taaja khabar..भारत में बड़ा आतंकी हमला करने की फिराक में है इस्लामिक स्टेट, रूस ने साजिश रच रहे आत्मघाती हमलावर को हिरासत में लिया..भाजपा का सिसोदिया पर पलटवार, कहा- केजरीवाल जिसे देते हैं ईमानदारी का सर्टिफिकेट वो जरूर जाता है जेल..शहनवाज हुसैन को सर्वोच्च न्यायालय से मिली बड़ी राहत, हाई कोर्ट के आदेश पर लगी रोक..आबकारी घोटाले में 'टूलकिट माड्यूल' की जांच, स्टैंडअप कामेडियन और हैदराबाद से जुड़े शराब के व्यापारी भी रडार पर..प्रधानमंत्री 24 अगस्त को हरियाणा और पंजाब में अस्पतालों का उद्घाटन करेंगे..आबकारी नीति मामला: भाजपा की दिल्ली इकाई का केजरीवाल के आवास के बाहर प्रदर्शन..

हार्ट की बीमारियों से दो गज की दूरी के लिए जरूरी है ये 5 सुपर हेल्दी ऑयल, दिल की उम्र होगी लंबी

दिल (Heart) को मजबूत रखने के लिए कौन-सा तेल खाना चाहिए? अगर आप इसका जवाब लंबे समय से खोज रहे हैं, तो हम आपको दिल को सेहतमंद रखने वाले और गंभीर बीमारियों से बचाने वाले फुलप्रुफ कुकिंग ऑयल की लिस्ट बता रहे हैं। लेकिन इससे पहले ये बात जानना आपके लिए जरूरी है कि हर तेल के फायदे और नुकसान अलग-अलग खाना पकाने के तरीकों और लोगों पर निर्भर करता है। जैसे ,सूरजमुखी का तेल फैटी एसिड का एक अच्छा स्रोत है लेकिन मधुमेह के रोगियों के लिए सेहतमंद नहीं है क्योंकि यह ब्लड शुगर बड़ा सकता है। वहीं, कैनोला, एवोकैडो और जैतून जैसे तेलों को दिल के लिए अच्छा माना जाता है क्योंकि इनमें स्वस्थ वसा होता है। बता दें, हमेशा दो तेलों को मिलाकर इस्तेमाल करने की सलाह दी जाती है। तेल को ज्यादा गर्म करके खाना नहीं पकाना चाहिए। इसका कारण यह है कि अधिक गर्म करने पर ये तेल अपने पौष्टिक गुणों को खो देते हैं और हानिकारक तत्व उत्पन्न करते हैं। हालांकि सूरजमुखी, नारियल, सरसों के तेल में अच्छी गर्मी सहनशक्ति होती है और इसे डीप-फ्राइंग के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है। मोटे तौर पर आपके लिए तेल तभी सेहतमंद होगा जब आप उसका सही तरीके से इस्तमाल करेंगे। ​जैतून का तेल इसमें एंटीऑक्सिडेंट होते हैं। जो ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस के कारण होने वाले कैंसर, हृदय रोग, मधुमेह की समस्या, पार्किंसंस रोग, अल्जाइमर रोग और मोतियाबिंद जैसे होने वाले समस्याओं के जोखिम को कम करती है। एक अध्ययन से पता चलता है कि जैतून के तेल में स्वस्थ वसा भी होता है, जो कोलेस्ट्रॉल के स्तर को नियंत्रित रखता है, जिससे हृदय रोग दूर रहते हैं। सूरजमुखी का तेल एक स्टडी से पता चलता है कि सूरजमुखी के बीज में एंटीऑक्सीडेंट, एंटी-इंफ्लेमेटरी के साथ-साथ घाव को भरने वाले गुण भी होते हैं। सूरजमुखी के बीज में फ्लेवोनॉइड, पॉलीसैचुरेटेड फैटी एसिड और विटामिन मौजूद होते हैं, जो ह्रदय संबंधी समस्याओं से बचाव करने का काम करते हैं। सूरजमुखी के तेल में विटामिन ई होता है, जो एक एंटीऑक्सीडेंट है जो दिल के लिए अच्छा होता है। सूरजमुखी का तेल हृदय रोगों के जोखिम को कम करने में भी मदद करता है। सूरजमुखी के तेल को अत्यधिक पौष्टिक और दिल को मजबूत करने वाला खाना पकाने का तेल माना जाता है। ​कैनोला तेल - कैनोला तेल उच्च कोलेस्ट्रॉल स्तर या हृदय रोग से पीड़ित लोगों के लिए सबसे अच्छे विकल्पों में से एक है। इसमें मौजूद वसा सिरम कोलेस्ट्रॉल को कम करने के साथ ही गंदे कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को भी कम करने में मदद करता है। इससे हार्ट संबंधी बीमारी से शरीर बचा रहता है। ध्यान रहे, अधिक मात्रा में इसका सेवन करना आपके स्वास्थ्य पर विपरीत प्रभाव डाल सकता है। ​एवोकाडो तेल - यह तेल बढ़े हुए कोलेस्ट्रोल और ब्लड प्रेशर को कम करने में मदद करता है। जो हृदय स्वास्थ के लिए सहायक है। वहीं, इसमें मोनोसैचुरेटेड फैटी एसिड, फाइबर, पोटेशियम, मैग्नीशियम और विटामिन ई और के मौजूद होता है। यह सभी पोषक तत्व पूरे स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं।

Top News