taaja khabar...रोहिंग्या की अवैध बस्तियों को बढ़ावा दे रहे तृणमूल कांग्रेस के नेता: एजेंसियां.....नरम पड़े चीन के तेवर? साझा सैन्य अभ्यास का दिया प्रस्ताव......चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा के खिलाफ महाभियोग प्रस्ताव को लेकर फिर सक्रिय हुए विपक्षी दल, आज बैठक.....लंदन में पीएम मोदी के सेशन से मिले साफ संकेत, क्या है बीजेपी का इलेक्शन प्लान?...कठुआ कांड के बाद किस करवट बैठेगी जम्मू-कश्मीर की सियासत?...
नई दिल्ली पश्चिम एशिया में तनाव बढ़ने से वैश्विक स्तर पर आई तेजी और स्थानीय आभूषण निर्माताओं की बढ़ी मांग से स्थानीय सर्राफा बाजार में शनिवार को सोना 300 रुपये मजबूत होकर 32,100 रुपये प्रति 10 ग्राम पर पहुंच गया। औद्योगिक इकाइयों और सिक्का निर्माताओं की मांग से चांदी भी 250 रुपये की तेजी के साथ 40 हजार रुपये प्रति किलोग्राम पर पहुंच गई। कारोबारियों ने बताया कि पश्चिम एशिया में तनाव बढ़ने से सुरक्षित निवेश के रूप में वैश्विक स्तर पर सोने की मांग बढ़ी है। इसके साथ ही स्थानीय स्तर पर खुदरा मांग की पूर्ति के लिए आभूषण निर्माताओं की मांग आने से सोने को तेजी मिली है। वैश्विक स्तर पर न्यू यॉर्क में सोना शुक्रवार को 0.83 प्रतिशत उछलकर 1,345.40 डॉलर प्रति औंस पर पहुंच गया। चांदी की चमक में 1.22 प्रतिशत इजाफा हुआ और यह 16.63 डॉलर प्रति औंस पर पहुंच गई। स्थानीय बाजार में 99.9 प्रतिशत और 99.5 प्रतिशत शुद्धता वाला सोना 300-300 रुपये की मजबूती के साथ क्रमश : 32,100 रुपये और 31,950 रुपये प्रति 10 ग्राम पर पहुंच गए। आठ ग्राम वाली गिन्नी भी 100 रुपये की बढ़त के साथ 24,900 रुपये प्रति इकाई पर पहुंच गई। चांदी हाजिर भी 250 रुपये मजबूत हुई और 40 हजार रुपये प्रति किलोग्राम पर पहुंच गई। साप्ताहिक आपूर्ति वाली चांदी 280 रुपये उछलकर 38,925 रुपये प्रति किलोग्राम बोली गई। चांदी के सिक्कों में भी 1,000 रुपये की बढ़त रही। सिक्का लिवाल 75 हजार रुपये और बिकवाल 76 हजार रुपये प्रति सैकड़ा रहे।
नई दिल्ली देश की सबसे 'हॉट' फार्मा कंपनी मैनकाइंड के चेयरमैन रमेश जुनेजा और सीईओ राजीव जुनेजा ने निरमा के फाउंडर कार्सनभाई पटेल और मैनेजमेंट गुरु सीके प्रह्लाद से काफी कुछ सीखा है। जैसे देसी निरमा ब्रैंड ने 90 के दशक में मिडल क्लास को ऐड्स के जरिए अपना उपभोक्ता बनाया था, कुछ वैसा ही तरीका मैनकाइंड के जुनेजा बंधुओं ने भी अपनाया है। निरमा के प्रचार में बॉलिवुड की हीरोइनें वाशिंग पाउडर बेच रहीं थीं और लोगों ने इसे हाथोंहाथ लिया था। मैनकाइंड एक सफल फार्मा कंपनी बनकर उभरी है। क्रिसकैपिटल जैसी कंपनी ने तीन साल के अंदर मैनकाइंड में दोबारा निवेश किया है। जुनेजा बंधुओं मैनकाउंड के कॉन्डम और कॉन्ट्रासेप्टिव प्रॉडक्ट्स को हमारे बेडरूम से निकाल प्राइम टाइम टीवी पर लेकर आए। 2007 में टीवी पर आना शुरू हुए मैनकाइंड के कॉन्डम ऐड अबतक के कॉन्डम ऐडवर्टाइजमेंट से काफी ज्यादा खुले थे। असर यह हुआ कि लोगों के जुबान पर कॉन्डम के नाम पर मैनफोर्स ब्रैंड चढ़ गया। मेरठ से आए जुनेजा बंधुओं ने 22 सालों में फार्मा सेक्टर में खुद को स्थापित करने के लिए छोटे शहरों और ग्रामीण इलाकों में बाकी कंपनियों से सस्ती दवाइयां भी बेचीं। मैनकाइंड में इन्वेस्ट करनी वाली कंपनी क्रिसकैपिटल के पार्टनर संजीव कॉल ने कहा, '2007 में जब हमने पहली बार मैनकाइंड में निवेश किया तब उन्हें बड़े टैक्सेज के बारे में भी पूरी जानकारी नहीं थी। आठ साल बाद हम 13 गुना रिटर्न तक पहुंचे। जुनेजा बंधु जल्दी सीखने वालों में से हैं।' जुनेजा बंधुओं ने सेल्स प्रमोशन पर काफी खर्च किया। वित्त वर्ष 12 और 13 में कंपनी ने 20 प्रतिशथ सालाना ग्रोथ दर्ज करते हुए राइवल कंपनी सन फार्मा को कड़ी टक्कर दी। 53 साल के राजीव जुनेजा कहते हैं, 'हम अभी भी विस्तार के मोड में हैं। हम नए इलाकों में फैल रहे हैं।' इंडस्ट्री के जानकारों का मानना है कि मैनकाइंड ने ऐसे इलाकों में फोकस किया जहां बड़ी कंपनियों ने निवेश नहीं किया था और ऐसे इलाकों में सस्ते प्रॉडक्ट्स से मैनकाइंड ने अपनी जगह बनाई। मैनकाइंड 2.0 नए दशक में कंपनी ने अपना फोकस भी बदला। कंपनी ने डायबटीज और हाइपरटेंशन ड्रग्स बनाने शुरू किए जिससे लंबे समय तक अच्छा रेवेन्यू मिलता है। दूसरी तरफ ऐंटबायॉटिक्स में कॉम्पिटीशन काफी ज्यादा और रेट कट की गुंजाइश काफी कम होती है। मैनकाइंड का 90 प्रतिशत रेवेन्यू फार्मा प्रॉडक्ट्स की सेल्स से और प्रिस्क्रिप्शन वाली दवाइयों से आता है। इंड्स्ट्री ऐनालिस्ट्स के मुताबिक, मैनकाइंड सिप्ला जैसी कंपनियों के मुकाबले मार्केटिंग और प्रमोशन पर कम से कम दो गुना अधिक खर्च करता है। ब्रैंड कंसल्टेंट हरीश बीजूर कहते हैं, 'उनके कॉन्डम ब्रैंड का चेहरा सनी लियोनी हैं और पैरंट ब्रैंड के अमिताभ बच्चन, मैं उन्हें सलाह दूंगा कि आगे निकलने की बहुत अधिक कोशिश न करें।' मेडिकल रिप्रेजेंटिव्स के मामले में भी मैनकाइंड का सबसे बड़ा नेटवर्क है। सन फार्मा की सेल फोर्स 9200 लोगों के हाथ में है वहीं मैनकाइंड की 12,000 से अधिक की सेल्स फोर्स है। nbt
अजमेर. आरपीएससी अब नया रिकॉर्ड कायम करने की दिशा में तेजी से कदम बढ़ा रहा है। आयोग के अध्यक्ष डॉ. राधे श्याम गर्ग का कार्यकाल भले ही चार महीनों का है, लेकिन उनके इस छोटे से कार्यकाल में भर्तियों की झड़ी लग गई है। 11 दिनों में आयोग ने आरएएस 2018 के 980 पदों समेत 4500 से अधिक पदों पर भर्ती निकाली है। आयोग ने 27 मार्च से भर्ती का पिटारा खोला है। पहले दिन कॉलेज लेक्चरर सारंगी वाद्य के एक पद के लिए विज्ञापन से इसकी शुरुआत की गई। आयोग की ओर से विभिन्न विभागों में 4500 से अधिक पदों के लिए अब तक भर्ती निकाली जा चुकी है। इन पदों पर निकली भर्ती - कॉलेज शिक्षा विभाग व्याख्याता सारंगी वाद्य 01 - महिला एवं अधिकारिता संरक्षण अधिकारी 20 - आर्थिक एवं सांख्यिकी सहायक सांख्यिकी अधिकारी 225 - माध्यमिक शिक्षा प्रधानाध्यापक माध्यमिक विद्यालय 1200 - माध्यमिक शिक्षा वरिष्ठ अध्यापक विशेष शिक्षा 17 - चिकित्सा एवं स्वास्थ्य फिजियो थेरेपिस्ट 30 - संस्कृत शिक्षा शिक्षक 824 - नगर नियोजक सहायक नगर नियोजक 8 - कार्मिक विभाग आरएएस 980 - उद्यमिता वाइस प्रिंसीपल अधीक्षक आईटीआई 45 - गृह ग्रुप प्रथम एसआई प्लाटून कमांडर 330 _ कृषि विभाग सहायक सांख्यिकी अधिकारी 18 - वन विभाग एसीएफ व वन रेंजर प्रथम 169 - सार्वजनिक निर्माण सहायक अभियंता सिविल 307 - जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी सहायक अभियंता सिविल व यांत्रिकी विद्युत 300 - पंचायती राज्य सहायक अभियंता4 - जल संसाधन विभाग सहायक अभियंता सिविल व यांत्रिकी 305 RPSC भर्ती 2018 के लिए वेबसाइट rpsc.rajasthan.gov.in पर जाकर डिटेल जानकारी ले सकते हैं।
नई दिल्ली हफ्ते के पहले कारोबारी दिन एक बार फिर से शेयर बाजार में सपाट शुरुआत देखने को मिली। वहीं रुपया 12 पैसे की मजबूती के साथ खुला। मिडकैप और स्मॉलकैप शेयरों में हल्की खरीदारी देखने को मिल रही है। सेंसेक्स 84 अंकों की मजबूती के साथ 33711 पर कारोबार करते हुए देखा गया। वहीं निफ्टी 36 अंकों के उछाल के साथ 10367.5 पर खुला। बीएसई का मिडकैप इंडेक्स 0.4 फीसदी बढ़ा है, जबकि निफ्टी के मिडकैप 100 इंडेक्स में 0.5 फीसदी की बढ़त दर्ज की गई है। बीएसई का स्मॉलकैप इंडेक्स 0.6 फीसदी मजबूत हुआ है। निफ्टी 10,370 तक पहुंचने में कामयाब रहा जबकि सेंसेक्स ने 33,700 तक दस्तक दी। सेंसेक्स और निफ्टी में 0.25 फीसदी की बढ़त के साथ कारोबार हो रहा है। रुपये में 12 पैसे की मजबूती रुपये की शुरुआत आज जोरदार बढ़त के साथ हुई है। डॉलर के मुकाबले रुपया आज 12 पैसे की बढ़त के साथ 64.85 के स्तर पर खुला है। वहीं पिछले कारोबारी दिन यानि शुक्रवार को डॉलर के मुकाबले रुपया 64.97 के स्तर पर बंद हुआ था।
नई दिल्ली राजस्थान पब्लिक सर्विस कमिशन ने राजस्थान में 916 असिस्टेंट इंजिनियर्स की भर्ती निकाली है। यह पोस्ट सिविल और मैकेनिकल इंजिनियर्स के लिए हैं। भर्ती के लिए योग्य अभ्यर्थी राजस्थान पब्लिक सर्विस कमिशन की वेबसाइट पर ऑनलाइन अप्लाई कर सकते हैं। वेबसाइट- rpsc.rajasthan.gov.in अप्लाई करने की डेट: 30 अप्रैल 2018 से 29 अप्रैल 2018 (रात 12 बजे तक) जरूरी डेट्स ऑनलाइन अप्लाई करने की डेट: 30 अप्रैल 2018 ऑनलाइन अप्लाई करने की लास्ट डेट: 29 मई 2018 ऑनलाइन ऐप्लिकेशन में करेक्शन की डेट: 30 मई 2018 से 2 जून 2018 (रात 12 बजे तक) शैक्षिक योग्यता पंचायती राज डिपार्टमेंट को छोड़कर सभी विभागों के लिए- सिविल/इलेक्ट्रिकल/मैकेनिकल में बीई पंचायती राज डिपार्टमेंट के लिए: मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से सिविल या ऐग्रीकल्चर इंजिनियरिंग में डिग्री या फिर राज्य सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त समकक्ष शैक्षिक योग्यता। 916 असिस्टेंट इंजिनियर पोस्ट के लिए आयु सीमा (1 जनवरी, 2019 तक)
नई दिल्ली. फाइनेंशियल ईयर 2019 का पहला दिन शेयर बाजार के अच्छा रहा। ग्लोबल मार्केट से मिले संकेतों से सोमवार को सेंसेक्स और निफ्टी में क्रमश: 0.87 फीसदी और 0.97 फीसदी की तेजी दर्ज की गई। फार्मा, आईटी, ऑटो. रियल्टी और एफएमसीजी शेयरों में बढ़त से दिनभर बाजार में बढ़त के साथ कारोबार देखने को मिला। वहीं हैवीवेट एचडीएफसी बैंक, टीसीएस, मारुति, एचयूएल, ओएनजीसी, रिलायंस इंडस्ट्रीज, आईटीसी, एचडीएफसी औऱ इंफोसिस में खरीददारी से सेंसेक्स 287 अंक की बढ़त के साथ 33,255 पर क्लोज हुआ, जबकि निफ्टी 98 अंक चढ़कर 10,212 के स्तर पर बंद हुआ। इससे पहले, सेंसेक्स 62 अंक बढ़कर 33,031 औऱ निफ्टी 38 अंक की उछाल के साथ 10,152 के स्तर पर ओपन हुआ। मिडकैप-स्मॉलकैप शेयरों में रही तेजी आज के कारोबार में लार्जकैप शेयरों के साथ-साथ मिडकैप और स्मॉलकैप शेयरों में भी अच्छी खरीददारी देखने को मिली। बीएसई का मिडकैप इंडेक्स 1.40 फीसदी बढ़कर 16,186 के स्तर पर बंद हुआ। वहीं बीएसई के स्मॉलकैप इंडेक्स में 2.35 फीसदी की तेजी आई। मिडकैप शेयरों में टीवीएस मोटर्स, टाटा ग्लोबल, इंडियन होटल, एलटीआई, ओएफएसएस, गृह फाइनेंस, रिलायंस कैपिटल, ग्लेनमार्क, एनबीसीसी, सेल, हैवेल्स, रिलायंस इंफ्रा, श्रीराम सिटी यूनिटन, आरकॉम, एयूबैंक, बायरकॉर्प, आरपावर, जेएसडब्ल्यू एनर्जी, अपोलो हॉस्पिटल और एक्साइड 3.22-7.35 फीसदी तक बढ़े। हालांकि वक्रांगी, जीएसके कंज्यूमर, सेंट्रल बैंक, पीएनबी हाउसिंग, अल्केम, डालमिया भारत, क्रॉम्पटन, पेज इंडस्ट्रीज, 5-2.12 फीसदी तक गिरकर बंद हुए। सिर्फ PSU बैंक इंडेक्स में रही गिरावट, निफ्टी फार्मा 3.14% चढ़ा सेक्टोरल इंडेक्स में निफ्टी पीएसयू बैंक इंडेक्स को छोड़ सभी इंडेक्स बढ़त के साथ बंद हुए। निफ्टी पीएसयू बैंक इंडेक्स 0.84 फीसदी की गिरावट के साथ बंद हुआ। बैंक निफ्टी इंडेक्स 0.27 फीसदी बढ़कर 24,328.50 पर बंद हुआ। सबसे ज्यादा तेजी निफ्टी फार्मा इंडेक्स में 3.14% दर्ज की गई। इसके अलावा निफ्टी ऑटो में 2.19%, एफएमसीजी में 1.43%, आईटी में 1.56%, मेटल में 0.77% और निफ्टी रियल्टी में 0.80% का उछाल रहा। FY18 में निवेशकों ने कमाए 21 लाख करोड़ फाइनेंशियल ईयर 2017-18 में स्टॉक मार्केट 10 फीसदी से ज्यादा तेजी के साथ बंद हुआ। इस दौरान सेंसेक्स 3,348.18 अंक या 11.30 फीसदी चढ़ा, जबकि निफ्टी 939.95 अंक या 10.25 फीसदी बढ़ा। बाजार में तेजी से इस फाइनेंशियल ईयर में निवेशकों ने 20.70 लाख करोड़ रुपए की कमाई की। इस दौरान 10 स्टॉक में 400 फीसदी से ज्यादा रिटर्न मिला।
नई दिल्ली मंगलावर को हफ्ते के दूसरे कारोबारी दिन में शेयर बाजार में अच्छी बढ़त देखने को मिली। हालांकि पीएनबी महाघोटाले में नई जानकारी सामने आने के बाद बैंक का स्टॉक गिर गया। वहीं रुपये में 2 पैसे की मामूली गिरावट देखने को मिली। निफ्टी में 38 अंकों की मजबूती बीएसई सेंसेक्स 143 अंक की तेजी के साथ 34,588 के स्तर पर कारोबार कर रहा है। एनएसई निफ्टी 38 अंक की मजबूती के साथ 10,620 के स्तर पर कारोबार करता हुआ देखा गया। दिग्गज शेयरों में यस बैंक, हीरो मोटो, रिलायंस इंडस्ट्रीज, भारती एयरटेल और डॉ रेड्डीज 2.2-1.4 फीसदी तक उछले हैं। 9 फीसदी गिरा पीएनबी का स्टॉक नीरव मोदी द्वारा 1322 करोड़ के एक और फ्रॉड ट्रांजेक्शन की जानकारी आने के बाद मंगलवार के कारोबार में पीएनबी के शेयरों में गिरावट देखने को मिली और शुरुआत कारोबार में शेयर 9 फीसदी तक टूटकर 102.10 रुपये के भाव पर पहुंच गया, जो 52 हफ्ते का लो लेवल है। PNB के साथ 1300 करोड़ का एक और फ्रॉड, स्टॉक 9% तक टूटा पंजाब नेशनल बैंक ने 1322 करोड़ रुपये के एक और फ्रॉड ट्रांजेक्‍शन का पता लगाया है। पीएनबी फ्रॉड केस की कुल वैल्‍यू 12622 करोड़ रुपये हो गई है। इस खबर से मंगलवार के कारोबार में पीएनबी के शेयरों में गिरावट देखने को मिली और शुरुआत कारोबार में शेयर 9 फीसदी तक टूटकर 102.10 रुपये के भाव पर पहुंच गया, जो 52 हफ्ते का लो लेवल है। रुपये की कमजोर शुरुआत सप्ताह के दूसरे कारोबारी दिन रुपए की शुरुआत हल्की गिरावट के साथ हुई। डॉलर के मुकाबले रुपया 2 पैसे की मामूली गिरावट के साथ 64.81 के स्तर पर खुला।
नई दिल्ली. एशियाई बाजारों से मिले संकेतों से सोमवार को भारतीय शेयर बाजार की शुरुआत बढ़त के साथ हुई। शुरुआती कारोबार में सेंसेक्स में 250 अंकों से ज्यादा का उछाल देखने को मिला जबकि निफ्टी 10,525 के ऊपर निकलने में कामयाब हुआ। शुरुआती कारोबार में पीएसयू बैंक इंडेक्स में कमजोरी दिख रही है। मिडकैप औऱ स्मॉलकैप शेयरों में खरीददारी नजर आ रही है। फिलहाल सेंसेक्स 252 अंक की बढ़त के साथ 34,258 अंक पर और निफ्टी 72 अंक चढ़कर 10,527 अंक पर कारोबार कर रहा है। इससे पहले, सेंसेक्स 198 अंक बढ़कर 34,203 अंक पर खुला। वहीं निफ्टी 63 अंक चढ़कर 10,518 अंक पर खुला। मिडकैप-स्मॉलकैप शेयरों में अच्छी बढ़त - शुरुआती कारोबार में लार्जकैप शेयरों के साथ-साथ मिडकैप और स्मॉलकैप शेयरों में अच्छी बढ़त देखने को मिल रही है। बीएसई का मिडकैप इंडेक्स 1.17 फीसदी बढ़ा है। मिडकैप शेयरों में अमारा राजा बैट्रीज, नेशनल एल्युमीनियम, वक्रांगी, नैटको फार्मा, राजेश एक्सपोर्ट्स, इंडियन बैंक, सेंट्रल बैंक, सेल, आईडीबीआई, एनएलसी इंडिया 2.13-7.11 फीसदी तक बढ़े। - वहीं बीएसई के स्मॉलकैप इंडेक्स में 1.29 फीसदी की बढ़त देखने को मिल रही है। पीएसयू बैंक इंडेक्स को छोड़ सभी सेक्टोरल इंडेक्स बढ़े - सेक्टोरल इंडेक्स में निफ्टी पीएसयू बैंक इंडेक्स में कमजोरी दिख रही है। हालांकि बैंक निफ्टी इंडेक्स 0.60 फीसदी बढ़ा है। वहीं निफ्टी ऑटो में 1.01 फीसदी, निफ्टी एफएफमसीजी में 0.89 फीसदी, निफ्टी मेटल में 1.10 फीसदी, निफ्टी फार्मा में 1.11 फीसदी और निफ्टी रियल्टी में 1.66 फीसदी की तेजी आई है। रुपए की मजबूत शुरुआत - सप्ताह के पहले कारोबारी दिन सोमवार को रुपए की मजबूत शुरुआत हुई। डॉलर के मुकाबले रुपया 11 पैसे की मजबूती के साथ 64.29 के स्तर पर खुला। शुक्रवार को डॉलर के मुकाबले रुपए में गिरावट देखने को मिली। डॉलर के मुकाबले रुपया 14 पैसे टूटकर 64.40 के स्तर पर बंद हुआ था। डॉलर के मुकाबले रुपया की शुरुआत भी भारी गिरावट के साथ हुई थी। डॉलर के मुकाबले रुपया 17 पैसे टूट कर 64.43 के स्तर पर खुला था।
नई दिल्ली भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के गवर्नर उर्जित पटेल ने शनिवार को कहा कि शीर्ष बैंक और बाजार नियामक भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड (SEBI) को शेयर बाजार के तेज उतार-चढ़ाव का संज्ञान लेना चाहिए, ताकि जोखिमों का आकलन किया जा सके। पटेल ने यहां मीडियाकर्मियों से कहा, 'पिछले कुछ दिनों से, बाजार में करेक्शन का दौर चल रहा था। यह न सिर्फ पूरी दुनिया में हो रहा है, बल्कि भारत में भी चल रहा है। इसलिए यह दर्शाता है कि पूंजी बाजार कैसे दिशा बदलता है। अब तक न तो वैश्विक स्तर पर और न ही भारत में यह महसूस किया गया है कि यह बुलबुला कभी भी फट सकता है और एक बड़ी समस्या पैदा हो सकती है।’ उन्होंने कहा, 'इसलिए वित्त मंत्रालय के नियामकों आरबीआई और एसबीआई दोनों को आगे के जोखिमों का आकलन करना चाहिए। पिछले कुछ दिनों से जारी करेक्शन से पता लगता है कि ये चीजें काफी तेजी से आगे बढ़ रही हैं।' पटेल वित्तमंत्री अरुण जेटली के साथ मीडिया को संबोधित कर रहे थे। 1 से 9 फरवरी के बीच बीएसई के सेंसेक्स में 1,900 अंकों की गिरावट आई है और एनएसई के निफ्टी में 500 से अधिक अंकों की गिरावट दर्ज की गई है।'
न्यूयॉर्क, एशिया में सप्ताह के आखिरी कारोबारी दिन से एक दिन पहले गुरुवार को एक बार फिर अमेरिकी शेयर बाजार के प्रमुख इंडेक्स डाउ जोन्स पर फिर जोरदार बिकवाली के चलते 4 फीसदी तक की गिरावट दर्ज हुई है. इस गिरावट से अमेरिकी बाजार ने अपने हाल के उच्चतम स्तर से 10 फीसदी तक गोता खाया है. अमेरिकी बाजार में गुरुवार देर शाम प्रमुख स्टॉक इंडेक्सों में तेज गिरावट का देखने को मिली. अमेरिकी बाजार में लगातार दूसरा दिन है जब बाजार बंद होने से पहले जोरदार गिरावट देखने को मिली. इससे पहले सोमवार को डॉउ जोन्स पर 1100 अंकों से अधिक की गिरावट दर्ज होने के बाद दुनियाभर के शेयर बाजारों में जोरदार गिरावट आई, जिसमें यूरोप, एशिया समेत भारत में सेंसेक्स और निफ्टी ने भी 2 से 3 फीसदी की गिरावट के साथ कारोबार की शुरुआत की थी. अमेरिकी बाजार में इस गिरावट से प्रमुख इंडेक्स स्टैंडर्ड एंड पूअर 500 जनवरी के अंत के उच्चतम शिखर से लगभग 10 फीसदी नीचे पहुंच गया. जानकारों का मानना है कि सोमवार की गिरावट के बाद यह अमेरिकी बाजार में इस सप्ताह का दूसरा बड़ा सुधार है और इससे बीते 9 साल से जारी तेजी पर लगाम लगाते हुए बाजार के नए स्तर को निर्धारित होते देखा जाएगा. वहीं अमेरिकी बाजार के जानकारों के मुताबिक बाजार में यह गिरावट बढ़ती महंगाई, बढ़ती ट्रेजरी ईल्ड और शुक्रवार सुबह आए जॉब आंकड़ों के चलते देखने को मिल रही है. अमेरिकी बाजार पर असर गुरुवार की गिरावट में डाउ जोन्स इंडस्ट्रियल एवरेज 1033 अंक यानी 4.15 फीसदी लुढ़ककर 23,860 के स्तर पर कारोबार करता देखा गया. अन्य प्रमुख इंडेक्स स्टैंडर्ड एंड पुअर 500 पर 101 अंक यानी 3.75 फीसदी की गिरावट के साथ 2,581 के स्तर पर कारोबार करता देखा गया. वहीं नैसडैक कंपोजिट 275 अंक यानी 3.9 फीसदी लुढ़ककर 6,777 अंक पर कारोबार करता देखा गया. गौरतलब है कि अमेरिकी बाजार में बीते एक साल की तेजी के लिए जिम्मेदार अमेजन और फेसबुक के शेयरों को इस गिरावट में सबसे ज्यादा नुकसान उठाना पड़ा है. वहीं बीते सोमवार की तरह एक बार फिर शेयर बाजार की गिरावट के इतर अमेरिकी ट्रेजरी ईल्ड (10 साल के बॉन्ड) 2.8 फीसदी की उछाल के साथ 4 साल के उच्चतम स्तर पर पहुंच गए. सोमवार को भी लुढ़का था अमेरिकी बाजार इस हफ्ते अमेरिकी बाजार में सोमवार को पिछले 6 साल में सबसे बड़ी गिरावट देखने को मिली थी. सोमवार को डाउ जोन्स 1175 अंक टूटकर बंद हुआ. अमेरिकी बाजार के बड़ी गिरावट के साथ बंद होने का असर एशियाई बाजार पर भी साफ नजर आया था. डाउ जोन्स में आई यह गिरावट अगस्त 2011 के बाद से सबसे बड़ी गिरावट है. यूएस मार्केट में आई इस गिरावट के चलते एशियाई बाजारो ने भी गिरावट के साथ शुरुआत की है. जापान के निक्केई इंडेक्स ने 4 फीसदी टूटकर शुरुआत की थी. वहीं, ऑस्ट्रेलिया का एसएंडपी/एएसएक्स 200 अंक गिरकर खुला था. इसमें 3 फीसदी की गिरावट देखने को मिली थी. जानकारों के मुताबिक अमेरिकी बाजार में गिरावट का यह दौर पिछले हफ्ते से शुरू हो गया था. यूएस इकोनॉमी को लेकर उठाई जा रही चिंताओं का असर निवेशकों के सेंटीमेंट पर पड़ा है. इसकी वजह से यूएस मार्केट कमजोर हुआ है.

Top News

http://www.hitwebcounter.com/