taaja khabar....पोखरण में एक और कामयाबी, मिसाइल 'हेलिना' का सफल परीक्षण.....अगले 10 साल में बाढ़ से 16000 मौतें, 47000 करोड़ की बर्बादी: एनडीएमए....बड़े प्लान पर काम कर रही भारतीय फौज, जानिए क्या होंगे बदलाव...शूटर दीपक कुमार ने सिल्वर पर किया कब्जा....शेयर बाजार की तेज शुरुआत, सेंसेक्स 155 और न‍िफ्टी 41 अंक बढ़कर खुला....राम मंदिर पर बोले केशव मौर्य- संसद में लाया जा सकता है कानून...'खालिस्तान की मांग करने वालों के दस्तावेजों की हो जांच, निकाला जाए देश से बाहर'....
राजस्थान में 11.48 करोड़ टन सोने के भंडार का पता चला
जयपुर भारतीय भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण विभाग ने दावा किया है कि राजस्थान के बांसवाड़ा और उदयपुर जिलों में 11.48 करोड़ टन के सोने के भंडार का पता लगाया जा चुका है। विभाग के महानिदेशक एन. कुटुंबा राव ने जयपुर में मीडिया से बातचीत में यह जानकारी दी। राजस्थान में सोने की खोज में नई संभावनाएं सामने आई हैं। उदयपुर और बांसवाड़ा जिलों के भूकिया डगोचा में सोने के भंडार मिले हैं। 8.11 करोड़ टन तांबे के भंडार राव के अनुसार राजस्थान में 2010 से अबतक 8.11 करोड़ टन तांबे के भंडार का पता लगाया जा चुका है। इसमें तांबे का औसत स्तर 0.38 प्रतिशत है। उन्होंने बताया कि राजस्थान के सिरोही जिले के देवा का बेड़ा, सालियों का बेड़ा और बाड़मेर जिले के सिवाना इलाकों में अन्य खनिज की खोज की जा रही है। 35.65 करोड़ टन सीसा-जस्ता राव ने यह भी बताया कि राजस्थान में 35.65 करोड़ टन के सीसा-जस्ता के संसाधन राजपुरा दरीबा खनिज पट्टी में मिले हैं। इसके अलावा, भीलवाड़ा जिले के सलामपुरा और इसके आसपास के इलाके में भी सीसा-जस्ता के भंडार मिले हैं। पोटाश की खोज उन्होंने कहा कि प्रदेश में उर्वरक खनिज पोटाश और ग्लुकोनाइट की खोज के लिए नागौर, गंगापुर (करोली)और सवाई माधोपुर में उत्खनन का काम चल रहा है। इन जिलों में पोटाश और ग्लुकोनाइट के भंडार मिलने से भारत की उर्वरक खनिज की आयात पर निर्भरता कम होगी। फैक्ट्स: 8133.5 मीट्रिक टन सोना अमेरिका के पास (सबसे ज्यादा) 557.7 मीट्रिक टन सोना है भारत में 10वें स्थान पर है दुनिया में भारत का सोने का भंडार

Top News

http://www.hitwebcounter.com/