taaja khabar....टीकाकरण को गति देने के लिए केंद्र देगा विदेशी कोविड वैक्सीन को झटपट अनुमति, प्रकिया होगी तेज...दार्जिलिंग में बोले शाह- दीदी ने भाजपा-गोरखा एकता तोड़ने का प्रयास किया, देना है मुंहतोड़ जवाब...और मजबूत हुई भारतीय वायुसेना, 6 टन के लाइट बुलेट प्रूफ वाहनों को एयरबेस में किया गया शामिल...इस साल मानसून में सामान्य से बेहतर होगी बारिश, स्काइमेट वेदर का पूर्वानुमान....सुशील चंद्रा ने देश के मुख्य चुनाव आयुक्त का पदभार संभाला...प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बैसाखी त्योहार पर कड़ी मेहनत करने वालों किसानों की तारीफ की...Sputnik V को मंजूरी के बाद अब जल्द मिलेगी डोज, भारत में एक साल में बनेगी 85 करोड़ खुराक....'टीका उत्सव' के तीसरे दिन दी गईं 40 लाख से ज्यादा डोज, अब तक 10.85 करोड़ लोगों को लगी वैक्सीन....शरीर में नई जगह छिपकर बैठ रहा कोरोना, अब RT-PCR टेस्ट से भी नहीं हो रहा डिटेक्ट...

महात्मा गांधी की प्रतिमा का मुख्यमंत्री 6 अप्रैल को करेंगे वर्चुअल लोकार्पण

हनुमानगढ़, 05 अप्रैल। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की जिला मुख्यालय पर स्थापित की गई प्रतिमा का मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत वर्चुअल लोकार्पण करेंगे। जिला कलक्टर श्री जाकिर हुसैन ने बताया कि कलेक्ट्रेट परिसर स्थित उद्यान में गांधीजी की स्थापित की गई है। जिसका जयपुर स्थित मुख्यमंत्री निवास से वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए वर्चुअल लोकार्पण 6 अप्रैल को दोपहर 12 बजे मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत करेंगे। इस अवसर पर कलेक्ट्रेट परिसर स्थित राजीव गांधी सेवा केन्द्र में जिले के विधायकगण व अन्य जनप्रतिनिधि, प्रशासनिक अधिकारीगण और महात्मा गांधी की 150 वीं जयंती मनाने को लेकर स्थापित की गई जिला स्तरीय समिति के संयोजक और सहसंयोजक भी उपस्थित रहेंगे। जिला कलक्टर ने बताया कि इस दौरान उद्यान में जहां महात्मा गांधी की प्रतिमा स्थापित की गई है। वहां भी कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है। जिसमें एलईडी के जरिए प्रतिमा के लोकार्पण कार्यक्रम को लाइव देखा जा सकेगा। उद्यान परिसर में करीब 50 लोगों के बैठने की व्यवस्था की गई है। कार्यक्रम के दौरान कोरोना गाइडलाइन का विशेष ध्यान रखा जाएगा। जिला कलक्टर ने बताया कि वर्तमान में जिला मुख्यालय पर टाउन में महात्मा गांधी की करीब 24 इंच की एक मात्र छोटी प्रतिमा राजकीय चिकित्सालय में ही स्थापित थी। जो जिला कलक्ट्रेट से करीब 12 किलोमीटर दूर है। जिला कलेक्ट्रेट परिसर में गांधीजी की मूर्ति की महत्ती आवश्यकता महसूस की जा रही थी। लिहाजा कलेक्ट्रेट परिसर में कलेक्ट्रेट की मुख्य बिल्डिंग के मुख्य द्वार के सामने स्थित उद्यान में गांधी जी की प्रतिमा बनाई गई है।गांधी जी की इस प्रतिमा का आकार मनुष्य के साधारण आकार से तीन गुना है तथा बापू की बैठी हुई मुद्रा के बावजूद इसकी उंचाई करीब 7 फीट है। जिसका निर्माण नवोदय विद्यालय, पल्लू (हनुमानगढ़) में कार्यरत कला शिक्षक श्री रामकिशन अडिग से करवाया गया है। प्रतिमा का निर्माण सीमेंट,लोहे के सरियों और पत्थरों से किया गया है। निर्माण में करीब एक माह का समय व्यय हुआ। मूर्ति और उसके प्लेटफॉर्म निर्माण पर करीब 4.5 लाख रूपए की लागत आई है। जिसे नगर परिषद के सहयोग से खर्च किया गया है। प्रतिमा निर्माण के पश्चात् उस पर हरित-श्याम रंग का प्रयोग किया गया है। ताकि यह कांस्य प्रतिमा सदृश्य नजर आए। प्रतिमा को उद्यान के मध्य टीलेनुमा ऊंचे स्थान पर बनाया गया जो इसे भव्यता और विशालता प्रदान करती है। साथ ही सभी दिशाओं से दर्शनीयता बनी रहती है। उद्यान में बने होने के कारण किसी प्रकार के आवागमन में बाधा भी नहीं है। जिला कलक्टर ने बताया कि महात्मा गांधी जी की उक्त प्रतिमा के लोकार्पण के पश्चात ना केवल गांधी जयंती आदि कार्यक्रम गरिमामय आयोजित किए जा सकेंगे बल्कि यह आंगतुकों के लिए भी आकर्षण का केन्द्र बनेगी। निर्माण के दौरान भी आमजन इस प्रतिमा के साथ सेल्फी लेते रहे हैं। आमजन को भी बापू के द्वारा भारत निर्माण में किए सहयोग के लिए श्रद्धासुमन अर्पित करने का अवसर प्राप्त होगा। साथ ही लोगों को ये मूर्ति गांधी के दर्शन को आत्मसात करने के लिए प्रेरणा देती रहेगी।

Top News