taaja khabar....अब शिकंजे में आएगा भगोड़ा मेहुल चोकसी! रेड कॉर्नर नोटिस जारी.....राफेल-राम मंदिर पर लोकसभा में भारी हंगामा, राज्यसभा की कार्यवाही भी स्थगित...कांग्रेस नेता कर्ण सिंह का योगी को पत्र, 'अयोध्या में राम की मूर्ति का साइज कम कर सीता की भी लगाएं मूर्ति'....राजस्थान, मध्य प्रदेश में कांग्रेस सीएम के नाम पर घमासान, उलझा पेच, बैठकों का दौर...केंद्र में नहीं जाऊंगा, एमपी में जिऊंगा, एमपी में ही मरूंगा: शिवराज सिंह चौहान...तीन राज्यों में सीएम के नाम के ऐलान से पहले कांग्रेस समर्थकों में मची होड़, सचिन पायलट के समर्थकों ने किया सड़क जाम...राजस्‍थान: सीएम रेस में अशोक गहलोत आगे, पायलट समर्थक भी झुकने को तैयार नहीं...
दिल्ली: फिर छिड़ सकती है सरकार और अधिकारियों की जंग, ट्रांसपोर्ट मिनिस्टर पर बदसलूकी का आरोप
नई दिल्ली: दिल्ली सरकार और अधिकारियों के बीच फिर झगड़ा हो गया है. इस बार परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत पर ट्रांसपोर्ट कमिश्नर वर्षा जोशी के साथ बदसलूकी का आरोप लगा है. वर्षा जोशी के समर्थन में दिल्ली के आईएएस अधिकारी एकजुट हो गए हैं और उन्होंने मंत्री कैलाश गहलोत से माफी की मांग की है. आपको बता दें कि इससे पहले मुख्य सचिव से बदसलूकी को लेकर भी आईएएस अधिकारियों और दिल्ली सरकार के बीच लंबी तकरार हुई थी. केजरीवाल सरकार ने आरोप लगाया था कि आईएएस अधिकारी काम नहीं कर रहे हैं. मुख्यमंत्री केजरीवाल समेत कई अधिकारी हफ्ते भर उपराज्यपाल के दफ्तर में धऱने पर बैठे थे, वहीं से केजरीवाल ने अधिकारियों को पूरे सम्मान और सुरक्षा का भरोसा दिया था, जिसके बाद अधिकारी काम पर लौटे थे. दिल्ली गवर्नमेंट एंप्लायज एसोशिएशन ने ट्वीट किया, ''सही तरीके से अपना काम करने पर ईमानदार अधिकारियों को एक बार फिर निशाना बनाया जा रहा है. झूठे आरोप लगाए जा रहे हैं और स्पष्ट राय व्यक्त करने के लिए गरिमा पर हमला किया जा रहा है. माननीय मुख्यमंत्री से आश्वासन मिलने के बावजूद, गरिमा के लिए कोई सम्मान नहीं है.'' आप के बागी विधायक कपिल मिश्रा ने इस मामले पर दिल्ली सरकार पर सीधा हमला बोला है. कपिल मिश्रा ने ट्वीट किया, ''2500 करोड़ रुपये का काम बिना टेंडर देना चाहते थे AAP के मंत्री. IAS ऑफिसर ने मना किया तो मंत्री ने सबके सामने अपमानित किया. आम आदमी पार्टी से अपमानित सभी अधिकारियों में एक बात क्या समान है. ये सभी अधिकारी ईमानदार हैं, इसका ट्रैक रिकॉर्ड क्लियर है और करप्शन का जीरो चार्ज है.'' क्या है मामला? दिल्ली सरकार 1000 इलेक्ट्रिक बस किराए पर लेना चाहती है. इस योजना की लागत 2500 करोड़ रुपये है. इसी को लेकर ट्रांसपोर्ट मंत्री कैलाश गहलोत ने मीटिंग बुलाई थी. ट्रांसपोर्ट सचिव वर्षा जोशी ने डीपीआर बनाने की वकालत की थी. वर्षो जोशी ने DIMTS को सलाहकार नियुक्त करने पर आपत्ति जताई थी. आरोप है कि इसी बात पर गहलोत ने वर्षा को फटकार लगाई.

Top News

http://www.hitwebcounter.com/