taaja khabar.....राजस्थान: कांग्रेस की लिस्ट में पैराशूट कैंडिडेट, कार्यकर्ताओं ने पूछा क्या हुआ राहुल का वादा?....राजस्थान कांग्रेस की 152 उम्मीदवारों की पहली लिस्ट जारी, पायलट टोंक तो गहलोत सरदारपुरा से लड़ेंगे चुनाव...CBI vs CBI: SC का आदेश- आलोक वर्मा को मिलेगी CVC रिपोर्ट, अस्थाना को झटका....लखनऊ: अचानक पुलिस लाइन पहुंचे सीएम योगी, अफसरों में हड़कंप ...पेट्रोल और डीजल की कीमतों में राहत जारी, आज भी घटे दाम ...शेयर बाजार की तेज शुरुआत, सेंसेक्स 96 और निफ्टी 23 अंक बढ़कर खुला....राजस्थान कांग्रेस की लिस्ट पर बवाल, राहुल के घर के बाहर धरने पर बैठे कार्यकर्ता...अमृतसर में दिखा खूंखार आतंकी जाकिर मूसा, दिल्ली में घुसने की आशंका, अलर्ट जारी....तेलंगाना में कांग्रेस को बड़ा झटका, दो मुस्लिम नेताओं ने छोड़ी पार्टी...सालभर में 14 करोड़ रुपये के चादर-तौलिया चुरा ले गए AC के यात्री....
प्रत्याशियों को इस बार दो बड़े अखबारों और टीवी में तीन-तीन बार देना होगा खुद का ब्यौरा
राजनीतिक दलों की वेबसाइट पर भी प्रत्याशियों का ब्यौरा देना होगा पिछले 10 साल के राजकीय बकाया की भी पूरी जानकारी देनी होगी निजी संपत्ति और वाहन पर मालिक की सहमति से ही लगा सकेंगे झंडा और बैनर पोस्टर और वॉल पेटिंग पर रहेगा प्रतिबंध रात को 10 से सुबह 6 बजे तक एसएमएस, वॉट्सअप और फोन से नहीं कर पाएंगे प्रचार प्रचार सामग्री पर प्रकाशक, मुद्रक का नाम, मोबाइल नंबर और प्रतियों की संख्या दर्शानी होगी हनुमानगढ़, 18 अक्टूबर। विधानसभा चुनाव लड़ रहे प्रत्याशियों को इस बार सुप्रीम कोर्ट के निर्देशानुसार पूरा ब्यौरा देना होगा कि उसके खिलाफ पिछले दस सालों में पुलिस में कोई मामला दर्ज हुआ है या नहीं। दर्ज हुआ है तो उसमें सजा हुई या नहीं इत्यादि पूरी जानकारी शपथ पत्र में देनी होगी। खास बात ये कि ये सब जानकारी सभी प्रत्याशियों को सर्वाधिक प्रसार संख्या वाले दो बड़े अखबारों में तीन-तीन बार देनी होगी। और वो भी 12 साइज के फोंट में। इलेक्ट्रोनिक मीडिया में भी तीन बार उसे ये जानकारी देनी होगी। ये जानकारी प्रत्याशी को 22 नवंबर से लेकर मतदान से 48 घंटे पूर्व यानि 5 दिसंबर तक देनी होगी। इसके अलावा पिछले 10 वर्ष के राजकीय बकाया की भी जानकारी शपथ पत्र में देनी होगी। राजकीय बकाया में आवास, परिवहन, आयकर, जीएसटी, स्थानीय निकाय इत्यादि के बकाया की जानकारी शामिल है। जिला निर्वाचन अधिकारी श्री दिनेश चंद जैन ने गुरूवार को जिला कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों के साथ बैठक के दौरान ये सब जानकारी दी। श्री जैन ने बताया कि इससे पहले दो शपथ पत्र प्रत्याशियों को देने पड़ते थे। लेकिन इस बार एक ही शपथ पत्र देना होगा जो नोमिनेशन फॉर्म में भी उपलब्ध रहेगा। इसे पूरा भरकर प्रत्याशी को देना होगा। प्रत्याशियों का पूरा ब्यौरा राजनीतिक पार्टियों को अपने वेबसाइट पर भी देनी होगी। बैठक में राजनीतिक पार्टियों के प्रतिनिधियों को ईवीएम और वीवीपेट के बारे में भी जानकारी दी गई। वॉल पेटिंग और पोस्टर लगाने पर रहेगा प्रतिबंध- जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि प्रत्याशियों की चुनाव प्रचार सामग्री ऐसी होनी चाहिए जिसे बाद में आसानी से हटाया जा सके। वॉल पेटिंग और पोस्टर लगाने पर प्रतिबंध रहेगा। अगर कोई प्रत्याशी ऐसा करता है तो उसके खिलाफ आदर्श आचार संहिता के तहत कार्रवाई करते हुए उसे हटाने का खर्चा प्रत्याशी से वसूला जाएगा। प्रत्याशियों को होर्डिंग्स, बैनर इत्यादि लगाने के लिए नगर निकायों के द्वारा जगह चिन्हित की गई है। चिन्हित की गई जगहों पर ही रिटर्निंग अधिकारी से अनुमति लेकर होर्डिंग्स और बैनर निर्धारित स्थान पर लगाए जाएं। राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों से कहा गया कि उन्हें जहां होर्डिंग्स, बैनर इत्यादि लगवाने है इसकी जानकारी सोमवार 22 अक्टूबर तक दे दें ताकि सभी राजनीतिक दलों को समान आनुपातिक रूप से जगह अलॉट कर दें। सोमवार तक नहीं आने पर पहले आओ, पहले पाओ के आधार पर होर्डिंग्स इत्यादि की जगह दे दी जाएगी। 50 हजार से ज्यादा कैश नहीं ले जा सकते। - धारा 144 लगने के बाद अब कोई भी व्यक्ति 50 हजार से ज्यादा केस गाड़ी में नहीं ले जा सकता। अगर ज्यादा केस ले जा रहा है लेकिन संतुष्टि जनक जवाब नहीं दिया तो आयकर विभाग के अधिकारियों को बुला कर पैसा जब्त कर लिया जाएगा। जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि 20 हजार से ज्यादा का केस पेमेंट नहीं किया जाएगा।अगर कोई बैंक से 50 हजार से ज्यादा केस उठा रहा है और 1 लाक से ज्यादा का ट्रांजक्शन कर रहा है तो इसकी जानकारी बैंक के अधिकारी देंगे। अगर किसी वाहन में किसी पार्टी विशेष के झंडे बैनर है और उसमें केस पकड़ा जाता है तो संबंधित पार्टी का ही उसे माना जाएगा। निजी संपत्ति पर मालिक के अनुमति से लगा सकेंगे झंडा और बैनर - निजी संपत्ति पर मालिक की अनुमति लेकर ही वहां एक झंडा और बैनर लगा सकेंगे। इनकी भी प्रत्याशी को रिटर्निंग अधिकारी को देनी होगी। निजी वाहनों पर भी झंडा और बैनर इस प्रकार लगा सकते हैं जिससे अन्य लोगों को दिक्कत ना आए। इसकी अनुमति भी निजी वाहन मालिक से लिखित में लेनी होगी। अगर किसी वाहन पर झंडा और बैनर लगे पाए गए और लिखित में प्रत्याशी को अनुमति का लेटर नहीं मिला तो कार्रवाई होगी। पार्किंग इत्यादि में खड़े वाहनों पर किसी ने पोस्टर इत्यादि चिपका दिया तब भी संबंधित प्रत्याशी के खिलाफ कार्रवाई होगी। मीटिंग के दौरान लगा सकते हैं झंडे, कट आउट- प्रत्याशी कहीं अगर बड़ी मीटिंग या सभा करता है तो इसकी पूर्व अनुमति रिटर्निंग अधिकारी से लेनी होगी। मीटिंग स्थल पर झंडे, कट आउट, बैनर इस प्रकार से लगाए जाएं कि मीटिंग के बाद उन्हें हटा लिया जाए। अगर नहीं हटाए गए तो हटाने का खर्च प्रत्याशी के खाते में जुड़ेगा। कॉलेज, स्कूल इत्यादि में नहीं खोल सकते चुनाव कार्यालय - कोई भी प्रत्याशी स्कूल, कॉलेज, धार्मिक स्थल, यातायात प्रभावित करने वाले जगह, अतिक्रमण स्थल पर चुनाव कार्यालय नहीं खोल सकते। जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि चुनाव कार्यालय पर 4 बाई 8 फीट से ज्यादा बड़ा बैनर नहीं लगा सकेंगे। प्रत्याशियों की चुनाव खर्च की लिमिट 28 लाख होगी। प्रचार सामग्री पर लिखना होगा प्रकाशक, मुद्रक का नाम और मोबाइल नंबर - धारा 127 ए के तहत प्रत्याशियों की प्रचार सामग्री पर प्रकाशक और मुद्रक का नाम और मोबाइल नंबर के साथ साथ प्रतियों की संख्या भी लिखनी होगी। रात्रि10 से सुबह 6 बजे तक लाउडस्पीकर पर रहेगा प्रतिबंध- जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि रात्रि 10 से सुबह 6 बजे तक ध्वनि विस्तारक यंत्रों पर प्रतिबंध रहेगा। सुबह 6 बजे से रात्रि 10 बजे तक भी तेज आवाज वाली ध्वनि पर प्रतिबंध रहेगा। रात्रि 10 से सुबह 6 बजे तक एसएमएस, वॉट्सअप, फोन इत्यादि से प्रचार पर भी प्रतिबंध रहेगा। धारा 144 के अंतर्गत हथियार लेकर चलने पर रहेगा प्रतिबंध- बैठक में बताया गया कि जिले मे धारा 144 लगाई जा चुकी है। अस्त्र शस्त्र लेकर चलना प्रतिबंधित है। 5 व्यक्ति बिना अनुमति के एक साथ नहीं चल सकेंगे। 3 से ज्यादा वाहन एक साथ नहीं चल सकेंगे। सभा इत्यादि के लिए रिटर्निंग अधिकारी से जहां जगह चिन्हित की जाएगी वहीं होनी चाहिए और दिए हुए समय के बीच होनी चाहिए। बैठक में जिला निर्वाचन अधिकारी श्री दिनेश चंद जैन के अलावा एडीएम श्री प्रभाती लाल जाट, एडीश्नल एसपी श्री हरिराम चौधरी, सीईओ जिला परिषद श्री नवनीत कुमार, एडीएम नोहर डॉ हरितिमा, एसडीएम हनुमानगढ़ श्री सुरेन्द्र पुरोहित, नोहर एसडीएम श्री शिराज अली जैदी, पीआरओ श्री सुरेश बिश्नोई ,डीएसओ श्री उम्मेद सिंह पूनियां, बीजेपी से श्री प्रेम गोदारा, श्री जसप्रीत सिंह जेपी, कांग्रेस से श्री इशाक खान, सीपीआई से कामरेड रामकुमार और तरसेम कुमार,, बसपा से श्री महावीर प्रसाद, चुनाव शाखा प्रभारीी श्री हंसराज समेत अन्य मौजूद थे।

Top News

http://www.hitwebcounter.com/