ttaaja khabar.....गुजरात: कांग्रेस पर मोदी का वार, पूछा-अहमद को सीएम बनाने की अपील क्यों कर रहा पाक?.....गुजरात: मंदिर से बाहर आते राहुल के सामने लगे 'मोदी-मोदी' के नारे....'दंगल गर्ल' के साथ फ्लाइट में छेड़छाड़, सोशल मीडिया पर की शिकायत....नई तकनीक: डॉक्टरों ने पेट में लगाया दूसरा दिल.....राहुल की नसीहत, 'कांग्रेस पार्टी के हो! मीठा बोलो और भगाओ उनको'....धर्मशाला वनडे: 112 रन पर ढेर हुई भारतीय टीम, धोनी के चलते पार हुआ सैकड़ा....aaja khabar...EVM से नहीं हुई छेड़छाड़, चुनाव आयोग ने खारिज किया कांग्रेस का आरोप...गुजरात चुनावः पहले चरण की वोटिंग खत्म, 5 बजे तक 68 प्रतिशत मतदान.....पेट्रोल में मेथनॉल मिलाने की नीति की जल्द घोषणा करेगी सरकार: गडकरी.....गुजरात में अपनी पांचों सीटें हारेंगे अखिलेश: मुलायम.....गुजरात विकास मॉडल को छलावा बताकर दुष्प्रचार कर रही कांग्रेस: जेटली....ड्रोन क्रैश को तूल दे रहा चीन, भारत से माफी की मांग और परिणाम भुगतने की चेतावनी....स्पाइसजेट ने मुंबई में किया सीप्लेन का ट्रायल, एयर कनेक्टिविटी से जुड़ेंगे छोटे शहर.....छत्तीसगढ़: आपसी झगड़े में सीआरपीएफ जवान ने की 4 साथियों की हत्या, एक घायल......इराक में ISIS का खात्मा, पीएम ने किया जंग खत्म होने का ऐलान.....यरुशलम को इजरायल की राजधानी के तौर पर मान्यता, अमेरिका के साथ है सऊदी अरब?...
हाई कोर्ट ने पूछा, लहसुन सब्जी है या मसाला
जयपुर जीएसटी + को लेकर अब भी स्थितियां साफ नहीं हो पाई हैं। अब राजस्थान + हाई कोर्ट ने राज्य सरकार से पूछा है कि वह बताएं कि लहसुन सब्जी है या मसाला? राज्य सरकार से यह सवाल हाई कोर्ट में दायर एक पीआईएल पर किया गया है। सरकार को एक हफ्ते के अंदर हाई कोर्ट में जवाब दायर करना है।जोधपुर के भदवासिया आलू, प्याज जोधपुर के भदवासिया आलू, प्याज और लहसुन विक्रेता संघ द्वारा यह याचिका हाई कोर्ट में दायर की गई थी। हाई कोर्ट के इस सवाल के पीछे तर्क यह है कि अगर लहसुन सब्जी है तो किसान उसे सब्जी मार्केट में बेचे और अगर मसाला है तो उसे अनाज मार्केट में बेच सके। सब्जी मार्केट में लहसुन बेचने पर टैक्स नहीं है जबकि अनाज मार्केट में लहसुन बेचने पर टैक्स लगता है। याचिकाकर्ता की तरफ से कहा गया कि सरकार ने लहसुन + को सब्जी और मसाला दोनों श्रेणी में रख दिया है। सब्जी के रूप में लहसुन के बिकने पर जीएसटी नहीं लगता और मसाले के रूप में बेचा जाए तो जीएसटी लगता है। ऐसे में उन्हें लहसुन को किस श्रेणी में रखना बेचना है। अपर महाधिवक्ता श्याम सुंदर ने कोर्ट में कहा कि राज्य सरकार ने लहसुन के कंद अनाज मार्केट में बेचने के लिए राजस्थान कृषि उत्पादन बाजार एक्ट 1962 में अगस्त 2016 में संशोधन किया था। यह संशोधन किसानों के हित में था। प्रदेश में लहसुन का भारी उत्पादन होने से इसकी कीमत गिर जाती है। वहीं सब्जी मार्केट में भी जगह कम होने से लहसुन सही कीमत पर नहीं बिक पाता है इसलिए सरकार ने किसानों को लहसुन खुले अनाज मार्केट में भी बेचने का आदेश दिया था। उन्होंने कहा कि अगर अनाज मार्केट में लहसुन बेचा जा रहा है तो भी उसमें कोई टैक्स नहीं लगता। इसके विपरीत उन्हें अनाज मार्केट में सिर्फ 2 फीसदी कमीशन बिचौलिये को देना पड़ता है। जबकि सब्जी मार्केट में बिचौलियों का कमीशन 6 फीसदी है।

Top News