कानूनी कार्रवाई नहीं होने पर जताया विरोध

हनुमानगढ़ 22 मई। 15 दिन बीत जाने के बावजूद भी मारपीट मामले में कानूनी कार्रवाई नहीं होने का परिवार जनों ने विरोध जताया। चक 21 एनडीआर चौईलावाली निवासी विद्या देवी पत्नी अमरजीत जाति जाट ने बताया कि दिनांक 7 मई 2019 शाम करीब 4:30 बजे मेरे पति घर पर मौजूद नहीं थे तभी मैं व मेरी पुत्रियां ज्योति व मीनाक्षी खेत में पानी की बारी लगा रहे थे तभी सूरजभान, छोगाराम, जयपाल, विजय, सुरेंद्र मुंड, ओम प्रकाश, प्रह्लाद, लालचंद, रवि, विनोद सांई व अन्य 5-7 जने हाथ में लाठी व गंडासीयां लेकर हमारे खेत में घुस गए तथा मेरी पुत्रियों के साथ गाली-गलौच व मारपीट करने की कोशिश करने लगे तभी मैं व मेरी पुत्रियां खेत में बनी अपनी ढाणी के मकान में घुस गए तभी यह लोग भी हमारे पीछे भाग कर मकान में घुस गए व मेरी पुत्रियां ज्योति व मीनाक्षी को जबरदस्ती घसीटते हुए हाथ पकड़कर घर से बाहर ले आए तथा सूरजभान व छोगाराम ने मेरी पुत्रियों को बेइज्जत करने की नियत से नीचे गिरा दिया तथा उनके कपड़े फाड़ दिए व जयपाल ने ज्योति के पैर पर गंडासी की चोट मारी व रवि ने मीनाक्षी के शरीर व पैर पर लाठी मारी जिससे मीनाक्षी व ज्योति के पैर की हड्डी टूट गई जो जिला चिकित्सालय में उपचाराधीन है। उन्होंने बताया कि झगड़े के दौरान विनोद साईं द्वारा मेरी पुत्रीयों के कानों में पहनी सोने की बालियां उतार ली गई तथा ज्योति का फोन भी उठा लिया गया। परिवारजनों ने बताया कि थोड़े दिन पूर्व भी झगड़े की आशंका को लेकर थाने में प्रार्थना पत्र भी दिया गया था परंतु पुलिस प्रशासन द्वारा कोई ध्यान नहीं दिया गया और अब झगड़ा होने के पश्चात लखुवाली चौकी व महिला थाने में मुकदमा दर्ज करवाया गया है परंतु आज 15 दिन बीत जाने के बावजूद आरोपियों के खिलाफ कोई कार्यवाही नहीं की गई।उन्होंने बताया कि झगड़े के दौरान जो मोबाइल उठाया गया था वह आज भी चालू है परंतु पुलिस द्वारा कोई कार्यवाही नहीं की जा रही है जिससे साफ जाहिर होता है कि पुलिस की आरोपियों के साथ मिलीभगत है। पीड़ित परिवार के लोगों ने कहा कि जल्द से जल्द आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई कर गिरफ्तार नहीं किया गया तो हमें मजबूरन आंदोलनात्मक कदम उठाना पड़ेगा।

Top News