taaja khabar....पोखरण में एक और कामयाबी, मिसाइल 'हेलिना' का सफल परीक्षण.....अगले 10 साल में बाढ़ से 16000 मौतें, 47000 करोड़ की बर्बादी: एनडीएमए....बड़े प्लान पर काम कर रही भारतीय फौज, जानिए क्या होंगे बदलाव...शूटर दीपक कुमार ने सिल्वर पर किया कब्जा....शेयर बाजार की तेज शुरुआत, सेंसेक्स 155 और न‍िफ्टी 41 अंक बढ़कर खुला....राम मंदिर पर बोले केशव मौर्य- संसद में लाया जा सकता है कानून...'खालिस्तान की मांग करने वालों के दस्तावेजों की हो जांच, निकाला जाए देश से बाहर'....
जकार्ता,भारत को 18वें एशियाई खेलों में मंगलवार को यहां पुरुषों की 10 मीटर एयर पिस्टल निशानेबाजी स्पर्धा में स्वर्ण पदक हासिल हुआ. भारत के 16 वर्षीय निशानेबाज सौरभ ने पदार्पण करने के साथ ही स्वर्ण पदक पर कब्जा जमाया. यह भारत की झोली में तीसरे दिन गिरा पहला और कुल तीसरा स्वर्ण पदक है. इसके अलावा इस स्पर्धा में एक अन्य निशानेबाज अभिषेक वर्मा ने कांस्य पदक हासिल किया. सौरभ ने एशियाई खेलों में इस स्पर्धा का रिकॉर्ड तोड़ते हुए कुल 240.7 अंक हासिल किए और सोना जीता. अभिषेक ने फाइनल में शीर्ष-3 में जगह बनाई और अंत में कुल 219.3 अंकों के साथ तीसरा स्थान हासिल कर कांस्य पदक जीता. जापान के मत्सुदा तोमोयुकी ने 239.7 अंक के साथ सिल्वर मेडल हासिल किया. संजीव ने जीता 50 मीटर राइफल-3 पोजिशन का सिल्वर निशानेबाज संजीव राजपूत ने 50 मीटर राइफल-3 पोजिशन स्पर्धा का सिल्वर मेडल अपने नाम किया. संजीव ने 452.7 अंकों के साथ दूसरा स्थान हासिल कर रजत पर कब्जा जमाया. संजीव का यह एशियाई खेलों में इस स्पर्धा में जीता गया पहला पदक है. सेपक टाकरा : भारत ने जीता पहला पदक भारत ने पुरुष रेगू टीम स्पर्धा में यहां गत विजेता थाइलैंड से हारने के बावजूद एशियाई खेलों में सेपक टाकरा में अपना पहला पदक जीता. भारत की पुरुष रेगू टीम थाइलैंड से 0-2 से हार गई, लेकिन उसने कांस्य जीता क्योंकि सेमीफाइनल में हारने वाली दोनों टीमों को पदक दिया जाता है. अब तक भारत की झोली में 9 मेडल आ चुके हैं. सौरभ से पहले कुश्ती में बजरंग पूनिया और विनेश फोगोट ने गोल्ड मेडल हासिल किया. पदक तालिका में भारत छठे स्थान पर है.
जकार्ता, आज एशियन गेम्स 2018 का तीसरा दिन है. भारतीय एथलीटों से ज्यादा से ज्यादा पदक की उम्मीद रहेगी. दो गोल्ड मेडल के साथ भारत के पास कुल पांच पदक हैं और वह मेडल टैली में आठवें नंबर पर है. भारतीय तीरंदाज दीपिका कुमारी आज अपने अभियान का आगाज करेंगी. दीपिका की अगुआई में रिकर्व में भारतीय महिला टीम अपना पहला मुकाबला खेलने उतरेगी. निशानेबाजी: 10 मीटर एयर पिस्टल के फाइनल में सौरभ सौरभ चौधरी ने पुरुषों की 10 मीटर एयर पिस्टल निशानेबाजी स्पर्धा के फाइनल में प्रवेश कर लिया है. सौरभ ने 586 अंकों के साथ पहला स्थान हासिल किया है. इस स्पर्धा में सौरभ के अलावा भारत के एक अन्य निशानेबाज अभिषेक वर्मा ने भी क्वालीफाई कर लिया है. वह 580 अंकों के साथ छठे स्थान पर रहे. नौकायन: एकल स्कल्स के फाइनल में दत्तु भारतीय खिलाड़ी दत्तु भोनाकल ने नौकायन प्रतियोगिता में पुरुषों की एकल स्कल्स स्पर्धा के फाइनल में प्रवेश कर लिया है. रेपेचेज में मिले अवसर पर दत्तु ने संघर्ष करते हुए सात मिनट और 45.71 सेकेंड का समय निकालकर फाइनल में जगह बनाई. कबड्डी : भारतीय महिला टीम ने श्रीलंका को हराया भारतीय महिला कबड्डी टीम ने अपने तीसरे मैच में भी जीत हासिल की. भारत ने श्रीलंका को 38-12 से मात दी और ग्रुप-ए में छह अंकों के साथ शीर्ष स्थान हासिल कर लिया है. भारतीय महिला टीम का मुकाबला आज ही इंडोनेशिया से भी होना है. तैराकी : 50 मीटर फ्रीस्टाइल स्पर्धा के फाइनल में वीरधवल खाड़े भारतीय तैराक वीरधवल खाड़े ने पुरुषों की 50 मीटर फ्रीस्टाइल तैराकी स्पर्धा के फाइनल में प्रवेश कर लिया है. हालांकि, इस स्पर्धा में शामिल एक अन्य भारतीय तैराक अंशुल कोठारी आगे नहीं निकल सके और उन्हें 28वां स्थान हासिल हुआ. एशियन गेम्स का सबसे बड़ा उलटफेर एशियन गेम्स के दूसरे दिन सबसे बड़ा उलटफेर देखने को मिला था. कोरिया की टीम ने भारत को मात दे दी. भारतीय कबड्डी टीम 28 साल में पहली बार एशियन गेम्स में किसी मुकाबले में हारी है. भारतीय टीम को इस हार से उबरने की जल्द से जल्द कोशिश करनी होगी. आज तीसरे दिन जिम्नास्टिक्स के मुकाबले भी शुरू होंगे. आर्टिस्टिक जिम्नास्टिक्स में भारत की स्टार जिम्नास्ट दीपा करमाकर एक्शन में होंगी. दीपा ने कुछ महीने पहले कॉमनवेल्थ गेम्स में भाग नहीं लिया था. भारत को उनसे मेडल की उम्मीद है. दो साल पहले रियो ओलंपिक में दीपा चौथे नंबर पर रही थीं. 18वें एशियाई खेलों में प्रतिस्पर्धा के तीसरे दिन आज (मंगलवार) विभिन्न खेलों में भारतीय खिलाड़ियों और टीमों का कार्यक्रम इस प्रकार है. (सभी भारतीय समय अनुसार)
नई दिल्ली विनेश फोगाट ने एशियाई खेलों में इतिहास रचते हुए 50 किग्रा फ्रीस्टाइल कुश्ती में गोल्ड मेडल अपने नाम किया है। इस उपलब्धि के साथ वह पहली भारतीय महिला पहलवान बनी हैं, जिन्होंने एशियाई खेलों में स्वर्ण पदक अपने नाम किया हो। गोल्ड मेडल के लिए खेले गए मुकाबले में विनेश ने जापान की इरी युकी को 6-2 से मात दी। बता दें कि भारत ने एशियाई खेलों में अभी तक दो ही गोल्ड मेडल अपने नाम किए हैं। दोनों ही पदक कुश्ती से मिले हैं। इससे पहले रविवार को बजरंग पूनिया ने इन खेलों का पहला गोल्ड मेडल दिलाया था। सोमवार को भारत की विनेश जब अपनी बाउट में उतरीं, तो वह पैर में दर्द की समस्या से जूझ रही थीं। इसके बावजूद उन्होंने अपनी सभी बाउट जीतीं और विरोधी रेसलर को कोई मौका नहीं दिया। गोल्ड मेडल के लिए खेले गए फाइनल मुकाबले में विनेश ने संभल कर शुरुआत की और पहले वह डिफेंसिंग अप्रोच के साथ खेल रही थीं। विनेश फोकस नजर आ रही थीं और जब रेफरी ने उन्हें रक्षात्मक खेल छोड़ पॉइंट्स अर्जित करने के लिए कहा, तो फिर विनेश ने मैट पर अपनी चपलता दिखाई और जापानी रेसलर पर बढ़त बना ली। फाइनल में पहुंचने से पहले विनेश ने सेमीफाइन में कोरिया की पहलवान किम को पटखनी दी थी। इस मुकाबले में विनेश ने किम को कोई मौका ही नहीं दिया और बाउट शुरू होते ही कुछ ही पलों में 11 अंक बटोर कर तकनीकी आधार 11-0 से मुकाबला अपने नाम किया था। इस तरह उन्होंने सेमीफाइनल में एकतरफा जीत दर्ज कर गोल्ड मेडल के लिए अपनी चुनौती ठोकी। भारत की ओर से विनेश ने दिन की शुरुआत करते हुए चीन की सुन को हराया। उन्होंने इस जीत के साथ रियो ओलिंपिक की अपनी कड़वी यादों को पीछे छोड़ दिया जब चीनी खिलाड़ी के खिलाफ मुकाबले में पैर में चोट लगने के कारण विनेश मुकाबला हार गई थीं। इस मुकाबले में विनेश ने इस बार विरोधी खिलाड़ी को कोई मौका नहीं दिया और उसे 8-2 से हराया। अगली बाउट में उन्होंने कोरिया की हजुंगजू किम को तकनीकी श्रेष्ठता के आधार पर हरा दिया। उनका सेमीफाइनल मैच केवल 75 सेकेंड चला और वह ‘फितले’ दांव के साथ फाइनल में पहुंचीं। वह 4-0 से आगे थीं और फिर तीन बार विरोधी खिलाड़ी को पलट दिया। अपने पहले एशियाई खेल में साक्षी का सेमीफाइनल तक का सफर आसान रहा और उन्होंने थाइलैंड श्रीसोम्बत (10-0) और अयालुम कस्सीमोवा (10-0) को आसानी से शिकस्त दी।
जकार्ता इंडोनेशिया की राजधानी जकार्ता में चल रहे एशियन गेम्स के दूसरे दिन भारतीय खिलाड़ियों के मुकाबले जारी हैं। सोमवार को भारत के खाते में निशानेबाजी से दो मेडल आए। भारत के अब कुल चार मेडल हो चुके हैं। दीपक कुमार और लक्ष्य ने निशानेबाजी में सिल्वर मेडल जीता है। इनमें एक गोल्ड, 2 सिल्वर और एक ब्रॉन्ज मेडल शामिल हैं। जानिए कहां जीता और कहां हारा भारत.... लक्ष्य ने शूटिंग ट्रैप (पुरुष) में जीता सिल्वर मेडल लक्ष्य शेरॉन 43/50 के स्कोर के साथ दूसरे स्थान पर रहे और भारत के लिए सिल्वर मेडल जीता। वहीं भारत के मानवजीत सिंह संधू को चौथे स्थान से संतोष करना पड़ा। चीनी ताईपे के यांग के को गोल्ड मिला। लक्ष्य की जीत के बाद स्टेडियम में भारत माता की जय के नारे भी लगे। दीपक ने शूटिंग में दिलाया सिल्वर दीपक कुमार ने शानदार प्रदर्शन करते हुए 18वें एशियाई खेलों की निशानेबाजी स्पर्धा की 10 मीटर एयर राइफल स्पर्धा में सिल्वर मेडल जीता। निशानेबाजी में भारत का यह दूसरा पदक है। चीन के गत चैंपियन यांग हाओरान ने 249-1 के स्कोर के साथ गोल्ड मेडल जीता। दीपक 18वें शॉट तक पदक की दौड़ में नहीं थे, लेकिन इसके बाद उन्होंने 10.9 का परफेक्ट स्कोर करके 247.7 अंक के साथ सिल्वर मेडल जीता। ब्रॉन्ज मेडल चीनी ताइपै के लू शाओचुआन को मिला जिन्होंने 226.8 का स्कोर किया। मिश्रित टीम स्पर्धा में अपूर्वी चंदेला के साथ कल ब्रॉन्ज जीतने वाले रवि कुमार पदक से चूक गए। वह 20वें शॉट के बाद बाहर हो गए। उनका स्कोर 205.2 रहा। दिल्ली के दीपक के लिए यह बड़ी स्पर्धा में पहला व्यक्तिगत पदक है । उन्होंने इस साल मेहुली घोष के साथ विश्व कप मिश्रित टीम स्पर्धा में पदक जीता था। दीपक और रवि इससे पहले 60 शॉट के क्वालीफिकेशन दौर में चौथे और पांचवें स्थान पर रहे थे। शीर्ष आठ निशानेबाजों ने फाइनल के लिये क्वॉलिफाई किया। दीपक ने फाइनल में 10.9 स्कोर करके रवि को पछाड़ा । निशानेबाजीः पदक से चूकीं सीमा तोमर निशानेबाज सीमा तोमर महिलाओं की ट्रैप स्पर्धा के फाइनल में हारकर पदक से चूक गई हैं। स्वर्ण पदक के लिए रविवार को हुए मुकाबले में सीमा का प्रदर्शन निराशाजनक रहा और वह पदक जीतने में कामयाब नहीं हो पाई। सीमा 25 में से केवल 12 अंक ही अर्जित कर पाईं। उन्होंने बेहद खराब शुरुआत की और पहले पांच निशाने गलत लगाएं। स्वर्ण पदक के लिए हुए इस मुकाबले में कुल छह खिलाड़ियों ने भाग लिया, जिसमें सीमा अंतिम पायदान पर रहीं। कुश्ती: 57 किग्रा में हारीं पूजा, पर मेडल की एक उम्मीद बाकी राष्ट्रमंडल खेलों में भारत को सिल्वर मेडल दिलाने वालीं महिला पहलवान पूजा ढांडा अपनी सफलता को 18वें एशियाई खेलों में जारी नहीं रख सकीं। पूजा को खेलों के दूसरे दिन सोमवार को उत्तर कोरिया की मयोंग सुक जोंक ने महिलाओं की 57 किलोग्राम भारवर्ग फ्रीस्टाइल स्पर्धा के सेमीफाइनल में 10-0 से मात देकर फाइनल में जगह बनाई। इन दोनों के बीच इससे पहले हुए मुकाबले में भी पूजा को इसी स्कोर से हार का सामना करना पड़ा था। पहले राउंड की शुरुआत में पूजा ने आक्रामक खेल खेलने की कोशिश की, लेकिन कोरियाई खिलाड़ी ने उन्हें हावी नहीं होने दिया और बाहर भेजते हुए पहले दो अंक लिए और फिर एक अंक का दांव लगाकर पहले राउंड का समापन 3-0 की बढ़त के साथ किया। दूसरे राउंड में पूजा कोरियाई पहलवान के सामने बिल्कुल भी नहीं टिक पाईं और जोंग ने इस राउंड में सात अंक और लेकर तकनीकी दक्षता के आधार पर यह मैच अपने नाम कर पूजा को पिछली हार का बदला नहीं लेने दिया। जोंग अगर फाइनल में पहुंचती हैं तो पूजा के पास रेपचेज मैच खेलने का मौका होगा और पूजा अगर उस मैच में जीत जाती हैं तो वह कांस्य पदक की रेस में आ जाएंगी। कुश्तीः 62 किग्रा फ्रीस्टाइल के सेमीफाइनल में साक्षी भारतीय महिला पहलवान साक्षी मलिक ने 62 किलोग्राम फ्रीस्टाइल कुश्ती स्पर्धा के सेमीफाइनल में प्रवेश कर लिया है। साक्षी ने क्वॉर्टर फाइनल में कजाकिस्तान की अयालुम कैसीमोवा को 10-0 से मात दी। पहले दौर में साक्षी ने कैसीमोवा को 7-0 से पछाड़ा और उसके बाद दूसरे दौर में साक्षी ने 3 अंक लेकर 10-0 से जीत हासिल कर सेमीफाइनल में कदम रखा। सेमीफाइनल में साक्षी का सामना किर्गिस्तान की एसुलु टीनीबेकोवो से होगा। कुश्तीः विनेश 50 किग्रा फ्रीस्टाइल स्पर्धा के सेमीफाइनल में भारतीय महिला पहलवान विनेश फोगाट ने सोमवार को 18वें एशियाई खेलों में महिलाओं की 50 किलोग्राम फ्रीस्टाइल कुश्ती स्पर्धा के सेमीफाइनल में प्रवेश कर लिया है। पैर में दर्द की समस्या के बावजूद विनेश ने अपनी क्षमता को बनाए रखते हुए दक्षिण कोरिया की किम ह्यूंगजू को क्वार्टर फाइनल में 11-0 से करारी शिकस्त दी। विनेश ने पहले दौर में किम पर अपनी रणनीति के तहत शिकंजा कसते हुए छह अंक बटोरे। दूसरे चरण में भी भारतीय महिला पहलवान ने किम को अंक लेने का मौका न देते हुए टेक्निकल सुपियोरिटीमें 11-0 से हराकर सेमीफाइनल में जगह बनाई। बैडमिंटनः साइना की हार के साथ भारत बैडमिंटन महिला टीम स्पर्धा से बाहर पीवी सिंधु ने दुनिया की नंबर एक खिलाड़ी अकाने यामागुची को हराया, लेकिन खराब फॉर्म से जूझ रही साइना नेहवाल चार मैच अंक बचाने के बावजूद नोजोमी ओकुहारा से हार गईं, जिससे भारत एशियाई खेलों की महिला टीम बैडमिंटन स्पर्धा से बाहर हो गया। भारतीय महिला टीम ने इंचियोन में चार साल पहले ब्रॉन्ज मेडल जीता था। भारतीय टीम क्वॉर्टर फाइनल में दुनिया की सबसे मजबूत टीम से हार गई। सिंधु और यामागुची के बीच मुकाबला नजदीकी था, लेकिन सिंधु ने 21-18, 21-19 से जीत दर्ज की। उसने 41 मिनट तक चला मुकाबला जीतकर भारत को बढ़त दिलाई। एन सिक्की रेड्डी और अराती सुनील को युकी फुकुशिमा और सायाका हिरोता ने 21-15, 21-6 से हराया। दूसरे महिला एकल मुकाबले में साइना ने शानदार वापसी करके दूसरे गेम में चार मैच अंक बचाए लेकिन एक घंटे 11 मिनट तक चला मुकाबला 11-21, 25-23, 16-21 से हार गईं। करो या मरो के चौथे मुकाबले में सिंधु और अश्विनी पोनप्पा को मिसामी मत्सुतोमो और अयाका ताकाहाशी ने 21-13, 21-12 से हराया। हैंडबॉलः भारत ने मलयेशिया को 45-19 से हराया भारतीय पुरुष हैंडबॉल टीम ने यहां जारी 18वें एशियाई खेलों के अपने पहले ग्रुप मुकाबले में मलयेशिया को 45-19 से हराया। ग्रुप-3 में सोमवार को हुए अपने पहले मुकाबले में भारत ने दमदार खेल दिखाया और पूरे मैच के दौरान मलयेशिया को बड़ी बढ़त नहीं बनाने दी। पहले हाफ में भारत ने आक्रामक खेल दिखाते हुए 25-8 की बढ़त बना ली। भारत ने दूसरे हाफ में भी अपने शानदार प्रदर्शन को जारी रखा और 20-11 की बढ़त बनाते हुए मैच को अपने नाम किया। अगले ग्रुप मुकाबले में भारत का सामना शुक्रवार को चिर-प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान से होगा। बास्केटबॉलः भारतीय महिला टीम की लगातार तीसरी हार भारतीय महिला बास्केटबॉल टीम को एशियाई खेलों में लगातार तीसरी हार झेलनी पड़ी। यूनिफाइड कोरिया ने भारत को 104-54 से करारी शिकस्त दी। भारत को ग्रुप ए के पहले मुकाबले में कजाकिस्तान ने 79-61 और दूसरे मुकाबले में ताइवान ने 84-61 से मात दी थी। टेनिस से अच्छी खबर भारत के पुरुष टेनिस खिलाड़ी रामकुमार रामनाथन एकल वर्ग के अंतिम-16 में पहुंचने में सफल रहे हैं। रामकुमार रामनाथन ने जकार्ता स्पोट्र्स सेंटर के टेनिस कोर्ट पर हॉन्ग कॉन्ग के वोंग कोंग किट को सीधे सेटों में 6-0, 7-6(4) से मात देकर प्री क्वॉर्टर फाइनल में जगह बनाई। एक घंटे 26 मिनट तक चले मैच में कोंग को दूसरे सेट में कुछ समस्या हुई थी। बावजूद इसके उन्होंने रामकुमार रामनाथन को अच्छी टक्कर दी। महिला टेनिस खिलाड़ी अंकिता रविंद्रकृष्ण ने भी अच्छा प्रदर्शन करते हुए महिला एकल वर्ग के प्री-क्वॉर्टर फाइनल में प्रवेश कर लिया। महिला एकल वर्ग के अंतिम-32 दौर में अंकिता ने इंडोनेशिया की बिट्राइस गुमुल्या को मात दी। अंकिता ने एक घंटे और 47 मिनट तक चले इस मुकाबले में गुमुल्या को सीधे सेटों में 6-2, 6-4 से हराकर अंतिम-16 दौर में कदम रखा।
जकार्ता, भारतीय निशानेबाज दीपक कुमार ने एशियन गेम्स-2018 के दूसरे दिन भारत को सिल्वर मेडल दिलाया है. 10 मीटर एयर राइफल स्पर्धा के फाइनल में उन्होंने 247.7 अंक हासिल कर दूसरा स्थान हासिल किया, जबकि चीन के शूटर यांग हाओरान ने एशियन गेम्स रिकॉर्ड अंक 249.1 के साथ गोल्ड मेडल पर कब्जा किया. चीनी ताइपेई के लु शाओचुआन (226.8) को ब्रॉन्ज मेडल मिला. इस स्पर्धा में रवि कुमार पदक नहीं जीत पाए. उन्हें चौथा स्थान प्राप्त हुआ. भारत का शूटिंग में यह दूसरा पदक है. अब भारत की झोली में तीन पदक आ चुके हैं. पहले दिन भारत की झोली में दो पदक आए थे. पहलवान बजरंग पूनिया ने गोल्ड मेडल जीता, इसके अलावा शूटिंग के10 मीटर एयर राइफल मिक्स्ड टीम इवेंट में अपूर्वी चंदेला और रवि कुमार की जोड़ी ने ब्रॉन्ज मेडल हासिल किया. बैडमिंटन क्वार्टर फाइनल में भारत की महिला टीम जापान का मुकाबला कर रही है. पहले सिंगल्स मुकाबले में पीवी सिंधु ने जापान की अकाने यामागुची को 21-18, 21-19 से हरा कर शानदार शुरुआत की. लेकिन जापान ने डबल्स में जीत हासिल कर 1-1 से बराबरी कर ली है. भारत की सिक्की रेड्डी और आरती सारा वर्ल्ड नंबर-1 जापानी जोड़ी युकी और सायाका से 15-21 6-21 हार गईं. कबड्डी: भारतीय महिला टीम ने थाईलैंड को दी मात भारतीय महिला कबड्डी टीम ने अपने विजयी रथ को आगे बढ़ाते हुए थाईलैंड की टीम को मात दी. भारत ने ग्रुप-ए में थाईलैंड को फाइनल मुकाबले में 33-23 से मात दी. इससे पहले टीम ने रविवार को जापान को 43-12 से हराया था. नौकायन: लाइटवेट एकल स्कल के फाइनल में दुष्यंत नौकायन प्रतियोगिता में दुष्यंत ने पुरुषों की लाइटवेट एकल स्कल स्पर्धा के फाइनल में प्रवेश कर लिया है. उन्होंने इस स्पर्धा के हीट-1 में 7 मिनट और 43.08 सेकेंड का समय लेकर पहला स्थान हासिल किया. पुरुष हॉकी टीम करेगी आगाज भारतीय पुरुष हॉकी टीम अपने अभियान का आगाज करेगी. पहले मुकाबले में उसे मेजबान इंडोनेशिया से दो-दो हाथ करना है. भारत की टीम मौजूदा चैंपियन है. चार साल पहले इंचोयन एशियाड में भारत में आर्च राइवल पाकिस्तान को मात देकर खिताब पर कब्जा किया था. अगर भारत अपने गोल्ड मेडल को बचाने में कामयाब रहता है, तो फिर उसे 2010 टोक्यो ओलिंपिक में सीधी एंट्री मिल जाएगी. कुश्ती में मिलेगा पदक महिलाओं की कुश्ती में आज 62 किलोग्राम फ्री-स्टाइल इवेंट में ओलंपिक ब्रॉन्ज मेडलिस्ट साक्षी मलिक और 50 किलो भारवर्ग फ्री-स्टाइल में विनेश फोगाट से पदक की उम्मीद की जा रही है. इसके अलावा 57 किलोग्राम भारवर्ग में पूजा ढांडा अपना दावा पेश करेंगी. इसके अलावा पुरुषों के सुपर हेवीवेट कैटेगरी यानी 125 किलोग्राम में सुमित का दम भी पदक की गारंटी बन सकता है.
नई दिल्ली कॉमनवेल्थ गेम्स के गोल्ड मेडलिस्ट भारतीय स्टार रेसलर बजरंग पूनिया ने पुरुषों की 65 किग्रा स्पर्धा के फाइनल मुकाबले में जापान के ताकातानी दाइचि को 11-8 से हराते हुए 18वें एशियाई खेलों के पहले दिन भारत को गोल्ड मेडल दिलाया। प्रतियोगिता में यह भारत का पहला गोल्ड मेडल है। गोल्ड मेडल जीतने पर पीएम नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर बजरंग को बधाई दी है। बता दें कि पूनिया ने एशियन गेम्स-2014 में सिल्वर मेडल जीता था, जिसका रंग वह इस बार बदलने में कामयाब रहे। इससे पहले अपूर्वी चंदेला और रवि कुमार ने 10 मीटर एयर राइफल मिक्स्ड टीम इवेंट में भारत के लिए ब्रॉन्ज मेडल जीता था। मुकाबला बेहद कांटे का रहा। भारतीय रेसलर ने आक्रामक रुख अख्तियार करते हुए पहले 16 सेकंड में ही 6 पॉइंट जुटा लिए थे, लेकिन जापानी रेसलर ने वापसी की। एक वक्त दोनों रेसलर 6-6 की बराबरी पर आ गए थे, लेकिन जैसे-जैसे खेल आगे बढ़ा बजरंग ने जापानी रेसलर पर काबू पा लिया। यह मुकाबला बजरंग ने 11-8 से अपने नाम करते हुए गोल्ड मेडल जीत लिया। बता दें कि 24 वर्षीय भारतीय पहलवान ने एशियाई खेलों से पहले लगातार 3 स्वर्ण पदक अपने नाम किए थे। उन्होंने गोल्ड कोस्ट राष्ट्रमंडल खेलों में, जॉर्जिया में तबलिसी ग्रांप्री और इस्तांबुल में यासर दोगु अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिता में खिताब जीता था। सेमीफाइनल में दमदार प्रदर्शन सेमीफाइनल मुकाबले बजरंग ने मंगोलिया के बाटमगनाई बैटचुलुन को 10-0 से मात दे फाइनल में प्रवेश किया। बजरंग ने शुरू से तेज और आक्रामक खेल खेला। मंगोलिया के खिलाड़ी ने हालांकि कुछ देर साहस दिखाया, लेकिन जैसे ही बजरंग ने उनको पलटते हुए दो अंक हासिल किए, उनका मनोबल टूट गया। इसके बाद भारतीय खिलाड़ी अपने विपक्षी पर दो-दो अंकों के लगातार चार दांव लगाते हुए 8-0 की बढ़त ले ली। बाटमगनाई बैटचुलुन को इस दौरान आंख के नीचे भी चोट लगी। पहले राउंड की समाप्ति के बाद तक बजरंग ने 8-0 की बढ़त ले ली थी। दूसरे राउंड में बजरंग ने एक और दो अंक का दांव खेल स्कोर 10-0 किया और तकनीकी दक्षता के आधार पर उन्हें विजेता घोषित कर दिया गया। क्वॉर्टर फाइनल में फेजेव को हराया पूनिया ने क्वॉर्टर फाइनल मुकाबले में ताजिकिस्तान के फेजेव अब्दुलकासिम को 12-2 से मात दी। पहले चरण में बजरंग ने फेजेव को टैकल करते हुए पीली रेखा से बाहर कर छह अंक बटोर कर मजबूत बढ़त हासिल की। वह प्रतिद्वंद्वी खिलाड़ी को खुद पर हावी होने का मौका ही नहीं दे रहे थे। ऐसे में उन्होंने पहले ही दौर में 9-2 से पहली बढ़त हासिल कर ली। इसके बाद, फेजेव को वापसी का मौका न देते हुए बजरंग ने 12-2 से जीत दर्ज की। प्री-क्वॉर्टर फाइनल में खासानोव को हराया बजरंग ने रविवार को प्री-क्वॉर्टर फाइनल में उज्बेकिस्तान के पहलवान सिरोजिद्दीन खासानोव को 13-3 से हराया। पहले चरण में बजरंग ने अच्छा दांव लगाया और खासानोव को टैकल करते हुए 6-3 से पीछे कर दिया। दूसरे दौर में भी बजरंग ने अपने प्रतिद्वंद्वी पर पकड़ बनाए रखी और 9-3 से बढ़त बना ली। इसके बाद उन्होंने प्रतिद्वंद्वी को वापसी का मौका नहीं दिया और 13-3 से जीत हासिल की।
जकार्ता एशियाई गेम्स से भारतीय टीम के लिए खुशखबरी आ रही है। शूटिंग टीम ने भारत को पदक दिलवाया है। 10 मिटर एयर राइफल मिक्स्ड इवेंट में अपूर्वी चंदेला और रवि कुमार ने कांस्य पदक पर निशाना लगाया। इस तरह भारत ने भी पदक तालिका में अपना नाम दर्ज करवा लिया। गोल्ड पर चीनी ताइपे के खिलाड़ियों ने निशाना लगाया। रजत चीन को मिला। दोनों ही शूटर्स का यह एशियाई खेल इतिहास में पहला मेडल है। चंदेला-कुमार ने 42 शॉट्स के बाद 429.9 अंक हासिल कर फाइनल में पहुंची 5 टीमों के बीच तीसरा पायदान हासिल किया। अपूर्वी चंदेला और रवि कुमार की गिनती देश के होनहार शूटर्स में की जाती है। दोनों ने कॉमनवेल्थ खेलों में भी शानदार प्रदर्शन करते हुए 10मी. एयर राइफल में भारत के लिए व्यक्तिगत ब्रॉन्ज मेडल जीते थे। ऐसे में अब मिक्स्ड इवेंट के बाद देश को दोनों से जकार्ता एशियाई खेलों में सिंगल स्पर्धा में भी पदक की आस होगी।
लंदन लॉर्ड्स टेस्ट में मेजबान इंग्लैंड ने भारत को पारी और 159 रनों से हराते हुए 5 मैचों की टेस्ट सीरीज में 2-0 की बढ़त ले ली। इंग्लिश टीम ने पहली पारी में 7 विकेट पर 396 रन बनाए थे, जबकि पहली पारी में 107 रन बनाने वाली टीम इंडिया की दूसरी पारी सिर्फ 130 रनों पर ढेर हो गई। कोई भी भारतीय बल्लेबाज इंग्लैंड की तेज गेंदबाजी आक्रमण का सामना नहीं कर सका। उसके लिए आर. अश्विन ने सबसे अधिक नाबाद 33 रनों की पारी खेली, जबकि इंग्लैंड के लिए जेम्स एंडरसन और स्टुअर्ट ब्रॉड ने 4-4 विकेट झटके। भारत की खराब शुरुआत, मुरली विजय जीरो पर आउट दूसरी पारी में भी भारत की शुरुआत खराब रही। जेम्स एंडरसन ने मुरली विजय को पारी के तीसरे ओवर में विकेटकीपर जानी बेयरस्टॉ के हाथों कैच कराकर लार्ड्स पर अपना 100वां टेस्ट विकेट हासिल किया। विजय किसी टेस्ट की दोनों पारियों में खाता खोलने में नाकाम रहने वाले भारत के छठे सलामी बल्लेबाज बने। वह 2018 में दक्षिण अफ्रीका और इंग्लैंड में विदेशी सरजमीं पर 10 पारियों में केवल 128 रन बना पाए हैं। लोकेश राहुल फिर हुए फेल चार ओवर बार एंडरसन ने सलामी बल्लेबाज लोकेश राहुल (10) को भी पगबाधा किया। कप्तान विराट कोहली चौथे नंबर पर बल्लेबाजी के लिए नहीं उतरे, क्योंकि पीठ में जकड़न के कारण सुबह वह क्षेत्ररक्षण के लिए मैदान पर नहीं उतरे थे। बारिश के कारण लंच ब्रेक जल्दी लेना पड़ा। लगभग डेढ़ घंटे के विलंब के बाद जब खेल दोबारा शुरू हुआ तो वोक्स, एंडरसन और ब्रॉड ने भारतीय बल्लेबाजों को काफी परेशान किया। रहाणे-पुजारा सस्ते में आउट अजिंक्य रहाणे (13) पांच रन के निजी स्कोर पर भाग्यशाली रहे जब वोक्स की गेंद उनके बल्ले का अंदरूनी किनारा लेने के बाद पैड से टकराकर स्लिप की ओर उछली, लेकिन क्षेत्ररक्षक के हाथों तक नहीं पहुंची। इंग्लैंड के कप्तान जो रूट ने इसके बाद गेंद ब्रॉड को थमाई और उनके नए स्पैल के दूसरे ओवर में ही रहाणे बाहर की ओर मूव होती गेंद से छेड़छाड़ की कोशिश में तीसरी स्लिप में कीटॉन जेनिंग्स को आसान कैच दे बैठे। इस तेज गेंदबाज ने पुजारा को लगातार परेशान करने के बाद अंतत: उन्हें बोल्ड कर दिया, जिससे भारत का स्कोर चार विकेट पर 50 रन हो गया। पुजारा ने 17 रन बनाए। विराट-दिनेश कार्तिक एक ही ओवर में आउट ब्रॉड ने चाय के ब्रेक से कुछ देर पहले उछाल लेती गेंद पर कोहली को शॉर्ट लेग पर ओलिवर पोप के हाथों कैच कराया। कोहली ने डीआरएस का सहारा लिया, लेकिन रीप्ले में दिखा की गेंद उनके ग्लव्स को छूने के बाद पोप की ओर उछली थी। ब्रॉड ने अगली गेंद पर दिनेश कार्तिक को भी पगबाधा किया। कार्तिक ने भी डीआरएस लिया, लेकिन फैसला गेंदबाज के पक्ष में गया, जिससे भारत का स्कोर छह विकेट पर 61 रन हो गया। पंड्या-अश्विन ने जोड़े 55 रन इसके बाद हार्दिक पंड्या और आर. अश्विन ने 7वें विकेट के लिए 55 रन जोड़े। भारतीय पारी की किसी भी विकेट के लिए यह सबसे बड़ी साझेदारी रही। इस साझेदारी को क्रिस वोक्स ने हार्दिक (26) को पगबाधा आउट करके तोड़ा। कुलदीप यादव (0), मोहम्मद शमी (0) और इशांत शर्मा (0) को जेम्स एंडरसन ने पविलियन की राह दिखाई। इंग्लैंड की पहली पारी: 396/7 इससे पहले भारत के पहली पारी में 107 रन के जवाब में इंग्लैंड ने 88.1 ओवर में सात विकेट पर 396 रन बनाकर पहली पारी घोषित की। मेजबान टीम ने पहली पारी के आधार पर 289 रन की बढ़त हासिल की। इंग्लैंड ने दिन की शुरुआत छह विकेट पर 357 रन से की। इंग्लैंड की टीम ने सुबह के सत्र में तेजी से रन जुटाने की कोशिश की, काफी हद तक उसके बल्लेबाज कामयाब भी रहे। हल्की बारिश शुरू होने पर करन ने ताबड़तोड़ बल्लेबाजी की कोशिश की। उन्होंने कुछ अच्छे शाट मारे, लेकिन हार्दिक पंड्या (66 रन पर तीन विकेट) की गेंद पर थर्ड मैन पर लपके गए, जिसके बाद इंग्लैंड के कप्तान जो रूट ने पारी घोषित कर दी। क्रिस वोक्स 137 रन बनाकर नाबाद रहे। भारतीय पारी का रोमांच इससे पहले इंग्लैंड की स्विंग होती गेंदबाजी के सामने भारतीय बल्लेबाजी का लड़खड़ाना लॉर्ड्स टेस्ट में भी जारी रहा। मैच के दूसरे दिन सिर्फ 35.2 ओवर का खेल हुआ और इसी में भारतीय पारी 107 रनों पर सिमट गई। कप्तान विराट कोहली भले ही दावा कर रहे हों कि कोई तकनीकी समस्या नहीं है, लेकिन भारतीय बल्लेबाजों की दुर्दशा देखकर ऐसा नहीं लगा। इंग्लैंड के लिए जिम्मी एंडरसन ने 20 रन देकर पांच विकेट लिए। एक पारी में पांच या अधिक विकेट लेने का कारनामा उन्होंने 26वीं बार किया। क्रिस वोक्स ने दो, जबकि सैम कुरेन और स्टुअर्ट ब्रॉड ने एक-एक विकेट लिया।
बर्मिंघम, इंग्लैंड ने टीम इंडिया को बर्मिंघम में खेले गए रोमांचक टेस्ट मैच में 31 रनों से मात दे दी है. इसी के साथ ही मेजबान टीम ने पांच मैचों की टेस्ट सीरीज में 1-0 से बढ़त बना ली है. टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए इंग्लैंड की टीम अपनी पहली पारी में 287 रन बनाकर ऑलआउट हो गई. जिसके जवाब में टीम इंडिया अपनी पहली पारी में 274 रन पर ढेर हो गई. इस तरह इंग्लैंड को पहली पारी के आधार पर 13 रन की बढ़त मिली. दूसरी पारी में इंग्लैंड ने 180 रन बनाए जिसके बाद टीम इंडिया को जीत के लिए 194 रनों का टारगेट मिला. टारगेट का पीछा करते हुए टीम इंडिया 162 रन पर ढेर हो गई और इंग्लैंड ने 31 रनों से मैच अपने नाम कर लिया. कोहली ने अकेले खड़े रहते हुए 93 गेंदों में चार चौकों की मदद से 51 रनों की पारी खेली. उनके अलावा कोई और बल्लेबाज अर्धशतक के आस-पास भी नहीं पहुंच सका. कोहली के बाद भारत के लिए सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज हार्दिक पंड्या रहे, जिन्होंने 31 रन बनाए. चार विकेट लेने वाले स्टोक्स ने पंड्या को आउट कर भारतीय टीम को समेट इंग्लैंड को जीत दिलाई. भारत ने तीसरे दिन का अंत पांच विकेट के नुकसान पर 110 रनों के साथ किया था. चौथे दिन कप्तान और उनके साथ नाबाद लौटने वाले दिनेश कार्तिक (20) पर टीम को जीत दिलाने की जिम्मेदारी थी. जेम्स एंडरसन ने कार्तिक को दिन के पहले ओवर में ही पवेलियन भेज दिया. बेन स्टोक्स ने 141 के कुल स्कोर पर कोहली को आउट कर इंग्लैंड की जीत लगभग तय कर दी. स्टोक्स ने हार्दिक पंड्या को 31 रनों के निजी स्कोर पर भारत की पारी समेट दी. इंग्लैंड के लिए दूसरी पारी में स्टोक्स ने चार विकेट लिए. एंडरसन और ब्रॉड को दो-दो सफलताएं मिलीं. सैम कुरेन और आदिल राशिद को एक-एक विकेट मिला. LIVE स्कोरबोर्ड दूसरी पारी में टीम इंडिया के विकेट मुरली विजय (6) और शिखर धवन (13) फिर से टीम को अच्छी शुरुआत देने में नाकाम रहे. स्टुअर्ट ब्रॉड (29 रन देकर दो) ने इन दोनों को आठ ओवर के अंदर पवेलियन भेज दिया था. शुरू में जीवनदान पाने वाले विजय एलबीडब्ल्यू आउट हुए जबकि धवन ने ढीला शॉट खेलकर विकेट के पीछे कैच दिया. केएल राहुल (13) शुरू से ही बाहर जाती गेंदों से जूझ रहे थे. उन्होंने बेन स्टोक्स की गुडलेंथ गेंद पर जॉनी बेयरस्टॉ को आसान कैच दिया. अंजिक्य रहाणे (2) भी नहीं चल पाए. बेयरस्टॉ ने कुरेन की गेंद पर उनका नीचा रहता हुआ कैच लपका. कोहली ने पहली पारी की तरह एक छोर संभाले रखा लेकिन इस बार बल्लेबाजी क्रम में बदलाव किया गया तथा अश्विन (13) को छठे नंबर पर बल्लेबाजी के लिए भेजा गया. उन्होंने तीन चौके लगाए लेकिन जेम्स एंडरसन की खूबसूरत गेंद उनके बल्ले को चूमकर विकेटकीपर बेयरस्टॉ के दस्तानों में समा गई. चौथे दिन जेम्स एंडरसन ने कार्तिक (20) को पहले ही ओवर की आखिरी गेंद पर आउट कर भारत को परेशानी में डाल दिया. मेहमानों की परेशानी तब और बढ़ गई जब कोहली 141 के कुल स्कोर पर बेन स्टोक्स की गेंद पर एलबीडब्ल्यू करार दे दिए गए. कोहली ने रिव्यू लिया जो असफल रहा. यहां से भारत की हार पक्की लग रही थी. स्टोक्स ने इसी स्कोर पर मोहम्मद शमी को बिना खाता खोले पवेलियन भेज दिया. दो चौकों की मदद से 11 रन बनाने वाले ईशांत भारत के नौवें विकेट के रूप में आउट हुए. उन्हें आदिल राशिद ने आउट किया. स्टोक्स ने पंड्या की कोशिशों को आखिरकार नाकाम कर दिया. स्टोक्स के अलावा इंग्लैंड के लिए जेम्स एंडरसन और स्टुअर्ट ब्रॉड ने दो-दो विकेट लिए. सैम कुरेन और आदिल राशिद को एक-एक सफलता मिली. इंग्लैंड ने टीम इंडिया को दिया 194 रनों का टारगेट दूसरी पारी में इंग्लैंड ने 180 रन बनाए जिसके बाद टीम इंडिया को जीत के लिए 194 रनों का टारगेट मिला. इंग्लैंड ने अपने आठ बल्लेबाज 135 रनों पर ही खो दिए थे, लेकिन यहां से सैम कुरेन (63) ने तेजी से रन बटोरते हुए इंग्लैंड को इस स्कोर तक पहुंचाया. वह दूसरी पारी में इंग्लैंड के टॉप स्कोरर साबित हुए. इंग्लैंड का स्कोर सात विकेट पर 87 रन था, लेकिन 20 वर्षीय ऑलराउंडर कुरेन ने 65 गेंदों पर 63 रन की पारी खेली जिससे उनकी टीम भारत के सामने चुनौतीपूर्ण लक्ष्य रखने में सफल रही.
नई दिल्ली इंग्लैंड के खिलाफ 1 अगस्त से शुरू हो रही 5 टेस्ट मैचों की सीरीज के शुरुआती 3 मैचों के लिए भारतीय टीम का ऐलान हो चुका है। बीसीसीआई ने बुधवार को पहले 3 टेस्ट मैच के लिए 18 सदस्यीय टीम का ऐलान किया। इंग्लैंड के खिलाफ मंगलवार को खेले गए तीसरे और सीरीज के आखिरी वनडे मुकाबले में चोटिल होने की वजह से तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार को टीम में जगह नहीं दी गई है। टीम में 2-2 विकेटकीपर रखे गए हैं। दिनेश कार्तिक के साथ ऋषभ पंत को भी विशेषज्ञ विकेटकीपर बल्लेबाज के तौर पर टीम में जगह दी गई है। कार्तिक अफगानिस्तान के खिलाफ टेस्ट में विकेटकीपिंग की थी। पहली बार ऋषभ पंत को टेस्ट टीम में शामिल किया गया है। इंग्लैंड के खिलाफ मंगलवार को आखिरी वनडे में बल्ले से कुछ आकर्षक शॉट लगाने वाले तेज गेंदबाज शार्दुल ठाकुर को टीम में जगह दी गई है। अगर वह अंतिम एकादश में जगह पाते हैं 26 साल का यह युवा पहली बार टेस्ट कैप पहनेगा। यो यो टेस्ट में फेल होने के बाद इंग्लैंड के खिलाफ वनडे टीम में जगह बनाने में नाकाम रहने वाले तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी को टेस्ट टीम में जगह मिली है। शमी ने बाद में यो यो टेस्ट पास किया था। बुमराह टीम के साथ दूसरे टेस्ट मैच से जुड़ेंगे। उनके अंगूठे में चोट है और इसी के चलते उन्हें वनडे सीरीज से बाहर होना पड़ा था। वहीं, अभी तय नहीं है कि भुवी को आखिरी दोनों टेस्ट में जगह मिलेगी या नहीं। बीसीसीआई ने ट्वीट कर बताया कि भुवनेश्वर की स्थिति पर नजर रखी जा रही है और जल्द ही इसका फैसला किया जाएगा इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज में वह टीम का प्रतिनिधित्व करेंगे या नहीं। टीम में 2-2 विकेटकीपर रखे गए हैं। दिनेश कार्तिक के साथ ऋषभ पंत को भी विशेषज्ञ विकेटकीपर बल्लेबाज के तौर पर टीम में जगह दी गई है। कार्तिक अफगानिस्तान के खिलाफ टेस्ट में विकेटकीपिंग की थी। पहली बार ऋषभ पंत को टेस्ट टीम में शामिल किया गया है। इंग्लैंड के खिलाफ मंगलवार को आखिरी वनडे में बल्ले से कुछ आकर्षक शॉट लगाने वाले तेज गेंदबाज शार्दुल ठाकुर को टीम में जगह दी गई है। अगर वह अंतिम एकादश में जगह पाते हैं 26 साल का यह युवा पहली बार टेस्ट कैप पहनेगा। यो यो टेस्ट में फेल होने के बाद इंग्लैंड के खिलाफ वनडे टीम में जगह बनाने में नाकाम रहने वाले तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी को टेस्ट टीम में जगह मिली है। शमी ने बाद में यो यो टेस्ट पास किया था। बुमराह टीम के साथ दूसरे टेस्ट मैच से जुड़ेंगे। उनके अंगूठे में चोट है और इसी के चलते उन्हें वनडे सीरीज से बाहर होना पड़ा था। वहीं, अभी तय नहीं है कि भुवी को आखिरी दोनों टेस्ट में जगह मिलेगी या नहीं। बीसीसीआई ने ट्वीट कर बताया कि भुवनेश्वर की स्थिति पर नजर रखी जा रही है और जल्द ही इसका फैसला किया जाएगा इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज में वह टीम का प्रतिनिधित्व करेंगे या नहीं।

Top News

http://www.hitwebcounter.com/