taaja khabar....संघ प्रमुख मोहन भागवत ने कहा- नागपुर से नहीं चलती सरकार, कभी नहीं जाता फोन...जॉब रैकिट का पर्दाफाश, कृषि भवन में कराते थे फर्जी इंटरव्यू...हिज्बुल का कश्मीरियों को फरमान, सरकारी नौकरी छोड़ो या मरो...एमपी, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में भी बीएसपी को चाहिए ज्यादा सीटें...अगस्ता डील के बिचौलिए क्रिश्चियन मिशेल का दुबई से जल्द हो सकता है प्रत्यर्पण....PM मोदी की पढ़ाई पर सवाल उठाकर फंसीं कांग्रेस की सोशल मीडिया हेड स्पंदना, हुईं ट्रोल...
दूसरे चरण में 100 ग्राम पंचायतों में लगेगी “बेटी पंचायतें”
डॉटर्स आर प्रिशियस के साथ पोषण बनेगा जन आन्दोलन ************** बीकानेर। प्रदेशभर सहित बीकानेर जिले में शुक्रवार 14 सितम्बर को चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग द्वारा डॉटर्स आर प्रिशियस महोत्सव तृतीय का आयोजन “बेटी पंचायत” के रूप में होगा। दूसरे चरण में जिले की लगभग 100 ग्राम पंचायतों में ग्रामीणों से बेटी बचाओ विषय पर व्यवहारिक संवाद स्थापित किया जाएगा। प्रथम चरण में 7 सितम्बर को 93 ग्राम पंचायतों पर बेटी पंचायतों का आयोजन कर 9,884 ग्रामीणों से संवाद किया गया था। इसके साथ ही पोषण माह के अंतर्गत ग्रामीणों से पोषण व कुपोषण उपचार पर भी संवाद किया जाएगा और संतुलित आहार पर जानकारी दी जाएगी। अध्यक्ष राज्य समुचित प्राधिकारी पीसीपीएनडीटी एवं मिशन निदेशक श्री नवीन जैन द्वारा चलाई गई इस मुहीम में मूलतः बेटी-बेटे को लेकर प्रचलित अंतरों को भ्रम साबित करने और मिथ्या धारणाओं को तोड़ने का प्रयास किया जाएगा। अतिरिक्त मिशन निदेशक एनएचएम श्रीमती आरुषि मलिक ने बताया कि पूरे प्रदेश में इस दिन लगभग 2 हजार 467 ग्राम पंचायतों में प्रशिक्षित डैप रक्षकों द्वारा बेटी बचाओ का संदेश दिया जायेगा। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. बी.एल. मीणा ने बताया कि इस माह में 25 एवं 28 सितम्बर को भी क्रमबद्ध रूप से बेटी पंचायतों का आयोजन किया जायेगा। अगले 2 चरणों में मिलाकर सितम्बर माह में जिले की समस्त 290 ग्राम पंचायतों तक सन्देश पहुँचाया जाएगा। महोत्सव के तहत ग्राम पंचायतों में पॉवर पाईन्ट प्रस्तुतिकरण तथा वीडियो क्लिप्स के माध्यम से कन्या भ्रूण हत्या के विरूद्ध मजबूत संदेश दिया जाएगा। विभाग द्वारा प्रशिक्षित ‘डेप रक्षक’ यानिकी डॉटर्स आर प्रिशियस रक्षक प्रातः 11 बजे से 5 बजे के बीच जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में अटल सेवा केन्द्रों व अन्य सुलभ स्थानों पर पहुँचकर बेटी बचाओ का शोध आधारित संवाद आयोजित करेंगे। एडीएनओ आरबीएसके डॉ. मनुश्री सिंह ने बताया कि डैप रक्षकों के रूप में स्वास्थ्य विभाग के चिकित्साधिकारी, आयुष चिकित्सक, आशा सुपरवाइजर, मेलनर्स, एएनएम, फार्मासिस्ट के अलावा शिक्षा विभाग से गुरुजन, आयुर्वेद विभाग से आयुष अधिकारी व महिला एवं बाल विकास विभाग से सुपरवाइजर स्वयंसेवक के रूप में योगदान देंगे। “बेटी पंचायत” को लेकर जिला मुख्यालय व नोखा में 40 डेप रक्षकों / कन्या रक्षकों को ‘बेटियां अनमोल है’ संदेश प्रभावशाली ढंग से आमजन के दिलों में पहॅुचाने का प्रशिक्षण भी दिया गया।

Top News

http://www.hitwebcounter.com/