नगर निगम में बंद हुआ राष्ट्रगान और राष्ट्रगीत, BJP का कांग्रेस पर आरोप

नई दिल्ली, 18 जून 2019, जयपुर नगर निगम में इन दिनों सुबह राष्ट्रगीत के साथ कामकाज की शुरुआत और शाम को राष्ट्रगान के साथ कामकाज खत्म होने की परंपरा बंद हो गई है. इसे शुरू करने वाली भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) इस पूरे मुद्दे पर कांग्रेस पर हमलावर है. बीजेपी के पूर्व मेयर अशोक लाहोटी ने कहा कि कांग्रेस राष्ट्रगान और राष्ट्रगीत की विरोधी है, जिसकी वजह से नगर निगम की अच्छी परंपरा बंद कर दी गई है. लाहोटी ने आरोप लगाया है कि लोगों में राष्ट्रभक्ति की भावना भरने के साथ ही कार्यस्थल पर अनुशासन लाने के लिए बीजेपी शासन के दौरान जयपुर नगर निगम में इस परंपरा की शुरुआत की गई थी, लेकिन कांग्रेस शुरू से ही इसका विरोध करती रही है. यही वजह है कि जानबूझकर मशीन की खराबी के नाम पर इसे बंद किया गया है. उन्होने कहा कि इसे वापस शुरू नहीं किया गया तो बीजेपी आंदोलन करेगी. हालांकि, जयपुर के मौजूदा मेयर विष्णु लाटा का कहना है कि यह तकनीकी कमी की वजह से बंद हुई है, इसे बंद नहीं किया गया है. उन्होंने बताया कि रील कंपनी के इंस्ट्रूमेंट नगर निगम में लगे थे जो सभी कमरों में बजते थे और उसके बजते ही लोग अपनी-अपनी कुर्सी से उठकर राष्ट्रगान और राष्ट्रगीत गाते थे, मगर मशीन में अचानक से खराबी आ गई है, जिसकी वजह से राष्ट्रगान और राष्ट्रगीत गीत नहीं बज पा रहा है, हालांकि जो भी गाना चाहता है वह अपनी सीट पर खड़ा होकर गा सकता है. मेयर विष्णु लाटा ने बताया कि हमने कंपनी को इसकी जानकारी दी है और कंपनी ने वादा किया है कि दो दिन के अंदर मशीन को ठीक कर दिया जाएगा. लाटा ने बीजेपी पर जानबूझकर मामले को सियासी रंग देने का आरोप लगाया है. गौरतलब है कि बीजेपी शासन के दौरान नगर निगम में दिन की शुरुआत राष्ट्रगीत से करने और दफ्तर खत्म होने के समय राष्ट्रगान गाने की परंपरा शुरू हुई थी, जिसका तब कई मुस्लिम पार्षदों ने विरोध भी किया था. इसके बाद देश के कई हिस्सों में भी इस तरह की परंपरा शुरू हुई थी. कांग्रेसी शासन के दौरान भी यह परंपरा जारी थी, लेकिन कुछ दिनों से नगर निगम में राष्ट्रगान और राष्ट्रगीत नहीं बज पा रहा है

Top News