taaja khabar....भारत ने तीसरे टेस्ट में साउथ अफ्रीका को पारी और 202 रनों से हराया, सीरीज में क्लीन स्वीप....महाराष्ट्र-हरियाणा महाएग्जिट पोल: देवेंद्र फडणवीस और खट्टर की बंपर वापसी का अनुमान....केजरीवाल और उनके मंत्रियों के इलाज पर 4 साल में 50 लाख से ज्यादा खर्च....भारतीय शटलर पीवी सिंधु ने 'भारत की लक्ष्मी' अभियान को किया सपॉर्ट...दिल्ली पुलिस के ऑपरेशन लंगड़ा से मचेगी स्नैचरों में खलबली....पाकिस्तान के रेल मंत्री शेख रशीद की धमकी, अबकी युद्ध में 4-6 दिन तोपें नहीं चलेंगी, सीधे परमाणु जंग होगी...कमलेश तिवारी मर्डर: हिंदू समाज पार्टी में घुसने के लिए अशफाक शेख ने चुराई थी हिंदू सहकर्मी की आईडी...महाराष्ट्र, हरियाणा के एग्जिट पोल्स क्यों दे रहे कांग्रेस को टेंशन, कश्मीर पर बदलेगी स्टैंड?....INX केस: गिरफ्तारी के 2 महीने बाद पी चिदंबरम को बेल, मगर जारी रहेगी जेल ...

राजस्थान में राजनीति की भेंट चढ़ा योग, स्कूलों में नहीं हुआ इस बार योग

जयपुर, 21 जून 2019,अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के मौके पर 21 जून को पूरी दुनिया ने भारत संग योग किया लेकिन राजस्थान में ‘योग दिवस’ राजनीति की भेंट चढ़ गया. यहां योग दिवस बिल्कुल फीका रहा, ना स्कूलों में योग हुआ और ना ही कहीं भव्य योग कार्यक्रम का आयोजन किया गया. और तो और प्रदेश के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत भी योग करने के लिए नहीं निकले. बता दें कि राजस्थान में इस समय कांग्रेस की सरकार है. ‘योग दिवस’ पर सीएम अशोक गहलोत की बीजेपी की नीतियों को लेकर तल्खी साफ दिखी. जब पूरा देश सुबह से योग कर रहा था. सोशल मीडिया पर भी लोग ट्वीट के जरिए लोगों को ‘योग दिवस’ की बधाई दे रहे हैं. वहीं सीएम गहलोत ने शुक्रवार सुबह करीब साढ़े 10 बजे लोगों को योग की बधाई दी. हालांकि इससे 2 घंटे पहले ही उन्होंने एक ट्वीट के जरिए लोगों को अंतरराष्ट्रीय संगीत दिवस की बधाई दी. BJP शासन में धूमधाम से मनाया गया था योग पूरी दुनिया में भले ही योग के फायदे बताए जा रहे हो लेकिन राजस्थान में अंतरराष्ट्रीय योग दिवस राजनीति की भेंट चढ़ गया. सरकार बदली तो योग करने वालों का भी टोटा पड़ गया. राजस्थान के स्कूलों में छुट्टियों का दिन बढ़ा दिया गया लिहाजा अब 1 जुलाई से स्कूल खुलेंगे. ऐसे में राजस्थान के स्कूलों में शुक्रवार को योग नहीं हुआ. पहले बीजेपी शासन के दौरान स्कूलों की छुट्टियां 18 जून को खत्म हो जाती थी तो 21 जून को स्कूलों में धूमधाम के साथ योग दिवस मनाया जाता था. डिप्टी CM सचिन पायलट ने भी नहीं किया योग उस वक्त की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे भी स्टेडियम में लोगों के साथ योग करती थीं, लेकिन इस बार कांग्रेस के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत योग करने के लिए अपने घर से बाहर नहीं निकले. जब मुख्यमंत्री राज्य स्तरीय समारोह में हिस्सा नहीं लिया तो लोगों ने भी योग से दूरी बनाकर रखी. राज्य के उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट भी छुट्टियों पर है लिहाजा वह भी ‘योग दिवस’ में हिस्सा नहीं लिए. हालांकि, स्वास्थ्य मंत्री रघु शर्मा को अजमेर में राज्य स्तरीय योगा समारोह में हिस्सा लेने के लिए भेजा गया था. मगर इस स्तर पर बेरुखी की वजह से राजस्थान में योग दिवस फीका रहा. बीजेपी के विधायक और पूर्व शिक्षा मंत्री वासुदेव देवनानी ने आरोप लगाया कि जानबूझकर राजस्थान की कांग्रेस सरकार ‘योग दिवस’ के दिन योग करने से लोगों को रोकना चाहती है, लिहाजा स्कूलों की छुट्टियां बढ़ा दी गईं और मुख्यमंत्री योग करने के लिए लोगों के बीच नहीं आए.

Top News