taaja khabar....पोखरण में एक और कामयाबी, मिसाइल 'हेलिना' का सफल परीक्षण.....अगले 10 साल में बाढ़ से 16000 मौतें, 47000 करोड़ की बर्बादी: एनडीएमए....बड़े प्लान पर काम कर रही भारतीय फौज, जानिए क्या होंगे बदलाव...शूटर दीपक कुमार ने सिल्वर पर किया कब्जा....शेयर बाजार की तेज शुरुआत, सेंसेक्स 155 और न‍िफ्टी 41 अंक बढ़कर खुला....राम मंदिर पर बोले केशव मौर्य- संसद में लाया जा सकता है कानून...'खालिस्तान की मांग करने वालों के दस्तावेजों की हो जांच, निकाला जाए देश से बाहर'....
शुरू होगी प्रयास पांडुलिपि प्रकाशन योजना
चूरू। आधुनिक राजस्थानी साहित्य में चुनिंदा एवं उल्लेखनीय कृतियां प्रकाश में लाने के मकसद से स्थानीय प्रयास संस्थान पांडुलिपि प्रकाशन योजना प्रारम्भ करेगा। इस योजना के तहत संस्थान आवेदन आमंत्रित कर राजस्थानी भाषा के लेखकों से अप्रकाशित मौलिक पांडुलिपियां मंगवाएगा और मूल्यांकन के पश्चात प्रकाशन योग्य उल्लेखनीय कृतियों को प्रकाशन सहयोग देगा। प्रयास संस्थान के अध्यक्ष दुलाराम सहारण ने बताया कि मान्यता के लिए संघर्ष कर रही भाषा में लेखक जब खुद जेब से पैसे लगाकर किताबें छपवा और बांट रहे हैं, ऐसे समय में यह योजना बहुत जरूरी थी। प्रकाशन सहयोग संस्थान से जुड़े सुधीजनों के सौजन्य से प्राप्त होगा। राजस्थानी भाषा तथा साहित्य के लिए ऐसी महत्वाकांक्षी योजनाएं मील का पत्थर साबित होंगी। सहारण ने बताया कि इस योजना की नियमावली बनाने के लिए साहित्य अकादेमी युवा पुरस्कार से सम्मानित साहित्यकार कुमार अजय की अध्यक्षता में एक सात सदस्यीय स्थानीय समिति बनाई गई है। समिति में साहित्यकार श्रीभगवान सैनी, घनश्यामनाथ कच्छावा, देवकरण जोशी, उम्मेद गोठवाल, कमल शर्मा, किशोर कुमार निर्वाण आदि साहित्यकार सदस्य रहेंगे। उल्लेखनीय है कि इस योजना के तहत पहली बार वर्ष 2018 के लिए इसी दिसम्बर में आवेदन आमंत्रित किए जाएंगे।

Top News

http://www.hitwebcounter.com/