taaja khabar....PNB ने अन्य बैंकों को चिट्ठी लिख किया सचेत, 10 अधिकारी निलंबित.....PNB केस की INSIDE स्टोरी: 7 साल पहले हुआ था फ्रॉड, सरकार की सख्ती से खुलासा....बिहार के आरा में आतंकियों के कमरे में धमाका, बड़ी साजिश नाकाम, 4 फरार.....तीन दिन में तीन यात्राएं, चुनावी मोड में बीजेपी, निशाना 2019 पर...मोदी केयर' पर केंद्र ने राज्यों की बुलाई बैठक, ममता पहले ही झाड़ चुकी हैं पल्ला....
5 दिसंबर से राहुल फिर गुजरात दौरे पर, अध्यक्ष पद के लिए कल भरेंगे नामांकन
नई दिल्ली, कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी फिर से पार्टी के लिए प्रचार करने गुजरात जाएंगे. राहुल 5 और 6 दिसंबर को कच्छ, मोरबी और सुरेंद्र नगर का दौरा करेंगे. गुजरात विधानसभा चुनाव के चलते राहुल लगभर पूरे राज्य में चुनावी रैलिया, रोड शो और नुक्कड़ सभाएं कर चुके हैं. लेकिन गुजरात जाने से पहले 4 तारीख को उन्हें अध्यक्ष पद के लिए नामांकन करना है. गुजरात चुनाव के प्रचार में व्यस्त कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी को पार्टी की कमान सौंपने की पूरी तैयारी हो चुकी है. राहुल गांधी चार दिसंबर को कांग्रेस मुख्यालय में अध्यक्ष पद के लिए अपना नामांकन दाखिल करेंगे. इसी निर्वाचन की प्रक्रिया में शनिवार को उत्तर प्रदेश कांग्रेस के नेताओं ने राहुल गांधी के नाम का नामांकन प्रस्ताव पेश किया. यूपी कांग्रेस ने पास किया प्रस्ताव यूपी में कांग्रेस के संगठनात्मक चुनाव के प्रदेश चुनाव अधिकारी और उत्तराखंड के पूर्व मंत्री किशोर उपाध्याय के सामने प्रदेश कांग्रेस नेता रामकृष्ण द्विवेदी के नेतृत्व में राहुल के नाम का नामांकन प्रस्ताव प्रस्तुत किया गया. प्रदेश कांग्रेस सदस्यों ने पूर्व में ही राहुल गांधी को अध्यक्ष बनाये जाने संबंधी प्रस्ताव को सर्वसम्मति से पारित किया था. साइन पर हुआ संग्राम कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने बुधवार को भी गुजरात में पार्टी के लिए प्रचार किया था. इस दौरे में उन्होंने राज्य के गिर सोमनाथ जिले में स्थित प्रसिद्ध सोमनाथ मंदिर के दर्शन भी किए थे. दर्शन के बाद यहां रखे रजिस्टर पर साइन करने के मामले पर राजनीतिक भूचाल आ गया. इस रजिस्टर पर सिर्फ गैर हिन्दू लोग साइन करते हैं लेकिन कांग्रेस का आरोप हैं कि राहुल गांधी ने इस दस्तखत किए हैं. सवालों में घिरने के बाद कांग्रेस पार्टी ने सफाई दी कि रजिस्टर पर राहुल ने साइन नहीं किए बल्कि ये बीजेपी की साजिश है. कांग्रेस ने राहुल गांधी को जनेऊधारी हिन्दू तक बता दिया, बावजूद इसके बीजेपी के तमाम मंत्री और नेता अब भी राहुल के धर्म को लेकर उनसे तीखे सवाल पूछ रहे हैं.

Top News

http://www.hitwebcounter.com/