taaja khabar..भारत में बड़ा आतंकी हमला करने की फिराक में है इस्लामिक स्टेट, रूस ने साजिश रच रहे आत्मघाती हमलावर को हिरासत में लिया..भाजपा का सिसोदिया पर पलटवार, कहा- केजरीवाल जिसे देते हैं ईमानदारी का सर्टिफिकेट वो जरूर जाता है जेल..शहनवाज हुसैन को सर्वोच्च न्यायालय से मिली बड़ी राहत, हाई कोर्ट के आदेश पर लगी रोक..आबकारी घोटाले में 'टूलकिट माड्यूल' की जांच, स्टैंडअप कामेडियन और हैदराबाद से जुड़े शराब के व्यापारी भी रडार पर..प्रधानमंत्री 24 अगस्त को हरियाणा और पंजाब में अस्पतालों का उद्घाटन करेंगे..आबकारी नीति मामला: भाजपा की दिल्ली इकाई का केजरीवाल के आवास के बाहर प्रदर्शन..

सच होती आशंकाएं खालिस्तानी निशाने पर पंजाब

1980 के दशक के आतंकवादी दौर जैसी स्थिति पंजाब में फिर बनते दिखने लगी है।शायद उससे भी ज्यादा बदतर। खालिस्तानी आतंकवादियों ने जिस तरह 9 मई की रात मोहाली में स्थित पंजाब की खुफिया पुलिस के मुख्यालय पर rpg से हमला कर पंजाब सरकार और पुलिस को चुनौती दी है ,वह बहुत ही गम्भीर और चिंताजनक है।पंजाब में एक के बाद एक आतंकवादी हरकते सामने आ रही हैं और पंजाब पुलिस आम आदमी पार्टी के मुखिया अरविंद केजरीवाल के विरोधियों को निपटाने में लगी हैं।विरोधी भी कौन जो केजरीवाल पर खालिस्तानी समर्थक होने के आरोप लगा रहे हैं।कुमार विश्वास,कांग्रेसी नेता और केजरीवाल की पूर्व सहयोगी अलका लांबा,bjp नेता तेजिंदर सिंह बग्गा ,पूर्व पत्रकार और अब bjp के नेता नवीन कुमार।ये वे लोग हैं जो केजरीवाल और आम आदमी पार्टी के साथ खालिस्तानियों की नजदीकियों पर सवाल उठाते रहते हैं।केजरीवाल अपने आपको कट्टर देशभक्त होने की डींगें हांक लोगों को मूर्ख बनाने में लगे रहते हैं।उनके इस सियारी चेहरे को जो सेना पर सवाल उठाता है,जो एयर स्ट्राइक और सर्जिकल स्ट्राइक पर सवाल उठाता है,जो jnu में देश के टुकड़े करने वालों के साथ खड़ा रहता है और जो चुनावों में खालिस्तानी नेता के साथ मंच सांझा करता है,खालिस्तानी नेता के घर को अपना चुनावी ठिकाना बनाता है।वह सियारी चेहरा जो हिमाचल प्रदेश में सत्ता पाने के लिए एक खालिस्तानी जो खालिस्तान जिंदाबाद कहने को सिखों का अधिकार बताता है को अपनी टीम में शामिल करता है।खालिस्तान के खिलाफ एक शब्द नहीं बोलता।उसके इस चेहरे को कोई बेनकाब न कर दे इसलिए झूठे केस दायर करवा पंजाब पुलिस के जरिये सबक सिखाने में लगा है। पंजाब पुलिस प्रदेश की कानून व्यवस्था को सुधारने के बजाय केजरीवाल की मेरे हाथ में पुलिस आ जाने दो सबके दिमाग ठिकाने लगा दूंगा ।सबको जेलों में डाल दूंगा की धमकियों को अमली जामा पहनाने में लगी है।पंजाब में rdx पकड़ा जा रहा है। पंजाब से हथियार और ied लेकर जा रहे 4 आतंकवादी करनाल में पकड़े जाते हैं।9 मई को आतंकवादी rpg के साथ माहोली पहुंच जाते हैं और पुलिस मुख्यालय पर हमला कर देते हैं।29 अप्रैल को पटियाला में सरे आम नंगी तलवारें लहरा खालिस्तानी नारे लगाते हुए खालिस्तानी झंडे फहराए जाते हैं।दुकानों में घुस तलवारों से हमले की कोशिश की जाती है पर पंजाब के cm भगवंत मान और आप नेताओं को न झंडे लहराते दिखते हैं और न ही खालिस्तानी नारे सुनाई देते हैं।जिसे पूरा देश खालिस्तानी घटना मान उसकी निंदा कर रहा है, आम आदमी पार्टी के नेता और पंजाब के cm उसे bjp, कांग्रेस और अकालियों की पंजाब का अमन बिगाड़ने की साजिश बता खालिस्तानियों की हरकतों को दबाने में लगे हैं।ऐसे में पंजाब में आतंकवादियों के हौंसले तो बुलंद होने ही हैं।jk में आतंकवादियों की कमर टूटने के बाद पाकिस्तान की isi पिछले कुछ समय से पंजाब में हालात बिगाड़ने की कोशिशों में लगी है। माना जा रहा है कि पंजाब में आम आदमी पार्टी की एक कमजोर और अनुभवहीन,खालिस्तानियों के प्रति नरम रवैया रखने वाली सरकार बनने के बाद उसकी सक्रियता और बढ़ गई है। पंजाब के हालात को लेकर मुख्यमंत्री भगवंत मान और आप के मुखिया अरविंद केजरीवाल सख्त कार्रवाई करेंगे,बख्शे नहीं जाएंगे,ऐसा सबक सिखाएंगे,किसी को शांति और आपसी भाईचारा बिगड़ने नहीं देंगे जैसे बयानों के इतर कुछ नहीं कर रहे हैं।सिख फ़ॉर जस्टिस के मुखिया गुरपतवंत सिंह पन्नू के हरियाणा के dm कार्यालयों पर 29 अप्रैल को खालिस्तानी झंडे लगाने की धमकी भर से हरियाणा सरकार ने उसके खिलाफ uapa सहित कई धाराओं में मामला दर्ज करवा दिया।धर्मशाला में खालिस्तानी झंडे लगाने की जिम्मेदारी लेने पर हिमाचल सरकार ने पन्नू के खिलाफ uapa में मामला दर्ज कर उसकी गिरफ्तारी के लिए इंटरपोल की मदद लेने की घोषणा कर दी परन्तु पंजाब में खुफिया पुलिस के मुख्यालय पर हमला करने की जिम्मेदारी लेने वाले पन्नू के खिलाफ पंजाब में कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है।पन्नू लगातार बयान दे रहा है कि सिख फ़ॉर जस्टिस और खालिस्तानियों ने चुनाव में आम आदमी पार्टी की मदद की उसे 46 करोड़ रुपये की फंडिंग की।पन्नू ने cm मान को एक चिट्ठी लिख विधान सभा में खालिस्तान रेफरेंडम का प्रस्ताव जल्द पारित करने को कहा है।चिट्ठी में कहा गया बताया जा रहा है कि पन्नू ने चुनाव में की गई मदद के बदले अब खालिस्तान रेफरेंडम का प्रस्ताव लाने की बात कही गई है।आम आदमी पार्टी पन्नू की ओर से दिए जा रहे बयानों को बहरों की तरह सुन रही है।अभी तक पन्नू को लेकर आम आदमी पार्टी की ओर से एक भी बयान नहीं आया है।खालिस्तानियों को लेकर आप की रहस्यमय चुप्पी पर लगातार सवाल उठ रहे हैं और इसे खालिस्तानियों के हौंसले बढ़ने की असली वजह भी माना जा रहा है।मान और उनकी सरकार पंजाब के हालात सुधारने से ज्यादा केजरीवाल की सियासी महत्वाकांक्षाओं को पूरा करने में लगी है।cm मान पंजाब के सरकारी खजाने से अपने आका को गुजरात और हिमाचल के दौरे करवाने में लगे हैं।खाली खजाना होने के बावजूद देश भर के अखबारों में पूरे पूरे पेज के महंगे विज्ञापन दिए जा रहे हैं ताकि जहां जहां चुनाव हैं इनका फायदा आम आदमी पार्टी को मिल सके और केजरीवाल को सके राष्ट्रीय नेता के रूप में स्थापित किया जा सके।पंजाब में खत्म होते अमन चैन के बाद अब धीरे धीरे लोग महसूस कर रहे हैं कि आम आदमी पार्टी की सरकार बना उन्होंने एक बड़ी भूल कर दी है।केजरीवाल और मान जिस मॉडल की बात कर रहे थे वह केवल एक छलावा भर था।प्रदेश में न ड्रग माफिया और न ही रेत माफिया के खिलाफ कोई कार्रवाई हुई है।कर्ज से डूबे किसान पूर्व की तरह आत्महत्याएं कर रहे हैं।किसानों को मुआवजा देने दूर बदले में लाठियां मिल रही हैं।महिलाओं को एक एक हजार रुपये हर महीने की बात तक नहीं हो रही है।खतरा इस बात का है कि दिल्ली की तरह राजस्व के लिए पंजाब में भी शराब की दुकानें बढ़ाई जा सकती हैं।पंजाब सरकार और पुलिस इसी तरह अगर केजरीवाल की महत्वाकांक्षाओं को पूरा करने को तरजीह देती रही और खालिस्तानियों के खिलाफ सख्ती नहीं की गई तो आने वाले दिनों में प्रदेश के हालात और ज्यादा भयावह हो सकते हैं।सबसे बड़ी चिंता की बात यह है कि खालिस्तानी आतंकवादियों के हाथ rpg जैसे खतरनाक हथियार पहुंच चुके हैं।जिनसे बड़ी तबाही मचाई जा सकती है।पंजाब के cm भगवंत मान को सभी चीजों को छोड़ प्रदेश की कानून व्यवस्था को सुधारने की ओर ध्यान देना चाहिए।केजरीवाल लगातार दावे करते आ रहे हैं कि एक बार पुलिस मेरे को दे दो देखो कैसे कानून व्यवस्था ठीक करता हूं।अब पुलिस उसके पास है।दो महीने होने को हैं प्रदेश की कानून व्यवस्था में रति भर सुधार नहीं हुआ है।उनके पास जो चमत्कारिक नुस्खा है उसका इस्तेमाल करें। डपोलशंख की तरह डींगे हांकना अब बंद कर ,कोई चमत्कार करके दिखाएं।मदन अरोड़ा

Top News