taaja khabar....भारत ने पाकिस्तान को दिखाया 'ठेंगा', नहीं भेजा सीमा शुल्क मीटिंग का न्यौता...यूपीः 69,000 सहायक शिक्षकों की भर्ती परीक्षा 6 जनवरी को....पंजाब: कैप्टन बयान पर नवजोत सिंह सिद्धू की बढ़ीं मुश्किलें, 18 मंत्रियों ने खोला मोर्चा...साबुन-मेवे की दुकान में मिले सीक्रेट लॉकर, 25 करोड़ कैश बरामद....J-K: शोपियां में सुरक्षा बलों ने 3 आतंकियों को घेरा, मुठभेड़ जारी...
इंतजार करें एक और घोटाले के विलाप का
अमेरिका के दबाव को दरकिनार करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रूस के साथ जिस s 400 वायु रक्षा प्रणाली का 39000 करोड़ रुपये का सौदा किया है ,उसमें भी राहुल गांधी को घोटाला मुद्दा मिल सकता है।आज की तारीख में 5 अरब डॉलर केहुए इस सौदे में रिलाएंस भी भारत में s400 बनाने वाली कंपनी आत्माज ऐंटी के साथ साझेदार है। रिलाएंस ने 2015 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मास्को यात्रा के दौरान यह साझेदारी की थी।24 दिसम्बर 2015 को रिलाएंस इंफ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड ने अपनी एक प्रेस रिलीज में इसका जिक्र किया था।इसमें लिखा था कि डीएसी ने s400 वायु रक्षा मिसाइल सिस्टम के अधिग्रहण को मंजूरी देकर 6 अरब डॉलर के व्यापार का मौका दिया है। भारत की रिलाएंस डिफेंस लिमिटेड और रूस की वायु रक्षा मिसाइल सिस्टम की प्रमुख निर्माता कंपनी आत्माज एंटी ने भारत के साथ संयुक्त रूप से काम करने का फैसला किया है।आत्माज एंटी के उपाध्यक्ष ने इस अवसर पर कहा था कि रिलाएंस डिफेंस।के साथ काम करने से भविष्य में भारत की सुरक्षा बलों की जरूरतों को पूरा करने के लिए दोनों कंपनियों को नई दिशा मिलेगी। अब इस डील में भी रिलायंस का नाम आने से राहुल गांधी और कांग्रेस को घोटाले का आरोप लगाने का सुनहरी मौका मिल सकता है और आरोप लगाया जा सकता है कि अंबानी को 6 अरब डॉलर का फायदा पहुंचाया गया।हालांकि डील 5 अरब डॉलर की है। पर इसमें एक पेंच है कि रिलाएंस ने डील के तुरंत बाद ही भारत में प्रेस रिलीज कर इसकी जानकारी दे दी थी इसलिये आरोप लगाने वालों से ये तो पूछा ही जायेगा कि उस वक्त इस पर सवाल खड़े क्यों नहीं किये गए। मदन अरोड़ा, स्वतंत्र पत्रकार

Top News

http://www.hitwebcounter.com/