taaja khabar...रोहिंग्या की अवैध बस्तियों को बढ़ावा दे रहे तृणमूल कांग्रेस के नेता: एजेंसियां.....नरम पड़े चीन के तेवर? साझा सैन्य अभ्यास का दिया प्रस्ताव......चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा के खिलाफ महाभियोग प्रस्ताव को लेकर फिर सक्रिय हुए विपक्षी दल, आज बैठक.....लंदन में पीएम मोदी के सेशन से मिले साफ संकेत, क्या है बीजेपी का इलेक्शन प्लान?...कठुआ कांड के बाद किस करवट बैठेगी जम्मू-कश्मीर की सियासत?...
नई दिल्ली तीनों एमसीडी के मेयर पद के लिए बुधवार को प्रत्याशियों के नामांकन के साथ इनका मेयर बनना तय है। इनके विरोध में किसी पार्टी के उम्मीदवार ने नामांकन नहीं किया है। नॉर्थ एमसीडी मेयर के लिए वॉर्ड 98 के पार्षद आदेश कुमार गुप्ता ने नॉमिनेशन किया। करोल बाग वॉर्ड 92 से पार्षद राजेश कुमार ने डिप्टी मेयर, वॉर्ड 101 से पार्षद वीना विरमानी ने स्टैंडिंग कमिटी चेयरमैन, वॉर्ड 3 से पार्षद निशा मान ने स्टैंडिंग कमिटी वाइस चेयरमैन, वॉर्ड 26 से पार्षद मनीष चौधरी ने स्टैंडिंग कमिटी मेंबर के लिए पर्चा दाखिल किया। कांग्रेस की ओर से वॉर्ड 16 के पार्षद मुकेश गोयल और आम आदमी पार्टी के पार्षद राकेश गुप्ता ने स्टैंडिंग कमिटी मेंबर के लिए नामांकन किया। साउथ एमसीडी मेयर पद के लिए नरेंद्र चावला ने नॉमिनेशन किया। स्टैंडिंग कमिटी चेयरमैन पद के लिए ग्रेटर कैलाश वॉर्ड से शिखा राय, वाइस चेयरमैन पद के लिए वॉर्ड 82 से पार्षद पूनम भाटी, मेंबर के लिए वॉर्ड 38 की पार्षद कमलजीत सहरावत ने नामांकन किया। स्टैंडिंग कमिटी में मेंबर पद के लिए कांग्रेस की ओर से अभिषेक दत्त और आम आदमी पार्टी की ओर से नरेंद्र कुमार ने भी नामांकन भरा। साउथ एमसीडी में मेयर पद के लिए चुनाव 26 अप्रैल को होगा। ईस्ट एमसीडी में मेयर पद के लिए पटपड़गंज से पार्षद विपिन बिहारी ने पर्चा दाखिल किया। डिप्टी मेयर पद के लिए नामांकन किरण वैद्य ने किया। ईस्ट एमसीडी में स्टैंडिंग कमिटी चेयरमैन पद के लिए करावल नगर से पार्षद सतपाल सिंह और वाइस चेयरमैन पद के लिए शस्त्री पार्क से पार्षद रमेश चंद्र गुप्ता ने किया। स्टैंडिंग कमिटी के सदस्य के लिए कृष्णा नगर वॉर्ड से संदीप कपूर ने पर्चा दाखिल किया। आम आदमी पार्टी की ओर से सदस्य के लिए नामांकन वॉर्ड 34 की पार्षद मोहिनी ने किया।
नई दिल्ली, रामनवमी के दिन दिल्ली शाहदरा इलाके में जिस तरह से मस्जिद के बाहर जो नारे लगे, उसने अब राजनीतिक रूप ले लिया है. आम आदमी पार्टी के विधायक अमानतुल्ला ने उस घटना को बीजेपी की सजिश करार दिया तो वहीं बीजेपी ने आप के खिलाफ उस घटना के सबूत लाकर आम आदमी पार्टी की पोल खोल दी है. शाहदरा इलाके की मस्जिद में रामनवमी के दिन क्या कुछ हुआ, इस बारे में हमने शाहदरा स्थित मस्जिद के सेक्रेटरी वसीम से बात की तो उन्होंने माना कि रामनवमी के दिन मस्जिद के बाहर माहौल खबर करने की कोशिश की गई. एक समाज की भावनाओं को आहत किया गया. मस्जिद के बाहर गलत तरह के नारे लगाए गए. साथ ही मस्जिद के सेक्रेटरी ने ये भी माना कि जो तस्वीर मीडिया में सामने आ रही है, उस एक तस्वीर में मौजूद शख्स को उन्होंने इलाके के आम आदमी पार्टी के विधायक और विधानसभा के अध्यक्ष राम निवास गोयल के साथ देखा है. मस्जिद के सेक्रेटरी का ये बयान आम आदमी पार्टी के लिए किसी नई मुसीबत से कम नहीं है, क्योंकि जो आरोप आम आदमी पार्टी बीजेपी पर लगा रही है, उसे मस्जिद के सेक्रेटरी वसीम का बयान खारिज कर रहा है और सरकार के आरोपों को कहीं ना कहीं झुठला दिया है. हालांकि कई लोगों ने उनको पहुंचने से मना भी किया. कौन थे वो लोग इलाके के आरडब्लूए के अध्यक्ष राजेश तिवारी की मानें तो जो लोग रामनवमी के दिन जलूस में आए, उन्होंने 15 मिनट तक मस्जिद के बाहर तलवारें दिखाईं और सांप्रदायिक नारे भी लगाए, जो कि इलाके के माहौल को खराब करने वाला था. वहां रहने वाले लोगों ने ये भी माना कि जब भी देश में या कहीं भी हिन्दू-मुसलमान के बीच कोई विवाद होता है, उस वक्त भी इस इलाके में कुछ नहीं होता. इलाके के लोगों का कहना है कि दिल्ली में राजनीतिक पार्टियां जो इस जुलूस को लेकर राजनीति कर रही हैं, वो गलत है.
नई दिल्ली दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल अब चाय-नाश्ते पर किए जाने वाले खर्च को लेकर आलोचकों के निशाने पर है। दरअसल, एक आरटीआई आवेदन से यह खुलासा हुआ है कि सत्ता में आने के बाद से तीन सालों में मुख्यमंत्री ऑफिस द्वारा चाय-नमकीन पर 1.03 करोड़ (1,03,04,162) खर्च किए गए हैं। हल्द्वानी के ऐक्टिविस्ट हेमंत सिंह गौनिया ने फरवरी में इस संबंध में आरटीआई आवेदन डाला था। ऐक्टविस्ट को सप्ताह के शुरुआत में आरटीआई आवेदन का जवाब मिला है। इसमें बताया गया है कि वित्त वर्ष 2015-16 की अवधि में चाय और नमकीन पर 23.12 लाख रुपये जबकि 2016-17 की अवधि में 46.54 लाख रुपये खर्च हुए हैं। उसी तरह वित्त वर्ष-2017-18 की अवधि में चाय और नमकीन पर 3.36 लाख रुपये खर्च हुए हैं। 2016 में 47.29 लाख रुपये में से 22,42,320 का बिल उनके सचिवालय ऑफिस और 24,86,921 का बिल उनके कैम्प ऑपिस में आया है। अभी इस मामले में मुख्यमंत्री कार्यालय की तरफ से कोई जवाब नहीं आया है। उधर, गौनिया ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा, 'यह ऐसा खर्च है जिसपर लगाम लगाया जाना चाहिए और पैसा उन लोगों पर खर्च होना चाहिए जिनको एक वक्त का खाना नसीब नहीं होता। मुझे उम्मीद है कि अच्छे कार्यों के लिए सरकार अपने खर्चों में कटौती करेगी।' उल्लेखनीय है कि सीएम ने सेंट्रल दिल्ली के भगवान दास रोड स्थित दो डुप्लेक्स फ्लैट में शिफ्ट किया है जिसमें 5 बेडरूम हैं। केजरीवाल एक डुप्लेक्स में परिवार के साथ रहते हैं जबकि दूसरे को कैम्प ऑफिस बनाया गया है। खर्चों को लेकर आए आंकड़े से पता चला है कि 2015-16 की अवधि में चाय-नाश्ते पर 23,12,430, रुपये में से 5,59,280 कैम्प ऑफिस में खर्च हुए हैं जबकि सचिवालय ऑफिस में 17,53,150 रुपये। 2016-17 में 46,54,833 रुपये में से 15,91,631 सचिवालय ऑफिस और 30,63,202 रुपये कैम्प ऑफिस में खर्च हुए हैं। वित्त वर्ष 2017-18 में दिल्ली सीएम के ऑफिस द्वारा चाय और नमकीन पर खर्च किए गए 33,36,899,रुपये में से 6,92,284 सचिवालय ऑफिस में जबकि 26,44,615 रुपये कैम्प ऑफिस में खर्च हुए हैं। इस तरह की एक आरटीआई आवेदन उत्तराखंड सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत के ऑफिस को लेकर भी डाला गया था जिससे यह जानकारी सामने आई थी कि 10 महीने के कार्यकाल में उनके ऑफिस में चाय और नमकीन पर 68 लाख रुपये खर्च किए गए । वहीं 2016 में उत्तर प्रदेश की समाजवादी पार्टी सरकार तब चर्चा में थी जब चार साल के कार्यकाल में चाय और नमकीन पर 9 करोड़ रुपये खर्च किए जाने की जानकारी सामने आई थी।
नई दिल्ली दिल्ली में धार्मिक नेता की हत्या की साजिश को नाकाम करते हुए स्पेशन सेल ने दाऊद कनेक्शन का खुलासा किया है। स्पेशल सेल के अधिकारियों ने दाऊद के लिए काम करने वाले शख्स को गिरफ्तार किया है।
नई दिल्ली एक अंतरराष्ट्रीय गिरोह किस तरह दिल्ली-एनसीआर के लोगों की नसों में ड्रग्स का जहर भरने की कोशिश कर रहा था, इसका खुलासा मंगलवार को पुलिस ने किया। हेरोइन की सप्लाई के खिलाफ चलाई गई दिल्ली पुलिस की मुहिम को बड़ी सफलता हाथ लगी है। करीब एक महीने चले एक ऑपरेशन के तहत पुलिस ने एक बड़े अंतरराष्ट्रीय गिरोह का पर्दाफाश कर 29 किलोग्राम हेरोइन जब्त की है। बताया जा रहा है कि यह हेरोइन दिल्ली-एनसीआर के साथ-साथ विश्व के दूसरे हिस्से में भेजे जाते थे। जब्त किए गए हेरोइन की बाजार में कीमत 125 करोड़ रुपये है। डीसीपी (स्पेशल सेल) ने कहा, 'एक महीने लंबे चले अभियान के तहत 125 करोड़ रुपये की कीमत की 29 किलोग्राम हेरोइन जब्त की गई है। यह एक संगठित गिरोह है। ड्रग्स पाकिस्तान के जरिए अफगानिस्तान से कश्मीर लाया जाता था।' उन्होंने आगे बताया, 'ड्रग्स की आपूर्ति दिल्ली-एनसीआर और विश्व के दूसरे हिस्से में की जाती थी।'
नई दिल्ली राजधानी में 6 अप्रैल को बारिश करवाने वाला वेस्टर्न डिस्टर्बेंस कमजोर पड़ गया जिससे दिल्ली में गर्मी धीरे-धीरे बढ़ने लगी लेकिन आज सुबह दिल्ली-एनसीआर के कई इलाकों में बारिश से दिन की सुहावनी शुरुआत हुई। रविवार को तापमान एक बार फिर सामान्य से तीन डिग्री ज्यादा 36.3 पर पहुंच गया था और अनुमान लगाया जा रहा था की अगले 24 घंटों में यह 37 डिग्री तक पहुंच जाएगा। मौसम विभाग ने जानकारी दी थी कि अब कम दबाव का क्षेत्र डिवेलप हो रहा है, जिसकी वजह से राजधानी में बारिश हो सकती है। हालांकि विभाग ने कहा था कि बारिश के लिए 10 अप्रैल की शाम का इंतजार करना होगा और 11 अप्रैल को भी बारिश हो सकती है। लेकिन 9 अप्रैल यानी आज सुबह-सुबह की बारिश ने मौसम को खुशनुमा बना दिया है। विभाग के मुताबिक, 14 अप्रैल तक लोगों को गर्मी बहुत ज्यादा परेशान नहीं करेगी। मौसम विभाग ने संभावना जताई थी कि 6 अप्रैल से लगातार आंधी, तेज हवाओं के एक-दो स्पेल देखने को मिलेंगे लेकिन वेस्टर्न डिस्टर्बेंस कमजोर पड़ने से पिछले दो दिन से धूप परेशान कर रही थी। बारिश के बाद लोगों को तीखी और नमी भरी धूप का सामना करना पड़ रहा था। इतना ही नहीं, 10 अप्रैल से पहले मौसम शुष्क और गर्म रहने की संभावना जताई गई थी। इस दौरान तापमान बढ़कर 37 से 38 डिग्री तक पहुंचने का अनुमान जताया गया। रात में गर्मी ज्यादा : दिन से अधिक रात की गर्मी लोगों को परेशान कर रही है। न्यूनतम तापमान ने आठ साल के रेकॉर्ड को तोड़ दिया। मौसम विभाग के अनुसार, रविवार को न्यूनतम तापमान 23 डिग्री रहा जो सामान्य से 3 डिग्री ज्यादा है। पिछले आठ साल में 8 अप्रैल को न्यूनतम तापमान सबसे ज्यादा 2012 में 22 डिग्री दर्ज किया गया था।
नई दिल्ली, दिल्ली विधानसभा में आम आदमी पार्टी के विधायक विशेष रवि ने विधायकों की सैलरी बढ़ाने का मुद्दा उठाया. उन्होंने कहा कि दिल्ली के विधायकों की सैलरी 12 हजार है, जबकि सैलरी 2 से 2.5 लाख होनी चाहिए. साथ ही उन्होंने कहा कि सैलरी कम होने के कारण विधायकों की शादी भी नहीं हो पा रही है. उन्होंने कहा कि सैलरी इतनी कम है कि घर चलाना मुमकिन नहीं है. शादीशुदा विधायकों के बच्चे हुए हैं, खर्चे बढ़ रहे हैं. वहीं जिन विधायकों की शादी नहीं हुई, उनके लिए रिश्ते नहीं आ रहे हैं. विपक्ष के साथियों को राय रखनी चाहिए और बताएं गृह मंत्री के पास कब चलेंगे. वहीं बीजेपी विधायक ओम प्रकाश शर्मा ने कहा, 'हम इस प्रस्ताव के साथ हैं. मुख्यमंत्री को इस पर सकारात्मक कार्य करना चाहिए. विधायकों की सैलरी कम होने की वजह से शादी नहीं हो रही है. वेतन बढ़ना चाहिए, जिससे शादी हो. दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा, 'मेरा प्रस्ताव है कि सदन इस मुद्दे पर कमेटी बनाए. 6 सदस्य कमेटी बने जो गृहमंत्री से मिलेगी. बता दें कि कि इस कमेटी में मनीष सिसोदिया हेड करेंगे. 3 'आप' विधायक सौरव, संजीव, प्रवीण और बाकी 2 बीजेपी विधायक सिरसा, ओपी शर्मा कमेटी में रहेंगे.
नई दिल्ली, दिल्ली में बाड़ा हिंदू राव के अस्पताल में काम करने वाले एक डॉक्टर पर रेप का आरोप लगा है. यह संगीन आरोप लगाने वाली कोई और नहीं बल्कि अस्पताल की एक इंटर्न है. पुलिस ने उसकी शिकायत पर मामला दर्ज कर जांच पड़ताल शुरु कर दी है. यह मामला मंगलवार की रात का है. बाड़ा हिंदू राव के अस्पताल में इंटर्नशिप कर रही 25 वर्षीय एक लड़की मंगलवार की रात पुलिस थाने पहुंची और उसने पुलिस को शिकायत देते हुए बताया कि जब वह रात की शिफ्ट में थी तो अस्पताल के मेडिसिन डिपार्टमेंट में कार्यरत सीनियर रेजिडेंट डॉक्टर ने उसके साथ रेप किया. पुलिस ने तुंरत पीड़ित का मेडिकल कराया. मेडिकल में रेप की पुष्टी होते ही सब्जी मंडी पुलिस ने आरोपी डॉक्टर के खिलाफ संबंधित धाराओं में एफआईआर दर्ज कर ली. इसके बाद रात में ही पुलिस की एक टीम अस्पताल पहुंची और आरोपी डॉक्टर को गिरफ्तार कर लिया. पुलिस ने बुधवार को आरोपी डॉक्टर को तीस हजारी कोर्ट में पेश किया, जहां कोर्ट ने उसे तिहाड़ जेल भेज दिया. इस मामले में पुलिस का कहना है कि अस्पताल के कई सीसीटीवी कैमरों की फुटेज सीज कर ली गई है. ताकि उनकी जांच पड़ताल की जा सके. साथ में पुलिस ने उन लोगों के नामों की भी लिस्ट बनाई है, जो रात के वक्त अस्पताल में ड्यूटी पर तैनात थे. पुलिस उस रात अस्पताल में ड्यूटी दे रहे गार्डों के भी बयान दर्ज कर रही है.
नई दिल्ली दिल्ली बीजेपी के अध्यक्ष मनोज तिवारी ने सीएजी रिपोर्ट को लेकर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की ईमानदारी पर सवाल उठाए हैं। उनका कहना है कि केजरीवाल सरकार अब लालू यादव को अपना आदर्श मानती है। तिवारी ने कहा, 'सीएजी रिपोर्ट से यह स्थापित हो गया है कि केजरीवाल सरकार घोटालेबाजी की सरकार है। सीएजी रिपोर्ट में यूं तो अरविंद केजरीवाल सरकार के खाद्य आपूर्ति विभाग, शिक्षा निदेशालय, स्वास्थ्य विभाग, आयुष, डीटीसी में धांधली के मामले सामने आए हैं। इस बार एक नया मामला यह भी आया है कि केजरीवाल सरकार राजस्व वसूलने में भी असफल रही है। व्यापार एवं कर विभाग में भारी धांधली चल रही है, जिसके चलते अकेले 2016-17 में 653 करोड़ रुपये की हेराफेरी हुई है।' इसके अलावा तिवारी ने कहा, 'जिस तरह बिहार में लालू यादव ने चारा घोटाले में फर्जी गाड़ियों का उपयोग दिखाया था बिल्कुल उसी तर्ज पर अरविंद केजरीवाल सरकार राशन घोटाला करती दिख रही है। यह कहना गलत न होगा कि केजरीवाल अब छोटे लालू के रूप में उभर रहे हैं।' प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष के मुताबिक, दिल्ली में राशन वितरण में अनियमितताओं की शिकायतें लगातार मिल रही थीं। उन्होंने कहा, 'सच यह है कि केजरीवाल सरकार और राशन माफियाओं की सांठगांठ के चलते राशन को केंद्र के गोदामों से माफिया ने उठाया और निचले स्तर पर राशन की सप्लाइ दुकानों तक दिखाने के लिए नकली गाड़ी नंबरों के आधार पर कागजी कार्रवाई पूरी कर दी गई। यह वह राशन है जो दिल्ली के 4 लाख से अधिक नकली राशन कार्डों के माध्यम से लूटा जा रहा है।'
नई दिल्ली जेएनयू छात्रों और टीचर्स असोसिएशन (JNUTA) के 'सेव जेएनयू मार्च' को दिल्ली पुलिस ने बीच में ही रोक लिया। जेएनयू के छात्र और टीचर्स यौन उत्पीड़न, क्लास में अनिवार्य उपस्थिति और स्वायत्ता जैसे कई मामलों को लेकर कैंपस से संसद तक विरोध मार्च निकाल रहे थे। छात्रों के साथ हुई झड़प में पुलिस ने वॉटर कैनन और लाठीचार्ज करते हुए कई छात्रों को हिरासत में भी ले लिया। प्रदर्शनकारी जेएनयू के प्रफेसर अतुल जौहरी को बर्खास्त करने की भी मांग कर रहे हैं। प्रदर्शनकारी छात्रों का कहना है कि यौन उत्पीड़न के आरोपी प्रफेसर अतुल जौहरी को जमानत दिए जाने का विरोध कर रहे हैं। छात्रों का आरोप है कि प्रफेसर पर 'वाइस चांसलर और सरकार के आदमी' होने के कारण कार्रवाई नहीं हो रही है। प्रदर्शनकारी छात्र कैंपस से संसद तक आईएनए होते हुए जा रहे थे जहां पुलिस ने उन्हें रोकने के लिए बैरीकेडिंग कर रखी थी। जब छात्र इसे तोड़ आगे बढ़ने की कोशिश करने लगे तब पुलिस ने लाठीचार्ज करते हुए वॉटर कैनन का सहारा लिया। पुलिस ने कई छात्रों को हिरासत में भी लिया है।

Top News

http://www.hitwebcounter.com/