taaja khabar....दुनियाभर में खुले नए बैंक खातों में से 55 प्रतिशत भारत में खुले...ट्रंप की नई नीति से मिलिटरी ड्रोन की खरीद होगी आसान, भारत को होगा फायदा....महाभियोग पर कांग्रेस के भीतर विरोध बढ़ा, पूर्व कानून मंत्री अश्विनी कुमार ने कहा- मैं नहीं करता साइन....सीजफायर उल्लंघन के जवाब में पाक के साथ एलओसी दबाव बनाना जारी रखेगी सेना....प्रधानमंत्री मोदी ने जर्मन चांसलर मर्केल से बर्लिन में की मुलाकात...सूरत रेप केस: बंधुआ मजदूरी के लिए 35 हजार में खरीदी गई थी बच्ची और उसकी मां.....नाबालिगों से रेप मामले में मौत की सजा पर आज लग सकती है कैबिनेट की मुहर....PIL से नाराज सुप्रीम कोर्ट ने वकील से पूछा- क्या आपके रिश्तेदार से हुआ रेप?...विपक्ष के महाभियोग को हथियार बना एक तीर से दो निशाने साधने की तैयारी में BJP....
मस्जिद के सेक्रेटरी ने भी माना, सांप्रदायिक नारे लगाने वाले आप के नेता थे
नई दिल्ली, रामनवमी के दिन दिल्ली शाहदरा इलाके में जिस तरह से मस्जिद के बाहर जो नारे लगे, उसने अब राजनीतिक रूप ले लिया है. आम आदमी पार्टी के विधायक अमानतुल्ला ने उस घटना को बीजेपी की सजिश करार दिया तो वहीं बीजेपी ने आप के खिलाफ उस घटना के सबूत लाकर आम आदमी पार्टी की पोल खोल दी है. शाहदरा इलाके की मस्जिद में रामनवमी के दिन क्या कुछ हुआ, इस बारे में हमने शाहदरा स्थित मस्जिद के सेक्रेटरी वसीम से बात की तो उन्होंने माना कि रामनवमी के दिन मस्जिद के बाहर माहौल खबर करने की कोशिश की गई. एक समाज की भावनाओं को आहत किया गया. मस्जिद के बाहर गलत तरह के नारे लगाए गए. साथ ही मस्जिद के सेक्रेटरी ने ये भी माना कि जो तस्वीर मीडिया में सामने आ रही है, उस एक तस्वीर में मौजूद शख्स को उन्होंने इलाके के आम आदमी पार्टी के विधायक और विधानसभा के अध्यक्ष राम निवास गोयल के साथ देखा है. मस्जिद के सेक्रेटरी का ये बयान आम आदमी पार्टी के लिए किसी नई मुसीबत से कम नहीं है, क्योंकि जो आरोप आम आदमी पार्टी बीजेपी पर लगा रही है, उसे मस्जिद के सेक्रेटरी वसीम का बयान खारिज कर रहा है और सरकार के आरोपों को कहीं ना कहीं झुठला दिया है. हालांकि कई लोगों ने उनको पहुंचने से मना भी किया. कौन थे वो लोग इलाके के आरडब्लूए के अध्यक्ष राजेश तिवारी की मानें तो जो लोग रामनवमी के दिन जलूस में आए, उन्होंने 15 मिनट तक मस्जिद के बाहर तलवारें दिखाईं और सांप्रदायिक नारे भी लगाए, जो कि इलाके के माहौल को खराब करने वाला था. वहां रहने वाले लोगों ने ये भी माना कि जब भी देश में या कहीं भी हिन्दू-मुसलमान के बीच कोई विवाद होता है, उस वक्त भी इस इलाके में कुछ नहीं होता. इलाके के लोगों का कहना है कि दिल्ली में राजनीतिक पार्टियां जो इस जुलूस को लेकर राजनीति कर रही हैं, वो गलत है.

Top News

http://www.hitwebcounter.com/