taaja khabar....फ्रांस ने भारत से आधे दाम में राफेल का ऑर्डर देने का किया खंडन, कहा- यह मौजूदा विमानों के अपग्रेडेशन की लागत...कर्नाटक का नाटक जारी, निर्दलियों के बाद कुछ कांग्रेस विधायक भी बदल सकते हैं पाला...पंजाब: आम आदमी पार्टी को एक और झटका, विधायक मास्टर बलदेव ने छोड़ी पार्टी...सुप्रीम कोर्ट जज ने कलीजियम के यू-टर्न के खिलाफ CJI गोगोई को लिखा खत...सेना में जाति-आधारित नियुक्ति पर हाई कोर्ट ने मांगा सेना-सरकार से जवाब...JNU केस: पुलिस के पास तीन तरह के सबूत...कांग्रेस की छत्तीसगढ़ सरकार ने ठुकराई केंद्र की 'आयुष्मान भारत' योजना...निजी शिक्षण संस्थाओं में आरक्षण के लिए नया बिल ला सकती है सरकार...
जिका वाइरस से सचेत रहने की आवश्यकता
हनुमानगढ़, 15 अक्टूबर। मौसमी बिमारियों की रोकथाम को लेकर सोमवार को कलेक्ट्रेट सभागार में जिला कलक्टर श्री दिनेश चंद जैन की अध्यक्षता में बैठक हुई जिसमें जिला कलक्टर ने नगर परिषद कमीश्नर को निर्देशित किया कि वे जिला मुख्यालय के साथ साथ सभी नगर पालिकाओं में सुबह शाम फोगिंग करवाएं। फोगिंग को लेकर जिला मुख्यालय और तहसीलों में वार्डवाइज फोगिंग का चार्ट जारी बनाकर बताएं कि कौनसे वार्ड में फोगिंग किस दिन होगी। इसके अलावा महिला एवं बाल विकास के उपनिदेशक को निर्देशित किया कि आंगनबाड़ी केन्द्र पर जितनी भी गर्भवती महिलाएं पंजीकृत है उनको अगर बुखार होता है तो ये महिला एवं बाल विकास विभाग की जिम्मेदारी होगी कि उस गर्भवती महिला को डॉक्टर को दिखा कर दवा दिलवाएं। इसके अलाव जिला कलक्टर ने सीएमएचओ डॉ अरूण चमडिया को निर्देशित किया कि वे ठहरे हुए पानी में गंबूसिया मछली छुड़वाएं। इसके अलाव एंटी लार्वा एमएलओ का छिड़काव करवाएं। इसके अलावा लोगों को आईईसी के जरिए बताएं कि ठहरे हुए पानी को खाली कर दें। कूलर, फ्रिज के पीछे ट्रे, गमलों के नीचे ट्रे, छत पर पड़े हुए बर्तनों में इकट्ठा पानी, पुराने टायर, परिंडों इत्यादि में इकट्ठे हुए पानी को खाली करने को लेकर लोगों को जागृत करें। ताकि डेगूं, मलेरिया इत्यादि से बच सकें। सीएमएचओ ने बताया कि डेंगू का मच्छर ठहरे हुए पानी में ही पनपता है लिहाजा ठहरे हुए पानी में गंबूसिया मछली डालने के अलावा लोगों को भी जागृत किया जाएगा। जिला कलक्टर ने घग्घर एरिया और जहां पानी ठहरा हुआ है वहां स्लाइड लेने के निर्देश भी दिए। जिला कलक्टर ने कहा कि हालांकि जिले में जिका वाइरस का एक भी मामला सामने नहीं आया है लेकिन श्रीगंगानगर जिले के कुछ इलाकों में इसका वाइरस होने से इससे सचेत रहने की आवश्यकता है। किसी भी तरह का बुखार होने पर डॉक्टर को जरूर दिखाएं और दवा लें। जिला कलक्टर ने सीएमएचओ को निर्देशित किया कि आईएमए की मीटिंग लें और उसमें बताएं कि जिले में बुखार की रोकथाम को लेकर क्या क्या करवाया जाना चाहिए। आईएमए के सदस्य रिपोर्ट नहीं भिजवाएं तो जुर्माना लगाएं। नर्सिंग होम और लैब को डेगूं और जिका वाइरस के रोगी की जानकारी आवश्यक रूप से देने के लिए निर्देशित करने को कहा। इसके अलावा बीसीएमएचओ की मीटिंग लेकर लोगों को बुखार से बचने के लिए आईईसी गतिविधियां करवाने को निर्देशित किया। चिकित्सा विभाग और महिला एवं बाल विकास विभाग की जोइंट मीटिंग करवा कर लोगों को इस बारे में जागृत करने को कहा। जिला कलक्टर ने बैठक में कहा कि अगर कहीं जिका वाइरस पोजिटिव पाया जाता है तो घबराने की जरूरत नहीं है इसका इलाज संभव है। इसकी जांच बीकानेर, जोधपुर, जयपुर और कोटा में हो रही है। इसके अलावा जिला कलक्टर ने पीएचईडी के अधिकारियों को नलों में आ रहे शुरू के पानी की सैंपल लेकर जांच करने के लिए कहा। बैठक में जिला कलक्टर श्री दिनेश चंद जैन के अलावा एडीएम श्री प्रभाती लाल जाट, सीईओ जिला परिषद श्री नवनीत कुमार, सीएमएचओ डॉ अरूण चमड़िया, पीआरओ श्री सुरेश बिश्नोई, महिला एवं बाल विकास विभाग के उपनिदेशक श्री प्रवेश सोलंकी, नगर परिषद कमीश्नर श्री राजेन्द्र स्वामी, सुश्री बीना टाक इत्यादि उपस्थित थे।

Top News

http://www.hitwebcounter.com/