taaja khabar....पाकिस्तान को अमेरिका की चेतावनी- अब भारत पर हमला हुआ तो 'बहुत मुश्किल' हो जाएगी ...नहीं रहे 1971 युद्ध के हीरो, रखी थी बांग्लादेश नौसेना की बुनियाद......मध्य प्रदेश: सट्टा बाजार में फिर से 'मोदी सरकार...J&K: होली पर पाकिस्तान ने फिर तोड़ा सीजफायर, एक जवान शहीद, सोपोर में पुलिस टीम पर आतंकी हमला...लोकसभा चुनाव: बीजेपी की पहली लिस्ट के 250 नाम फाइनल, आडवाणी, जोशी का कटेगा टिकट?....प्लास्टिक सर्जरी से वैनुआटु की नागरिकता तक, नीरव ने यूं की बचने की कोशिश...हिंद-प्रशांत क्षेत्र: चीन के बढ़ते प्रभाव को रोकने की काट, इंडोनेशिया में बंदरगाह बना रहा भारत...समझौता ब्लास्ट में सभी आरोपी बरी होने पर भड़का पाकिस्तान, भारत ने दिया जवाब ...राहुल गांधी बोले- हम नहीं पारित होने देंगे नागरिकता संशोधन विधेयक ...
राजस्थान कृषक ऋण माफी योजना का लाभ लेने वाले काश्तकार 28 फरवरी से पहले करवा लें आधार प्रमाणन- कलक्टर
जिला कलक्टर ने की राजस्थान कृषक ऋण माफी योजना की समीक्षा 89 हजार किसानों में से अब तक 28 किसानों ने ही करवाया है आधार प्रमाणन 28 फरवरी तक ही किसान करवा सकेंगे आधार प्रमाणन हनुमानगढ़, 25 फरवरी। जिला कलक्टर श्री जाकिर हुसैन ने सोमवार को कलेक्ट्रेट में राजस्थान कृषक ऋण माफी योजना की समीक्षा की। जिला कलक्टर ने ऋण माफी का फायदा लेने वाले किसानों से आह्वान किया है कि वे आधार प्रमाणन 28 फरवरी से पहले अवश्य करवा लें। ताकि योजना का फायदा ले सकें। आधार प्रमाणन की अंतिम तारीख 28 फरवरी है। आधार प्रमाणन के बिना योजना का लाभ नहीं दिया जा सकेगा। बैठक में केन्द्रीय सहकारी बैंक के एमडी श्री भूपेन्द्र सिंह ज्याणी ने बताया कि राजस्थान कृषक ऋण माफी योजना के अंतर्गत जिले में कुल 89 हजार किसानों के 376 करोड़ रूपए के ऋण माफ किए गए हैं। 89 हजार किसानों में से 64 हजार किसानों ने अब तक रजिस्ट्रेशन करवा लिया है। लेकिन आधार प्रमाणन 28 हजार किसानों ने ही करवाया है। श्री ज्याणी ने बताया कि आधार प्रमाणन के बाद ही पोर्टल पर ऋण माफी आएगी। उसके बाद ही काश्तकार को योजना का लाभ दिया जा सकेगा। जो किसी भी ई-मित्र पर जाकर काश्तकार बिना कोई शुल्क दिए करवा सकता है। जबकि आधार प्रमाणन की अंतिम तारीख 28 फरवरी है। लिहाजा जिला कलक्टर ने भी किसानों से आह्वान किया है कि वे पास के ई-मित्र पर जाकर 28 फरवरी से पहले आधार प्रमाणन करवा लें ताकि योजना का फायदा ले सकें।

Top News

http://www.hitwebcounter.com/