taaja khabar...सावधान! चीन से आ रहे हैं खतरनाक सीड पार्सल, केंद्र ने राज्यों और इंडस्ट्री को किया सतर्क....लद्दाख से अरुणाचल प्रदेश तक हवाई हमले की ताकत जुटा रहा चीन, सैटलाइट तस्‍वीर से खुलासा..स्वतंत्रता दिवस से पहले गड़बड़ी की बड़ी साजिश, दिल्ली में भी विदेश से आए 'जहरीले' कॉल....सुशांत सिंहः बीजेपी ने कहा, राउत और आदित्य का CBI करे नार्को, राहुल और प्रियंका गांधी तोड़ें चुप्पी..विदेश मंत्री जयशंकर बोले- भारत और चीन पर दुनिया का बहुत कुछ निर्भर करता है...चीन को बड़ा झटका देने की तैयारी, गडकरी ने बताया क्या है प्लान...कोरोना पर खुशखबरी, देश में 70% के पास पहुंचा कोरोना मरीजों का रिकवरी रेट...सुशांत के पिता पर टिप्पणी कर फंसे शिवसेना नेता संजय राउत, परिवार करेगा मानहानि का केस...राहुल-प्रियंका से मिले सचिन पायलट, घर वापसी कराने की कोशिशें तेज ...पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी कोरोना पॉजिटिव हुए, अस्पताल में भर्ती ...कोरोना पॉजिटिव पाए गए केंद्रीय मंत्री अर्जुन राम मेघवाल, AIIMS में भर्ती ...दिल्ली हिंसा: आरोपी गुलफिशा ने किए चौंकाने वाले खुलासे, 'सरकार की छवि खराब करना था मकसद' ...

रक्त में इंसुलिन बढ़ाने का काम करता है पपीता, इन लोगों को करना चाहिए नियमित सेवन

Papaya For Diabetes: रक्त में इंसुलिन बढ़ाने का काम करता है पपीता, इन लोगों को करना चाहिए नियमित सेवनहम सभी जानते हैं कि पपीता हम सभी के लिए बहुत लाभकारी होता है। लेकिन कम ही लोगों को इस बात की जानकारी है कि शुगर के रोगियों के लिए पपीता एक आयुर्वेदिक औषधि की तरह काम करता है। यदि नियमित रूप से और सीमित मात्रा में हर दिन डायबिटीज के पेशंट पपीता खाएं तो उन्हें कभी भी शुगर बढ़ने की शिकायत नहीं होगी... शुगर को नियंत्रित करने का आसान तरीका मधुमेह या डायबिटीज एक ऐसी बीमारी है, जो अब हर उम्र के लोगों को अपना शिकार बना रही है। एक समय था जब आमतौर पर 50 की उम्र के बाद ही यह बीमारी हुआ करती थी। लेकिन अब तो टीनेजर्स भी इसकी चपेट में आ रहे हैं। हम नहीं चाहते कि आपको कोई ऐसा सुझाव दें, जिसे जीवन में उतारना संभव ना हो इसलिए एक आसान तरीका आपके लिए लेकर आए हैं... जीवनभर पीछा नहीं छोड़ती मधुमेह या डायबिटीज की समस्या अगर एक बार किसी को हो जाती है तो फिर जीवनभर उस व्यक्ति का पीछा नहीं छोड़ती। यानी यह एक लाइलाज बीमारी है। आप इसे सिर्फ कंट्रोल कर सकते हैं। इसके लिए आपको अपने खान-पान की आदतों और जीवनशैली में कुछ जरूरी बदलाव करने की जरूरत होती है। अपनी डेली डायट में इसे शामिल करें डायबिटीज या शुगर के मरीजों को अपनी डेली डायट में पके हुए पपीते का सेवन करना चाहिए। आप इसकी सलाद बनाकर खा सकते हैं। नाश्ते और लंच के बीच के समय में या फिर लंच और डिनर के बीच के समय में इसे खाना सबसे अधिक उपयोगी होता है। कच्चा पपीता भी है लाभकारी जितना लाभकारी पका हुआ पपीता होता है, उतना ही फायदेमंद कच्चा पपीता भी होता है। इस कच्चे पपीते को आप सब्जी और अचार के रूप में उपयोग कर सकते हैं। शुगर के मरीजों के लिए पपीता खाना बिल्कुल किसी औषधि के सेवन जैसा होता है। पपीते में होते हैं ढेरों गुण पपीता बहुत गुणकारी फल है। इसमें विटमिन-ए और विटमिन-सी भरपूर मात्रा में पाया जाता है। विटमिन-ए शुगर का असर हमारी आंखों पर नहीं होने देता है और आंखों की रोशनी को सही बनाए रखने का काम करता है। -वहीं, विटमिन-सी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बनाए रखने और बढ़ाने का काम करता है। दरअसल, शुगर के बढ़े हुए स्तर के कारण हमारे शरीर में इम्यून सेल्स की कमी होने लगती है। पपीते में पाया जानेवाला विटमिन-सी इम्यून सेल्स की संख्या बढ़ाने में सहायक होता है। मैग्नीशियम और पोटैशियम पपीते में मैग्नीशियम और पोटैशियम बहुत ही संतुलित मात्रा में पाए जाते हैं। ये दोनों ही तत्व हमारे शरीर की हमारे शरीर को स्वस्थ रखने के लिए बेहद जरूरी होते हैं। मैग्नीशियम हमारे शरीर में ऊर्जा का प्रवाह बनाए रखने में सहायक होता है। साथ ही डेड स्किन सेल्स को हटाने, डैमेज बॉडी सेल्स को रिपेयर करने और ब्लड के फ्लो को बनाए रखने में भी इसका सहयोग होता है। -पोटैशियम भी हमारे शरीर के लिए बेहद जरूरी मिनरल है। यह हमारे शरीर में फ्लूइड को संतुलित करने में सहायक है। हमारी मसल्स को ठीक तरह से काम करने में मदद करता है। साथ ही पोटैशियम हमारे शरीर में नर्व्स के सिग्नल्स भेजने में मदद करता है। यह हमें किडनी स्टोन, हार्ट अटैक जैसी जानलेवा बीमारियों से भी सुरक्षा देता है। इंसुलिन की मात्रा बढ़ाता है विटमिन और मिनरल्स की संतुलित मात्रा के कारण पपीता प्राकृतिक रूप से हमारे शरीर में बढ़े हुए शुगर के स्तर को कम करता है। जब रक्त में ग्लूकोज की मात्रा सीमित हो जाती है तो इंसुलिन का स्तर भी ठीक हो जाता है। इससे डायबिटीज के रोगियों को शुगर बढ़ने के कारण होनेवाली समस्याओं से मुक्ति मिल जाती है। इस बात का रखें ध्यान पपीता गुणकारी होता है, इसका अर्थ यह बिल्कुल नहीं है कि आप एक बार में बहुत अधिक मात्रा में पपीता खा लें। आप हर दिन एक छोटे पपीते का सेवन कर सकते हैं। -ध्यान रखें कि पपीते को चाकू से काटने या छीलने के बाद 6 घंटे के अंदर ही खा लेना चाहिए। इस कटे हुए पपीते को फ्रिज में स्टोर ना करें।

Top News