taaja khabar....भारत ने पाकिस्तान को दिखाया 'ठेंगा', नहीं भेजा सीमा शुल्क मीटिंग का न्यौता...यूपीः 69,000 सहायक शिक्षकों की भर्ती परीक्षा 6 जनवरी को....पंजाब: कैप्टन बयान पर नवजोत सिंह सिद्धू की बढ़ीं मुश्किलें, 18 मंत्रियों ने खोला मोर्चा...साबुन-मेवे की दुकान में मिले सीक्रेट लॉकर, 25 करोड़ कैश बरामद....J-K: शोपियां में सुरक्षा बलों ने 3 आतंकियों को घेरा, मुठभेड़ जारी...
वेबकास्टिंग में इस बात का विशेष ध्यान रखें कि किसी के मत की गोपनीयता भंग ना हो- जिला निर्वाचन अधिकारी
हनुमानगढ़, 1 दिसंबर। विधानसभा चुनाव 2018 में क्रिटिकल पोलिंग स्टेशन पर नजर रखने के लिए 85 मतदान केन्द्रों पर वेब कैमरे लगाए जाएंगे। शनिवार को इसकी ट्रेनिंग जिला परिषद सभागार में हुई । ट्रेनिंग सेशन को संबोधित करते हुए जिला निर्वाचन अधिकारी श्री दिनेश चंद जैन ने कहा कि पोलिंग बूथ पर वेब कैमरा इस तरह लगाया जाए कि किसी भी मतदाता के मत की गोपनीयता भंग ना हो। लेकिन इस बात का भी विशेष ध्यान रहे कि वेब कैमरा ऐसी जगह हो जहां से बूथ पर पूरी नजर रखी जा सके। श्री जैन ने कहा कि किसी भी प्रकार की गड़बडी होने पर इसकी जानकारी शीघ्रता के साथ दी जाए। सीईओ जिला परिषद और वेबकास्टिंग प्रकोष्ठ प्रभारी श्री नवनीत कुमार ने कहा कि वेबकास्टिंग का कार्य सूचना एवं प्रोद्योगिक विभाग के लिए कोई नया नहीं है। सभी कार्मिक इस कार्य को बेहतरीन तरीके से संपन्न करवाएंगे। सीईओ ने वेब कैैमरे के जरिए प्रैक्टिकली बताया कि किस प्रकार कैमरा पोलिंग स्टेशन पर लगाया जाएगा और उसकी लोकेशन किस तरह फिक्स की जाए। इस अवसर पर जिला निर्वाचन अधिकारी और सीईओ जिला परिषद के अलावा वेबकास्टिंग के जिला स्तरीय नोडल अधिकारी और एडीएम श्री प्रभातीलाल जाट, डीआईजी स्टांप श्री भवानी सिंह पंवार, पीआरओ श्री सुरेश बिश्नोई समेत 100 से ज्यादा सूचना सहायक उपस्थित थे। वेबकास्टिंग की ट्रेनिंग रावतसर के प्रोग्रामर श्री आशीष सिहाग, सूचना सहायक डॉ केपी, श्री जंयत और श्री राजेन्द्र कुमार सोनी ने दी। वेबकास्टिंग प्रकोष्ठ प्रभारी और सीईओ जिला परिषद श्री नवनीत कुमार ने बताया कि जिले में कुल 169 क्रिटिकल मतदान केन्द्र हैं जिनमें से 85 पर वेब कैमरे लगाए गए हैं। इन कैमरों के जरिए संबंधित मतदान केन्द्र को सुबह 7 बजे से मतदान खत्म होने तक लाइव देखा जा सकेगा। रिटर्निंग अधिकारी , जिला स्तर पर, सीईओ राजस्थान और भारत निर्वाचन आयोग दिल्ली में इसे लाइव देखा जा सकेगा। आमजन क्रिटिकल मतदान केन्द्रों को लाइव नहीं देख सकेंगे। 85 क्रिटिकल केन्द्रों पर जहां वेबकास्टिंग होगी वहां एक-एक कैमरा ऐसी जगह लगाया जाएगा जिससे मतदाता के मत की गोपनीयता भंग ना हो और पूरा पोलिंग स्टेशन पर नजर भी रखी जा सके।

Top News

http://www.hitwebcounter.com/