ttaaja khabar.....गुजरात: कांग्रेस पर मोदी का वार, पूछा-अहमद को सीएम बनाने की अपील क्यों कर रहा पाक?.....गुजरात: मंदिर से बाहर आते राहुल के सामने लगे 'मोदी-मोदी' के नारे....'दंगल गर्ल' के साथ फ्लाइट में छेड़छाड़, सोशल मीडिया पर की शिकायत....नई तकनीक: डॉक्टरों ने पेट में लगाया दूसरा दिल.....राहुल की नसीहत, 'कांग्रेस पार्टी के हो! मीठा बोलो और भगाओ उनको'....धर्मशाला वनडे: 112 रन पर ढेर हुई भारतीय टीम, धोनी के चलते पार हुआ सैकड़ा....aaja khabar...EVM से नहीं हुई छेड़छाड़, चुनाव आयोग ने खारिज किया कांग्रेस का आरोप...गुजरात चुनावः पहले चरण की वोटिंग खत्म, 5 बजे तक 68 प्रतिशत मतदान.....पेट्रोल में मेथनॉल मिलाने की नीति की जल्द घोषणा करेगी सरकार: गडकरी.....गुजरात में अपनी पांचों सीटें हारेंगे अखिलेश: मुलायम.....गुजरात विकास मॉडल को छलावा बताकर दुष्प्रचार कर रही कांग्रेस: जेटली....ड्रोन क्रैश को तूल दे रहा चीन, भारत से माफी की मांग और परिणाम भुगतने की चेतावनी....स्पाइसजेट ने मुंबई में किया सीप्लेन का ट्रायल, एयर कनेक्टिविटी से जुड़ेंगे छोटे शहर.....छत्तीसगढ़: आपसी झगड़े में सीआरपीएफ जवान ने की 4 साथियों की हत्या, एक घायल......इराक में ISIS का खात्मा, पीएम ने किया जंग खत्म होने का ऐलान.....यरुशलम को इजरायल की राजधानी के तौर पर मान्यता, अमेरिका के साथ है सऊदी अरब?...
शुरू होगी प्रयास पांडुलिपि प्रकाशन योजना
चूरू। आधुनिक राजस्थानी साहित्य में चुनिंदा एवं उल्लेखनीय कृतियां प्रकाश में लाने के मकसद से स्थानीय प्रयास संस्थान पांडुलिपि प्रकाशन योजना प्रारम्भ करेगा। इस योजना के तहत संस्थान आवेदन आमंत्रित कर राजस्थानी भाषा के लेखकों से अप्रकाशित मौलिक पांडुलिपियां मंगवाएगा और मूल्यांकन के पश्चात प्रकाशन योग्य उल्लेखनीय कृतियों को प्रकाशन सहयोग देगा। प्रयास संस्थान के अध्यक्ष दुलाराम सहारण ने बताया कि मान्यता के लिए संघर्ष कर रही भाषा में लेखक जब खुद जेब से पैसे लगाकर किताबें छपवा और बांट रहे हैं, ऐसे समय में यह योजना बहुत जरूरी थी। प्रकाशन सहयोग संस्थान से जुड़े सुधीजनों के सौजन्य से प्राप्त होगा। राजस्थानी भाषा तथा साहित्य के लिए ऐसी महत्वाकांक्षी योजनाएं मील का पत्थर साबित होंगी। सहारण ने बताया कि इस योजना की नियमावली बनाने के लिए साहित्य अकादेमी युवा पुरस्कार से सम्मानित साहित्यकार कुमार अजय की अध्यक्षता में एक सात सदस्यीय स्थानीय समिति बनाई गई है। समिति में साहित्यकार श्रीभगवान सैनी, घनश्यामनाथ कच्छावा, देवकरण जोशी, उम्मेद गोठवाल, कमल शर्मा, किशोर कुमार निर्वाण आदि साहित्यकार सदस्य रहेंगे। उल्लेखनीय है कि इस योजना के तहत पहली बार वर्ष 2018 के लिए इसी दिसम्बर में आवेदन आमंत्रित किए जाएंगे।

Top News