taaja khabar....संघ प्रमुख मोहन भागवत ने कहा- नागपुर से नहीं चलती सरकार, कभी नहीं जाता फोन...जॉब रैकिट का पर्दाफाश, कृषि भवन में कराते थे फर्जी इंटरव्यू...हिज्बुल का कश्मीरियों को फरमान, सरकारी नौकरी छोड़ो या मरो...एमपी, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में भी बीएसपी को चाहिए ज्यादा सीटें...अगस्ता डील के बिचौलिए क्रिश्चियन मिशेल का दुबई से जल्द हो सकता है प्रत्यर्पण....PM मोदी की पढ़ाई पर सवाल उठाकर फंसीं कांग्रेस की सोशल मीडिया हेड स्पंदना, हुईं ट्रोल...
आकस्मिक निरीक्षण में कई दिनों से बिना सूचना अनुपस्थित मिले चिकित्सक
सीएमएचओ डॉ. मीणा ने किया जवाब तलब बीकानेर। जिले के ग्रामीण स्वास्थ्य केन्द्रों में गुणवत्तापूर्ण सेवाओं की उपलब्धता सुनिश्चित करने के क्रम में सोमवार प्रातः सीएमएचओ डॉ. बी.एल. मीणा ने श्रीडूंगरगढ़ ब्लॉक की पीएचसी शेरुणा और लखासर का आकस्मिक निरीक्षण किया। दोनों ही अस्पतालों के चिकित्सक नदारद मिले। हाजरी रजिस्टर चेक करने पर पता चला कि ये चिकित्सक तो पिछले कई दिनों से बिना सूचना गायब हैं। डॉ. मीणा ने कार्य के प्रति घोर लापरवाही के चलते शेरुणा के चिकित्साधिकारी डॉ. दौलतराम भारी और लखासर की डॉ. नीलम पांडे को नोटिस जारी कर जवाब तलब किया ळें गौरतलब है कि गत शनिवार को भी तीन अस्पतालों के चिकित्सक निरीक्षण में अनुपस्थित मिले थे जिन्हें कारण बताओ नोटिस जारी किया गया था। डॉ. मीणा ने बताया कि चिकित्सालयों की जांच का सघन अभियान चलाकर ये सुनिश्चित करने का प्रयास किया जा रहा है कि जिले के कोने-कोने में स्वास्थ्य सेवाएं चाक-चैबंद रहें। उन्होंने बताया कि जिन पीएचसी-सीएचसी को कई-कई दिन चिकित्सक के दर्शन न हो वहां के निवासियों का स्वास्थ्य जोखिम मे पड़ सकता है। विशेषकर मानसून के चलते मौसमी बीमारियों के फैलाव के लिए ये समय अनुकूल है और चिकित्सकों को पूरी मुस्तैदी के साथ अपने सेक्टर में स्वास्थ्य सेवाओं को संभालना चाहिए। मौसमी बीमारियों की रोकथाम व फ्लैगशिप कार्यक्रमों का लाभ लाभार्थी तक पहुँचाने में किसी प्रकार की लापरवाही को गंभीरता से लिया जा रहा है।

Top News

http://www.hitwebcounter.com/