेपी का बड़ा दांव, गांधी परिवार के गढ़ से कुमार विश्वास को दे सकती है टिकट...छत्तीसगढ़ में हर तीसरे MLA पर आपराधिक केस, तीन-चौथाई करोड़पति...हार के बाद BJP ने 2019 के चुनाव के लिए भरी हुंकार, रणनीति तैयार...
मध्य प्रदेश के बाद राजस्थान में बच्चियों से रेप पर फांसी की सजा को सदन की मुहर
जयपुर महिलाओं के खिलाफ बढ़ते अपराधों को देखते हुए राज्य सरकारें अब इससे निपटने के लिए कठोर कदम उठाती दिख रही हैं। मध्य प्रदेश के बाद अब राजस्थान सरकार ने भी रेप के दोषियों को कड़ी सजा देने का रास्ता साफ करने की कोशिश की है। इसी कड़ी में शुक्रवार को राजस्थान में 12 साल या उससे कम उम्र लड़कियों से रेप के दोषियों को फांसी की सजा के प्रावधान वाला बिल सदन में पास कर दिया गया। गौरतलब है कि नाबालिग बच्चियों के साथ रेप और फिर उनकी नृशंस हत्याओं की एक के बाद कई वारदातें सामने आने के बाद राज्य सरकारों में खलबली मची हुई है। एनसीआरबी द्वारा जारी किए आंकड़ों ने इस मुद्दे को और भी बल दिया। आंकड़ों में रेप की घटनाओं को लेकर अव्वल रहने पर लगातार आलोचनाओं का सामना कर रही मध्य प्रदेश की शिवराज सरकार ने सबसे पहले यह बिल पेश किया था जिसे विधानसभा में पारित भी कर दिया गया था। मध्य प्रदेश से सबक लेते हुए अब राजस्थान सरकार ने भी 12 साल से कम उम्र की बच्चियों से रेप के दोषियों को फांसी देने के लिए यह बिल लाने की तैयारी शुरू कर दी थी। राज्य के गृहमंत्री गुलाबचंद कटारिया ने इस बात की घोषणा करते हुए कहा था कि संबंधित विभाग मध्य प्रदेश द्वारा पारित बिल का अध्ययन कर राज्य के लिए ड्राफ्ट तैयार कर रहे हैं। इन दोनों राज्यों के अलावा हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्टर ने भी राज्य में बच्चियों के साथ लगातार सामने आईं रेप और हत्या की घटनाओं पर आलोचना का शिकार होने के बाद ऐसा ही कानून लाने की घोषणा की थी।

Top News

http://www.hitwebcounter.com/