taaja khabar....अमेरिका ने भारत को हथियार क्षमता वाले गार्जियन ड्रोन देने की पेशकश की: सूत्र....अविश्वास प्रस्ताव: मोदी सरकार को मिलेगा विपक्ष पर निशाना साधने का मौका....संसद भवन पर हमले के लिए निकले हैं खालिस्तानी आतंकी: खुफिया इनपुट....धरती के इतिहास में वैज्ञानिकों ने खोजा 'मेघालय युग'....कठुआ केस में नया मोड़, पीड़िता के 'असल पिता' कोर्ट में होंगे पेश...निकाह हलाला: बरेली में ससुर पर रेप का केस, अप्राकृतिक सेक्‍स के लिए पति पर भी मुकदमा...मॉनसून सत्र: अविश्वास प्रस्ताव का समर्थन नहीं करेगी शिवसेना?....देश के हर गांव को जाएगा कुंभ का न्योता, योगी पत्र लिख मुख्यमंत्रियों को बुलाएंगे....क्या अविश्वास प्रस्ताव के मुद्दे पर मोदी सरकार के दांव में फंस गया विपक्ष?...लखनऊ में बड़े कारोबारी के यहां छापे, 89 किलो सोना-चांदी बरामद, 8 करोड़ कैश भी...
हेकड़ी दिखाई तो बिजली के झटके देगी ट्रैफिक पुलिस
नई दिल्ली नियम तोड़ने के आरोप में पकड़े जाने के बाद ट्रैफिक पुलिस को हेकड़ी दिखाने वाले जरा संभल जाएं। अब अगर ऐसी कोशिश की तो पुलिस स्टनगन और पेपर स्प्रे का यूज कर सकती है। राजधानी की ट्रैफिक पुलिस को स्टनगन और पेपर स्प्रे से लैस किया जा रहा है। स्टनगन शॉट लगने से जहां आदमी को बिजली का झटका लगेगा, वहीं पेपर स्प्रे से आंखों में तेज जलन महसूस होगी।दिल्ली पुलिस के स्पेशल कमिश्नर दीपेंद्र पाठक (ट्रैफिक पुलिस) का कहना है कि 500 से ज्यादा बाइकों पर ड्यूटी देने वाले जवानों को इन साजोसामान से लैस किया जा रहा है। न सिर्फ ट्रैफिक पुलिस की बाइकों को नया लुक दिया जा रहा है, बल्कि जवानों को भी अमेरिका और इंग्लैंड की पुलिस की तरह स्मार्ट बनाया जा रहा है। ये सारे इंतजाम फरवरी तक कर लिए जाएंगे। एक अन्य पुलिस अधिकारी के मुताबिक, दिल्ली में ट्रैफिक पुलिस की 700 बाइकें हैं। इनमें 500 को नया लुक दिया जा रहा है। इसके लिए नई और महंगी बाइक्स नहीं खरीदी जा रही हैं। बाइक वही पुरानी होंगी, लेकिन उसका लुक नया और स्मार्ट होगा। जाम खुलवाने का इंतजाम जवानों के कंधे पर पीए सिस्टम (पब्लिक अनाउंसमेंट) के लिए माइक होगा, जिसकी मदद से जाम खुलवाया जा सकेगा। हर बाइक को पीए सिस्टम से लैस किया जाएगा। सायरन तो होगा ही, जवानों के पास टॉर्च और स्पेशल जैकेट भी होंगी। कैमरे में कैद होंगी सभी बातें जवान के दूसरे कंधे के एकदम नीचे शर्ट पर कैमरा लगा होगा। इसमें पुलिस की आरोपी से होने वाली तमाम बातें रिकॉर्ड हो जाएंगी। इस रिकॉर्डिंग की मदद से आरोपी की जांच करने में आसानी होगी। हर जवान को ग्लॉक पिस्टल हर जवान को एक ग्लॉक पिस्टल भी दी जाएगी। कोई ट्रैफिक पुलिस के जवान को जान से मारने की कोशिश करता है या जवान कहीं क्राइम देखता है तो वह जरूरत के हिसाब से इसका यूज कर सकेगा।

Top News

http://www.hitwebcounter.com/