taaja khabar....संघ प्रमुख मोहन भागवत ने कहा- नागपुर से नहीं चलती सरकार, कभी नहीं जाता फोन...जॉब रैकिट का पर्दाफाश, कृषि भवन में कराते थे फर्जी इंटरव्यू...हिज्बुल का कश्मीरियों को फरमान, सरकारी नौकरी छोड़ो या मरो...एमपी, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में भी बीएसपी को चाहिए ज्यादा सीटें...अगस्ता डील के बिचौलिए क्रिश्चियन मिशेल का दुबई से जल्द हो सकता है प्रत्यर्पण....PM मोदी की पढ़ाई पर सवाल उठाकर फंसीं कांग्रेस की सोशल मीडिया हेड स्पंदना, हुईं ट्रोल...
विश्व जनसंख्या दिवस पर स्वास्थ्य मेला एवं प्रदर्शनी का आयोजन
हनुमानगढ़। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग द्वारा जंक्शन स्थित दुर्गा मंदिर धर्मशाला में स्वास्थ्य मेला एवं प्रदर्शनी का आयोजन किया गया। विश्व जनसंख्या दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में जिला कलक्टर डीसी जैन, एसपी यादराम फांसल, पंचायत समिति प्रधान जयदेव भिड़ासरा, सीएमएचओ डॉ. अरूण कुमार, आरसीएचओ डॉ. विक्रम सिंह, बीसीएमओ डॉ. ज्योति धींगड़ा, स्वास्थ्य निरीक्षक संत कुमार बिश्नोई व चिकित्सा विभाग के अन्य अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित थे। जिला कलक्टर श्री डीसी जैन ने कार्यक्रम की शुरुआत मां सरस्वती के सम्मुख दीप प्रज्ज्वलन व पुष्प अर्पण कर की। जिला कलक्टर डीसी जैन ने जनसंख्या नियंत्रण पर चिन्ता जताते हुए कहा कि 21वीं सदी में ऐसे बहुत कम व्यक्ति होंगे जो जनसंख्या-विस्फोट के खतरों को समझते नहीं होंगे, पर उसके बावजूद जनसंख्या दिनोंदिन बढ़ती ही जा रही है। उन्होंने कहा कि चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग लोगों को स्वास्थ्य संबंधी सुविधाएं मुहैय्या करवाने के साथ-साथ उन्हें जाग्रत करने का काम भी कर रहा है। विभाग की जिम्मेवारियां भी कई गुणा बढ़ रही है। इसके लिए आम आदमी को भी सतर्क होना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि जितनी तेजी से जनसंख्या बढ़ रही है, उतनी तेजी से संसाधन उपलब्ध नहीं हो सकता है। इसलिए हमें जनता नियंत्रण के लिए संयुक्त प्रयास करने होंगे। इस कार्य में विभाग के साथ-साथ जनप्रतिनिधियों को भी लोगों को जाग्रत करने का काम करना होगा, क्योंकि वे लोग सीधे जनता से जुड़े होते हैं। पंचायत समिति प्रधान जयदेव भिड़ासरा ने कहा कि जनसंख्या नियंत्रण में चिकित्सा विभाग बहुत अच्छे से कार्य कर रहा है। उन्होंने नर्सिंगकर्मियों से कहा कि आप लोग लोगों को चिकित्सा सेवा मुहैय्या करवाने वाले कार्य से जुड़े हुए हैं। यह कार्य मानव सेवा के लिए जाना जाता है। आप लोग इस जनसंख्या नियंत्रण कार्यक्रम में परिवर्तन करने में काफी सहायक साबित हो सकते हैं। सीएमएचओ डॉ. अरूण कुमार ने कहा कि जिला प्रत्येक वर्ष की भांति इस वर्ष भी स्वास्थ्य योजनाओं में बेहतर परिणाम ला रहा है। उन्होंने विभिन्न योजनाओं में आ रही प्रगति की जानकारी दी उनस्थिति को दी। उन्होंने कहा कि जनसंख्या वृद्धि का ही परिणाम है कि भारत में आज भी रोटी, कपड़ा और मकान जैसी बुनियादी चीजों से कई लोग महरूम हैं और यही कारण है कि स्वास्थ्य सेवाओं का लाभ सभी तक नहीं पहुंच रहा। उन्होंने कहा कि हम सभी के जाग्रह होने के से इस समस्या पर काबू पाया जा सकता है। उन्होंने कहा कि सभी नागरिक अपने बच्चों को उच्च शिक्षा एवं उनके स्वास्थ्य को लेकर भी सचेत रहें। उन्होंने कहा कि जिस घर में कम बच्चे होंगे, वह परिवार बच्चों की परवरिश सही तरीके से कर पाएगा। आरसीएचओ डॉ. विक्रम सिंह ने टीकाकरण एवं विभाग की प्रगति के बारे में जानकारी दी। बीसीएमओ डॉ. ज्योति धींगड़ा ने विभिन्न योजनाओं में जिले की स्थिति के बारे में जानकारी। उन्होंने नसबंदी के लक्ष्य, उपलब्धि एवं परिवार कल्याण सेवाओं के बारे जानकारी दी। अंत में उन्होंने कार्यक्रम में पधारे सभी अतिथियों का आभार व्यक्त किया। कार्यक्रम स्थल पर विभाग की योजनाओं व कार्य्रकमों संबंधी विभिन्न फलैक्स उपस्थिति में बंटवाए गए। कार्यक्रम में लोगों को विभाग की समस्त योजनाओं की जानकारी देने व मंच संचालन का कार्य समाजसेवी भीष्म कौशिक ने किया। उत्कृष्ट कार्य करने वालों का किया सम्मान जनसंख्या स्थायित्व के क्षेत्र में कार्य परिणामों के आधार पर जिला कलक्टर डीसी जैन व अन्य अतिथियों ने नोहर सीएचसी प्रभारी डॉ. विनोद कुमार मूंड को प्रशस्त्रि पत्र, स्मृति चिन्ह एवं 50000 रूपए का पुरस्कार दिया गया। इसके अलावा विभिन्न कार्यक्रमों में उत्कृष्ट कार्य करने वालों को भी सम्मानित किया गया। जिले के अन्य ब्लॉकों में भी विश्व जनसंख्या दिवस मनाया गया, जिसमें उत्कृष्ट कार्य करने वालों को सम्मानित किया गया।

Top News

http://www.hitwebcounter.com/