taaja khabar....अब शिकंजे में आएगा भगोड़ा मेहुल चोकसी! रेड कॉर्नर नोटिस जारी.....राफेल-राम मंदिर पर लोकसभा में भारी हंगामा, राज्यसभा की कार्यवाही भी स्थगित...कांग्रेस नेता कर्ण सिंह का योगी को पत्र, 'अयोध्या में राम की मूर्ति का साइज कम कर सीता की भी लगाएं मूर्ति'....राजस्थान, मध्य प्रदेश में कांग्रेस सीएम के नाम पर घमासान, उलझा पेच, बैठकों का दौर...केंद्र में नहीं जाऊंगा, एमपी में जिऊंगा, एमपी में ही मरूंगा: शिवराज सिंह चौहान...तीन राज्यों में सीएम के नाम के ऐलान से पहले कांग्रेस समर्थकों में मची होड़, सचिन पायलट के समर्थकों ने किया सड़क जाम...राजस्‍थान: सीएम रेस में अशोक गहलोत आगे, पायलट समर्थक भी झुकने को तैयार नहीं...
एक तरफ पैसे का रोना रो रही है कांग्रेस, दूसरी ओर 5 स्टार होटल में बैठकें
जयपुर, 12 अक्टूबर 2018, कांग्रेस अपने नेताओं को फिजूलखर्ची रोकने का निर्देश जारी कर रही है और राजस्थान में कांग्रेस के नेता टीन-डब्बे लेकर लोगों से चंदा मांग रहे हैं, लेकिन दूसरी तरफ कांग्रेसी अपनी हर बैठक पांच सितारा होटलों में कर रहे हैं. जयपुर में पिछले तीन दिनों में तीन बैठक कांग्रेस ने फाइव स्टार होटल में की. कांग्रेस की इस कथनी और करनी की पार्टी कार्यकर्ताओं से लेकर आम जनता के बीच खूब चर्चा हो रही है. पांच सितारा होटलों में आने वाले कार्यकर्ताओं का कहना है कि अगर फाइव स्टार होटल में बैठकें होंगी, तो पैसे कैसे बचेंगे? राजस्थान कांग्रेस की उपाध्यक्ष और प्रवक्ता अर्चना शर्मा हाथ में पात्र लेकर घर-घर जा रही हैं और लोगों से डोनेशन मांगकर पैसा इकट्ठा कर रही हैं. ये अकेली कांग्रेस नेता नहीं है, जो ऐसा कर रही हैं. इन दिनों हर गली में कांग्रेस के नेता चंदा मांगते हुए दिख जाएंगे. पैसे नहीं होने का राग अलाप रही कांग्रेस एक ओर कांग्रेस चुनाव लड़ने के लिए पैसा नहीं होने का राग अलाप रही है. कांग्रेस का कहना है कि उसके पास चुनाव लड़ने के लिए पैसे नहीं हैं. लिहाजा जनता उसको वोट के साथ ही नोट भी दे. राजस्थान कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट ने तो ट्विटर पर लोगों से डोनेशन मांगा है. रही सही कसर कांग्रेस मुख्यालय ने पूरी कर दी. कांग्रेस हेड क्वार्टर से जारी आदेश में कहा गया कि पार्टी में खर्च कम करने पर ध्यान दिया जाए और दिल्ली से जयपुर तक का सफर भी प्लेन की बजाय ट्रेन से किया जाए. फाइव स्टार होटल में कांग्रेस की बैठकें इसके अलावा कांग्रेस की एक दूसरी तस्वीर भी है. राजस्थान में टिकट के बंटवारे को लेकर रायशुमारी करने के लिए स्क्रीनिंग कमेटी की अध्यक्ष कुमारी सैलजा जयपुर पहुंचीं और फाइव स्टार होटल क्लार्क आमेर में कांग्रेस कार्यकर्ताओं से फीडबैक लिया. होटल के बाहर कार्यकर्ताओं का भारी हुजूम भी देखने को मिला.कांग्रेस के कार्यकर्ता कह रहे हैं कि ये तरीका ठीक नहीं है. दुदू विधानसभा क्षेत्र से आए बाबूलाल राणा कहते हैं कि वो कांग्रेस के घुमंतू घुमंतू प्रकोष्ठ के अध्यक्ष हैं. उन्होंने कहा कि कांग्रेस के नेता गरीबों की सुनते नहीं है. इसलिए ढोल बजाने वालों को साथ लेकर आए हैं, ताकि इनकी कान में आवाज आए. अगर ये फाइव स्टार होटल में मीटिंग करेंगे, तो भला आम कार्यकर्ता इनसे कैसे मिल पाएंगे. नागौर जिले के जायल ब्लॉक के अध्यक्ष त्रिलोकी राम का भी कहना है कि फाइव स्टार होटल में मीटिंग ठीक नहीं है. कांग्रेस की करनी और कथनी में फर्क हैः बीजेपी इससे पहले बुधवार को राहुल गांधी ने खुद यूथ कांग्रेस के नेताओं को पांच सितारा होटल में संबोधित किया था. कांग्रेस अध्यक्ष का दूसरा कार्यक्रम भी पांच सितारा होटल राजपूताना शेरेटन में हुआ था. बीजेपी इसे कांग्रेस की करनी और कथनी में फर्क बता रही है. बीजेपी प्रवक्ता और जयपुर के मेयर अशोक लाहोटी ने कहा कि कांग्रेस की करनी और कथनी में हमेशा से फर्क रहा है. चुनाव लड़ने के लिए पैसा नहीं होने की बात कांग्रेस नेताओं का दिखावा है, जबकि इनकी आदतें हाईवे स्टार वाली हैं. कांग्रेस के नेता एक तरफ बाजारों और घरों में चंदा मांगेगें और दूसरी तरफ मीटिंग फाइव स्टार होटलों में करेंगे, तो सवाल उठेंगे ही. कांग्रेस के खुद के कार्यकर्ता भी कह रहे हैं कि अभी सरकार बनी नहीं है और नेता कार्यकर्ताओं से दूरी बनाने लगे हैं.

Top News

http://www.hitwebcounter.com/