taaja khabar....PNB ने अन्य बैंकों को चिट्ठी लिख किया सचेत, 10 अधिकारी निलंबित.....PNB केस की INSIDE स्टोरी: 7 साल पहले हुआ था फ्रॉड, सरकार की सख्ती से खुलासा....बिहार के आरा में आतंकियों के कमरे में धमाका, बड़ी साजिश नाकाम, 4 फरार.....तीन दिन में तीन यात्राएं, चुनावी मोड में बीजेपी, निशाना 2019 पर...मोदी केयर' पर केंद्र ने राज्यों की बुलाई बैठक, ममता पहले ही झाड़ चुकी हैं पल्ला....
हनुमानगढ़ । शहर के हृदय स्थल भगत सिंह चौक पर पिछले 6 दिनों से स्पिनिंग मिल के शेष 56 श्रमिकों की प्रतिनियुक्ति की मांग को लेकर आमरण अनशन पर बैठे श्रमिकों का संघर्ष रंग लाया और उनकी मांगों के लिए हनुमानगढ़ जिला प्रशासन द्वारा सरकार को अनुशंसा पत्र लिख मांगे पूर्ण करवाने का आश्वासन देने पर अनशन समाप्त करवाया गया । संघर्ष समिति ओर उपखंड अधिकारी के बीच हुई समझौता वार्ता में उपखंड अधिकारी द्वारा जिस तरह से 2003 में 110 श्रमिकों का समायोजन किया था उनमें से काफी श्रमिकों की हाजिरी की हाजिरी 240 दिनों की नहीं थी परंतु फिर भी उनको पंचायती राज विभाग में सरकार द्वारा समायोजित किया गया था उसी आधार पर स्पिनिंग मिल के शेष रहे 56 श्रमिकों को समायोजित करने के लिए प्रमुख शाशन सचिव को पत्र प्रेषित करने के बाद संघर्ष समिति सदस्यों ने अनशन समाप्त करने पर सहमति दी और प्रतिनियुक्ति पर शिक्षा विभाग में लगाये गए मील श्रमिको का बकाया वेतन मंगलवार तक करवाने का आश्वाशन भी उपखंड अधिकारी द्वारा दिया गया ।।वार्ता में सहमति बनने पर उपखंड अधिकारी सुरेंद्र पुरोहित, डीएसपी वीरेंद्र जाखड़,जंक्शन थाना प्रभारी राजेश सिहाग ने धरना सथल पर जाकर अनशन कारियो मनफूल सैनी,राहुल यादव,सहदेव सिंह,किशन बागड़ी,अमरजीत,जगदीश कुमार,कृष्ण सिंह को जूस पिलाकर उनका अनशन समाप्त करवाया।संघर्ष समिति सदस्य व कोंग्रेस नेता डॉ सौरभ राठौड़ ने कहा कि यह मील श्रमिको के संघर्ष की जीत है ।इस दौरान रघुवीर वर्मा,गुरदीप चहल, बीएस पेंटर,अनिल खीचड़,निरंजन नायक,पृथ्वी महला, महावीर सिंह राठौड़,नवनीत पुनिया,राधेश्याम सहारण ,संदीप सिराव, हरीशसिहाग, सूरज नारायण, गुरप्रीत बराड़, बजरंग सिंह शर्मा ,मास्टर फूल सिंह, मलकीत सिंह, आत्मा सिंह, बलदेव मक्कासर,किशन सिंह राजावत,निपेन शर्मा,आसिफ जोइया,गुरप्रीत बराड़, सुल्तान खान, आदि मौजूदथे।
हनुमानगढ़। जंक्शन के एनपीएस पब्लिक स्कूल के विद्यार्थियों ने देश भर में अपना परचम लहराया है। 2007 में कक्षा 12 से पासआउट हुये निपून गोयल इंजीनियर बनकर और पूरे देश में अपना लोहा मनवाकर शनिवार को पुन: विद्यालय प्रागंण में आये। इस मौके पर एनपीएस के विद्यार्थियों के लिये एक मोटिवेशन सेमीनार का आयोजन किया। विद्यालय प्रिंसीपल हितेन्द्र शर्मा ने बताया कि इजीनियर निपून गोयल ने कक्षा नर्सरी से कक्षा 12 तक अपनी पढाई एनपीएस स्कूल में समपन्न की है। और वर्ष 2006-07 में एनपीएस से कक्षा 12वीं पास आउट कर आईआईटी दिल्ली में अपनी आगे की शिक्षा पूरी की। उन्होने बताया कि वर्तमान में निपून देश की सबसे बड़ी कम्पनी क्युरोफाये के सीईओ है जो सवा दो लाख डॉक्टर्स को एक सुत्र में बांधने का कार्य कर रही है जिसमें सभी डॉक्टर्स हर जटिल समस्या का एक दूसरे कि सलाह से समाधान करते है। उन्होने बताया कि अमेरिका में सबसे अधिक पढ़ी जाने वाली व लोकप्रिय मैगजीन फार्बस में निपून का इन्टरव्यु आया है। ज्ञात रहे कि फार्बस मैगजीन में पूरे विश्व के तीस वर्ष से कम युवाओं का इन्टरव्यू आता है जिन्होनेे पूरे देश लोहा मनवाया हो। शनिवार को विद्यालय प्रागंण में आयोजित सेमीनार को संबोधित करते हुये निपून ने विद्यार्थियों को कभी भी हार न मानने और बार बार प्रयास करने के लिये प्रेरित किया। उन्होने कहा कि हर बच्चां जरूरी नही तभी कामयाब हो जब वह स्कूल का टॉपर हो। उन्होने कहा कि कामयाबी के पीछे सिर्फ गुरू और गुरू द्वारा दिखाये गये मार्गदर्शन पर चलने की आवश्यकता होती है । उन्होने कहा कि आज वह जिस भी मुकाम पर है वह एनपीएस व एनपीएस के शिक्षकों की बदौलत है। उन्होने कहा कि आवश्यक नही कि व्यक्ति प्रथम प्रयास में सफलता हासिल करे परन्तु सफलता हासिल करने के लिये दूसरी या तीसरी बार में दोगुनी इच्छाशक्ति से प्रयास करना आवश्यक है और जब व्यक्ति की इच्छाशक्ति और ढृढ निश्चय शक्ति मजबूत हो तो वह हर मुश्किल से मुश्किल मुकाम को भी हासिल कर सकता है। कार्यक्रम के अंत में विद्यालय प्रिंसीपल हितेन्द्र शर्मा ने निपुन गोयल को स्मृति चिन्ह देंकर उनका अभिनंदन किया और उनके उज्जवल भविष्य की कामना की।
जंक्शन के राजीव गांधी स्टेडियम में आयोजित किया गया समारोह हनुमानगढ़, 17 फरवरी। पंडित दीनदयाल उपाध्याय विशेष योग्यजन शिविर के तीसरे चरण के तहत शनिवार को जंक्शन स्थित राजीव गांधी स्टेडियम में कृत्रिम अंग उपकरण वितरण समारोह का आयोजन किया गया। जिसमें जिला कलक्टर श्री प्रकाश राजपुरोहित और एसपी श्री यादराम फांसल ने कुल 2260 कृत्रिम अंग उपकरण विशेष योग्यजनों को वितरित किए। इस अवसर पर सीईओ जिला परिषद श्री गोपाल राम बिरदा, अतिरिक्त जिला कलक्टर श्री प्रकाश चौधरी, एसडीएम हनुमानगढ़ श्री सुरेन्द्र पुरोहित, एसडीएम भादरा श्री राजकुमार, एसडीएम नोहर श्री शीराज अली जैदी, एसडीएम टिब्बी श्री उम्मेद दान रत्नू, डीआईजी स्टांप श्री भवानी ंिसंह पंवार, पीआरओ श्री सुरेश बिश्नोई, महिला अधिकारिता उपनिदेशक श्रीमती शकुन्तला चौधरी, जीएम डीआईसी श्री हरीश मित्तल, सामाजिक न्याय अधिकारिता विभाग के उपनिदेशक श्री विक्रम सिंह शेखावत, सीएमएचओ डा. अरूण चमडिय़ा,एसीएमएचओ डा. योगेन्द्र तनेजा, बीसीएमओ श्रीमती ज्योति धीगड़ा, डीपीएम श्रीमती रचना चौधरी, तहसीलदार हनुमानगढ़ श्री सुभाष चन्द्र, एडीईओ श्री रणवीर शर्मा, बीडीओ नोहर श्री गोपीराम महला, तहसीलदार टिब्बी श्रीमती उमा मित्तल, बीडीओ टिब्बी श्रीमती शर्मिला छल्लानी,सीओ स्काउट श्री भारतभूषण समेत बड़ी संख्या में अधिकारी एवं जनप्रतिनिधिगण मौजूद थे। मंच संचालन श्री भीष्म कौशिक ने किया। समाज कल्याण विभाग के उपनिदेशक श्री विक्रम सिंह शेखावत ने बताया कि पंडित दीनदयाल उपाध्याय विशेष योग्यजन शिविर 2017 के प्रथम चरण के अंतर्गत चिन्हिकरण शिविर 5 जून 2017 से 24 सितंबर 2017 तक लगाकर जिले में कुल 25 हजार 778 विशेष योग्यजनों का पंजीकरण किया गया था। वहीं दूसरे चरण के अंतर्गत 25 सितंबर से 12 दिसंबर 2017 तक निशक्तता प्रमाणीकरण शिविर लगाकर 10 हजार 510 विशेष योग्यजनों को प्रमाण पत्रा जारी किए गए। अब अभियान के तीसरे चरण में कृत्रिम अंग उपकरण वितरण का कार्य 13 दिसंबर 2017 से 31 मार्च 2018 तक किया जा रहा है इसके अंतर्गत शनिवार 17 फरवरी को जंक्शन स्थित राजीव गांधी स्टेडियम में विशेष योग्यजनों को उनकी आवश्यकता अनुसार कृत्रिम अंग उपकरण का वितरण किया गया। जिसमें कुल 2260 कृत्रिम अंग वितरण किए गए। जिसमें 384 ट्राई साइकिल, 152 व्हील चेयर, 148 हियरिंग एड, 452 बैशाखी, 20 सीपी चेयर, 681 वॉकिंग स्टीक, 56 मोटरराईज ट्राईसाईकिल 104 केलीपर्स, 10 प्रोस्थेटिक हैंड, 42 एमएसआईईडी , 19 रोलेटर, 2 स्मार्ट केन समेत अन्य कृत्रिम उपकरण शामिल थे। श्री विक्रम सिंह श्ेाखावत ने बताया कि कुल 2260 कृत्रिम अंग उपकरण विशेष योग्यजनों को दिए गए जिसमें से 1677 कृत्रिम अंग उपकरण राज्य सरकार की संयुक्त सहायता योजना के अंतर्गत और 583 उपकरण केन्द्र सरकार की एडिप योजना के तहत वितरित किए गए। विशेष योग्यजनों को नोहर-भादरा से हनुमानगढ़ लाने के लिए गोरखटीला महन्त श्री रूपनाथ ने 6 बसें रवाना की थी। इसके अलावा सभी तहसीलों से विशेष योग्यजनों को लाने व ले जाने के लिए बसों की व्यवस्था प्रशासन की ओर से की गई थी। ट्राई साइकिल, व्हील चेयर इत्यादि ले जाने के लिए ट्रक की व्यवस्था भी की गई थी। कार्यक्रम के दौरान युवा महोत्सव में प्रस्तुति देने वाले कलाकारों में जिले के विभिन्न हिस्सों से आकर भव्य सांस्कृतिक प्रस्तुति दी। नवज्योति विकलांग पुर्नवास केन्द्र हनुमानगढ जंक्शन के दिव्यांग बच्चों ने भी सांस्कृतिक प्रस्तुति देकर समा बांधा। जिला कलक्टर श्री प्रकाश राजपुरोहित ने बताया कि विशेष योग्यजनों को कृत्रिम अंग उपकरण प्रदान करने के लिए जिला प्रशासन की ओर से विशेष प्रयास किए गए। जिले के भामाशाहों, दानदाताओं और विभिन्न संगठनों से कुल 11 लाख 33 हजार 820 रूपए की धनराशि एकत्रित कर 60 ट्राई साइकिल, 55 व्हील चेयर, 55 श्रवण यंत्रा, 113 बैशाखी, 44 वॉकिंग स्टीक कानपुर के एलिम्को से खरीदे गए थे। भामाशाहों का योगदान पण्डित दीनदयाल उपाध्याय विशेष योग्यजन उपकरण सहायता वितरण शिविर को लेकर जिले के जिन भामाशाहों ने योगदान दिया उनमें श्री गोरखटीला महन्त श्री रूपनाथ ने 5 लाख की आर्थिक सहायता और विशेष योग्यजनों को नोहर-भादरा से हनुमानगढ लाने ले जाने के लिए 6 बसों की व्यवस्था हेतु 1 लाख रूपये का योगदान यानि कुल 6 लाख रूप्ये दिए। भादरा के दानदाता श्री प्रमोद मालपानी ने 1 लाख रूप्ये, मालारामपुरा के श्री कुलदीन पूनियां ने 99 हजार 860 रूप्ये, व्यापार मण्डल संगरिया ने 99 हजार 860 रूप्ये, व्यापार मण्डल पीलीबंगा ने 71 हजार रूप्ये, टिब्बी के श्री औमप्रकाश व श्री कुलदीप जाट ने 51 हजार रूप्ये, गोलूवाला फूडग्रेन मर्चेंट एसोसिएशन ने 50 हजार रूप्ये, रावतसर फूडग्रेन मर्चेंट एसोसिएशन ने 50 हजार रूप्ये , रावतसर के श्री देवीलाल सिहाग ने 50 हजार रूप्ये, पशुपालन डेयरी यूनियन रावतसर ने 25 हजार रूप्ये, पीलीबंगा के श्री पुरूषोतम सिंगला ने 21 हजार रूप्ये का आर्थिक सहयोग दिया। 11 हजार रूप्ये की आर्थिक सहायता देने वालों में पीलीबंगा के श्री जगदीश स्वामी, हनुमानगढ जं0 के गंगा राईस मिल के श्री अमृत सिंगला, श्री शिवरतन खडग़ावत, श्री मदनमोहन, श्री सुरेन्द्र कुमार बलडिय़ा, पीलीबंगा के श्री जगदीश सोनी शामिल है। इसके अलावा पीरखाना सेवा समिति ने करीब 4 हजार लोगों के लिए भोजन व्यवस्था की। भोजन व्यवस्था के लिए रसद सामग्री भामाशाहों के सहयोग से प्रशासन की ओर से उपलब्ध करवाई गई थी। कार्यक्रम के लिए विभिन्न प्रकोष्ठ और पांडाल बनाए अतिरिक्त जिला कलक्टर श्री प्रकाश चौधरी ने बताया कि स्टेडियम में आयोजित कार्यक्रम को सफल बनाने के विभिन्न प्रकोष्ठ और पांडाल बनाए गए थे जिनका जिम्मा जिला स्तरीय अधिकारियों की टीम बनाकर सौंपा गया। प्रकोष्ठ और पांडाल में स्टेज व्यवस्था प्रकोष्ठ, स्वागत प्रकोष्ठ, ट्राई साइकिल पांडाल, व्हील चेयर पांडाल,वाकिंग स्टीक पांडाल, बैशाखी पांडाल, हियरिंग एड व सीपी चेयर पांडाल, उपकरण प्रकोष्ठ, चिकित्सा प्रकोष्ठ, साफ सफाई और पेयजल व्यवस्था प्रकोष्ठ का गठन किया गया था। इसके अलावा स्काउट गाइड के कर्मठ कार्यकर्ताओं की सेवाएं भी ली गई। पांडालों में विशेष योग्यजनों की सहायतार्थ शारीरिक शिक्षक, पटवारी, ग्राम सेवकों, एएनएम की नियुक्ति भी की गई थी।
हनुमानगढ़। राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय माउट आबू में आयोजित राज्य स्तरीय इन्सपायर अवार्ड मानक प्रदर्शनी 2017-18 का दो दिवसीय आयोजन 14 व 15 फरवरी को हुआ जिसमें हनुमानगढ़ के प्रतिभागियों ने राष्ट्रीय स्तर पर हनुमानगढ़ का नाम रोशन किया। इस प्रतियेागिता में हनुमानगढ़ जिले के 3 प्रतिभागियों का चयन राष्ट्रीय स्तर पर हुआ। शनिवार को तीनों खिलाडिय़ों का हनुमानगढ़ आगमन पर जंक्शन रेल्वे स्टेशन पर भव्य स्वागत किया गया। प्रभारी शारीरिक शिक्षक संजय बिश्रोई ने बताया कि इस प्रदर्शनी में जिले से कुल 10 प्रतिभागियों ने भाग लिया जिसमें से राष्ट्रीय स्तर के लिये 3 प्रतिभागियों का चयन हुआ जिसमें गुरप्रीत सिंह राउमावि लीलावाली व सुखदेव सिंह, अमनदीप सिंह राउमावि मानकसर का चयन हुआ। शनिवार को 3 प्रतिभागियों व प्रभारी केवल कृष्ण गिल्होत्रा, संजय कुमार बिश्रोई, मनदीप कौर का शहर के गणमान्य नागरीकों व विद्यालय प्रबंधक समिति के सदस्यों ने माला पहनाकर व साफा पहनाकर भव्य स्वागत किया। स्वागत समारोह में प्रधानाचार्य राजेन्द्र यादव, प्रधानाचार्य सुनीता यादव, राकेश बिश्रोई, पंकज कुमार लीलावाली, राजेन्द्र कुमार व अन्य विद्यार्थियों के अभिाभावक मौजूद थे। ज्ञात रहे कि 3 खिलाड़ी संगरीया ब्लॉक के राजकीय विद्यालयों से है। प्रभारी ने ताया कि तीनों विद्यार्थियों ने अपने अपने मॉडलर्स पर खुब मेहनत की और मॉडलस के सर्वश्रेष्ठ होने पर इनका चयन हुआ। गुरप्रीत सिंह ने हैलमेट में एलडीआर अलार्म, सुखदेव सिंह ने मल्टीपर्पज हैडवंर्किंग मशीन, अमनदीप सिंह ने आटा गुंथने की मशीन के विषय पर मॉडलस तैयार किये थे।उन्होने बताया कि यह तीनों प्रतिभागी अब फरवरी के अन्तिम सप्ताह में प्रगति मैदान दिल्ली में आयोजित होने वाली राष्ट्रीय प्रतियोगिता में भाग लेगे।
हनुमानगढ़। स्थानीय सेक्टर12 वार्ड नं 6 स्थित गुरुद्वारा शाहिद बाबा दीप सिंघ जी मे सालाना शहीदी समागम के उपलक्ष्य में विगत 9 फरवरी से श्री अखंड पाठ साहिब की लड़ी शुरू की गई जिसमें आज 7 अखंड पाठ साहिब के भोग डालें गए और 8 अखंड पाठ साहिब का प्रकाश किया गया। गुरुद्वारा के मुख्य सेवादर भाई बलजीत सिंह बिल्ला ने बताया कि सलाना शहीदी समागम के इसी क्रम में1 फरवरी से अमृत वेले की प्रभातफेरी सांगतो द्वारा निकाली जा रही है जो कि 24 फरवरी तक चलेगी ,22 फरवरी को विशाल नागरकीर्तन निकाला जायेगा जो कि शहर के मुख्य इलाको से होता हुआ रोड़वाली जोड़किया से निकलेगा और 23 फरवरी को रात्रि दीवान में संत गुरपाल सिंह 18 स्न वाले सगतो को कीर्तन दवारा निहाल करेगे । इसी के तहत 24 फरवरी को अमृतवेला प्रभात फेरी नगरकीर्तन होगा और मुख्य समागम 25 फरवरी को होगा जिसमें तख्त श्री दमदमा साहिब के जत्थेदार ज्ञानी हरप्रीत सिंह जी अपनी हाजिरी लगाएंगे ओर गुरदयाल सिंघ ऐलनाबाद रागी गुरजीत सिंघ बुद्दजोहड़ वाले कथा कीर्तन द्वारा निहाल करेगे।गुरु का लंगर अटूट बरतेगा।
- जिला क्षय निवारण केन्द्र, हनुमानगढ़ ने स्वास्थ्यकर्मियों को दिए आवश्यक निर्देश हनुमानगढ़। टीबी (क्षय रोग) को भारत से दूर करने के लिए सरकार द्वारा काफी प्रयास किए जा रहे हैं। जिले में भी टीबी रोगियों का निरंतर उपचार व जन-जागरुकता की जा रही है। इसी के चलते जिला क्षय निवारण केन्द्र, हनुमानगढ़ द्वारा अगले तीन वर्षों में ब्लॉक संगरिया को टीबी से छुटकारा दिलवाने के लिए 'टीबी मुक्त संगरियाÓ मिशन का आज आगाज़ किया गया। 'टीबी मुक्त संगरियाÓ मिशन के तहत आज जिला क्षय निवारण केन्द्र, हनुमानगढ़ द्वारा संगरिया, दीनगढ़, ढाबा व मालारामपुरा में सरकारी चिकित्सा संस्थानों में स्वास्थ्यकर्मियों को टीबी के बारे में आवश्यक जानकारी दी। जिला क्षय रोग अधिकारी डॉ. रविशंकर ने बताया कि हम टीबी के खिलाफ जंग टीबी से लड़कर ही जीत सकते हैं और देश टीबी मुक्त भारत बन सकता है। इसी के चलते अगले तीन वर्षों में ब्लॉक संगरिया को टीबी से मुक्त किया जाएगा। उन्होंने कहा कि 'टीबी मुक्त संगरियाÓ मिशन की आज शुरुआत कर दी गई है। सरकार द्वारा टीबी को दूर करने के लिए आरएनटीपीसी की स्थापना की थी, लेकिन टीबी को पूर्ण रूप से दूर करने के लिए इसे मिशन के रूप में लागू करना होगा। लोगों को जन-जागरुकता के जरिए टीबी से बचाव के तरीके बताने होंगे और टीबी रोगियों का निरंतर व सही तरीके से पूरा इलाज किया जाएगा ताकि यह बीमारी अन्य लोगों को नुकसान ना पहुंचाए। डॉ. रविशंकर ने स्वास्थ्यकर्मियों को बताया कि आरएनटीसीपी द्वारा मरीजों को निशुल्क दवाइयां मिलती हैं। पीपीएम कॉडिनेटर बलविन्दर सिंह ने बताया कि भारत में लगभग 40 प्रतिशत लोगों को लैटेंट टीबी हैं अर्थात वह टीबी के कीटाणुओं द्वारा संक्रमित हो चुका है, परंतु उसमें टीबी के कोई लक्षण नहीं होंगे। टीबी होने की संभावना सभी आयु वर्ग के लोगों के लिए समान होती है। बच्चों की तुलना में बड़ों को इसके होने की संभावना थोड़ी ज्यादा होती है, क्योंकि बड़ों की रोग प्रतिरोधक क्षमता आयु बढऩे के साथ कम होती जाती है। उन्होंने यूनिवर्सल डीएसटी, प्रत्येक मरीज को घर के पास इलाज, ज्यादा से ज्यादा अवेयरनेस गतिविधियां व प्रत्येक मरीज को जल्द निदान व तुरंत उपचार हेतु निर्देशित किया गया। उन्होंने प्रत्येक सुपरवाइजरी स्टॉफ को गांवों व आसपास के क्षेत्रों का अधिक से अधिक विजिट के लिए निर्देशित किया। उनके साथ टीबी एचआईवी कॉर्डिनेटर अलकेश कुमार व पीएमडीटी काउंसलर गुलाम रसूल ने संगरिया ब्लॉक का निरीक्षण करते हुए आवश्यक दिशा निर्देश दिए।
- पीलीबंगा सीएचसी में हुए 20 महिलाओं के सफल आॅपरेशन हनुमानगढ़। हनुमानगढ़ में पहली बार सरकारी चिकित्सा संस्थान में हाथ का आॅप्रेशन (मिनिलेप नसबंदी) नियत सेवा दिवस का आयोजन किया गया, जिसमें 20 महिलाओं का सफल आॅपरेशन किए गए। अब तक यह आॅपरेशन केवल निजी अस्पतालों में ही किए जाते थे, लेकिन सरकारी चिकित्सा संस्थानों में यह नियत सेवा दिवस जिले में पहली बार पीलीबंगा सीएचसी में लगाया गया। इसमें बीकानेर के डाॅ. जसविन्द्र गिल ने आॅपरेशन किए। एसीएमएचओ डाॅ. योगेन्द्र तनेजा ने बताया कि जिले के अनेक ऐसे परिवार थे, जिनके पूर्व में दो-दो बार सिजेरियन आॅपरेशन हुए थे या लेप्रोस्कोपिक पद्धति से नसबंदी आॅपरेशन असफल हो चुके थे। इसके अलावा कई परिवार अन्य कारणों से भी नसबंदी आॅपरेशन नहीं करवा पा रहे थे। सरकारी चिकित्सा संस्थानों में मिनिलेप नसबंदी सुविधा उपलब्ध नहीं थी। इसके विपरीत निजी अस्पतालों में यह आॅपरेशन जरूरतमंद परिवारों के लिए काफी महंगा था। निजी अस्पतालों में इस आॅपरेशन के लिए 10 से 15 हजार रूपए खर्चा आता था। डाॅ. तनेजा ने बताया कि कुछ ऐसे परिवार जो परिवार कल्याण के स्थाई साधन का इस्तेमाल के लिए तो राजी थे। उनके परिवार की महिला का लेप्रोस्कोपिक पद्धति से आॅपरेशन नहीं हो सकता था और उनके पति नसबंदी नहीं करवाना चाहते थे। ऐसी स्थिति में वे हाथ का आॅप्रेशन (मिनिलेप नसबंदी) ही एकमात्र विकल्प था। उक्त स्थिति को देखते हुए जिला चिकित्सा प्रशासन ने पहली बार जिले के पीलीबंगा सीएचसी में 15 फरवरी गुरूवार को मिनिलेप नसबंदी नियत सेवा दिवस का आयोजन किया। इसमें 20 महिलाओं के सफल आॅपरेशन किए गए। नियत सेवा दिवस में बीकानेर के मोबाइल सर्जिकल यूनिट के डाॅ. जसविन्द्र गिल ने समस्त आॅपरेशन किए। उनके साथ सीएचसी संगरिया के मेल नर्स रामस्वरूप, रावतसर के डाॅ. महेन्द्र शर्मा तथा सीएचसी पीलीबंगा के डाॅ. मनोज अरोड़ा व स्टाॅफ ने व्यवस्थाएं सम्भाली। डाॅ. तनेजा ने बताया कि पहले बार लगे इस नियत सेवा दिवस की सफलता को देखते हुए अब बहुत जल्द संगरिया और भादरा में भी मिनिलेप नसबंदी नियत सेवा दिवस का आयोजन किया जाएगा।
- जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक में स्वास्थ्य योजनाओं पर हुई चर्चा हनुमानगढ़। भामशाह स्वास्थ्य बीमा योजना (बीएसबीवाई) के तहत सरकारी चिकित्सा संस्थानों में लोगों के उपचार में दिनोंदिन आ रही गिरावट की रिपोर्ट देखकर जिला कलक्टर प्रकाश राजपुरोहित ने समस्त बीसीएमओ को लताड़ लगाई। उन्होंने कहा कि बीएसबीवाई में नोहर ब्लाॅक को छोड़कर किसी भी ब्लाॅक कार्य में सन्तोषजनक कार्य नहीं हो रहा है। सरकार की महत्वाकांक्षी योजनाओं में अगर अब लापरवाही हुई, तो कोताही बरतने पर संबंधित अधिकारी पर कड़ी कार्यवाही की जाएगी। जिला कलक्ट्रेट परिसर के सभागार में जिला कलक्टर प्रकाश राजपुरोहित की अध्यक्षता में आज शुक्रवार को जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक आयोजित की गई, जिसमें सीएमएचओ डॉ. अरुण कुमार, आरसीएचओ डॉ. विक्रम सिंह, एसीएमएचओ डॉ. योगेन्द्र तनेजा, जिला क्षय रोग अधिकारी डॉ. रविशंकर शर्मा, एपियोडेमियोलॉजिस्ट डॉ. सुरेश चैधरी, समस्त बीसीएमओ, सीएचसी व पीएचसी चिकित्सा अधिकारी, डीपीएम रचना चैधरी, एनयूएचएम डीपीएम जितेन्द्र सिंह राठौड़, डीएनओ सुदेश जांगिड़, डीएसी संदीप बिश्नोई, विजय कौशिक, पीसीपीएनडीटी महमूद खान, आईईसी-सीओ मनीष शर्मा, समस्त बीपीएम सहित सीएमएचओ स्टाफ उपस्थित था। जिला कलक्टर प्रकाश राजपुरोहित ने कहा कि निजी व सरकारी चिकित्सा संस्थानों में बीएसबीवाई योजना के तहत जरूरतमंदों को मुफत उपचार दिया जा रहा है। निजी अस्पताल को अपने संस्थान की व्यवस्थाएं सुधारने के साथ-साथ स्टाॅफ की तनख्वाह व अन्य अनेक प्रकार के स्थाई खर्चे वहन करने होते हैं। इतने खर्चे होने के बाद भी निजी अस्पतालों में बीएसबीवाई योजना में सुधार दिखाई दे रहा है। इसके विपरीत सरकारी अस्पतालों में स्टाॅफ का खर्चा व अन्य खर्चे सरकार वहन करती है, उसके बावजूद यहां जरूरतमंदों का इलाज नहीं हो रहा है। उन्होंने कहा कि क्या कारण है जब निजी अस्पताल भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत लोगों का निःशुल्क उपचार कर बीमा कम्पनी से आय कर रहे हैं, तब सरकारी अस्पताल यह कार्य क्यों नहीं कर रहे। निजी अस्पताल बीएसबीवाई से कमाई कर अस्पताल का विस्तार कर रहे हैं। क्या हमारे बीसीएमओ ऐसा कोई काम नहीं कर सकते? क्या उन्हें अपने सरकारी अस्पताल का विस्तार नहीं करवाना। उन्होंने बताया कि नोहर ब्लाॅक ने बीएसबीवाई योजना के तहत राज्य स्तर पर अपनी अलग पहचान बनाई है। बीएसबीवाई से हुई आय से उन्होंने सीएचसी के लिए एक जैनरेटर खरीदा है। इसके अलावा उनकी सीएचसी पर दो स्वास्थ्य मार्गदर्शक कार्य कर रहे हैं, जो सीएचसी में उपचार करवाने के लिए आने वाले लोगों को बीएसबीवाई योजना के तहत इलाज करवाने के लिए प्रेरित करते हैं। उन्होंने कहा कि जिले में टिब्बी, भादरा व संगरिया सीएचसी में बीएसबीवाई योजना के तहत उदासीनता बरती जा रही है। उन्होंने बीसीएमओ व सीएचसी इंचार्ज से कहा कि अपने चिकित्सा संस्थान के बाहर पैकेज लिस्ट लगाई जाए ताकि लोगों को पता चल सके कि इस चिकित्सा संस्थान पर किन-किन बीमारियों का इलाज बीएसबीवाई योजना के तहत निःशुल्क किया जा रहा है ताकि वह इसकी जानकारी अपने परिचितों को दे सके। उन्होंने कहा कि एसीएमएचओ रोजाना बीएसबीवाई की मोनिटरिंग करेंगे और इसमें किसी प्रकार की लापरवाही ना बरती जाए। उन्होंने कहा कि जिन बेटियों तक अभी तक मुख्यमंत्री राजश्री योजना योजना का लाभ नहीं मिल पाया है, जल्द से जल्द गैप को दूर कर उनका भुगतान किया जाए। सीएमएचओ डॉ. अरुण कुमार ने समस्त बीसीएमओ को निर्देशित किया कि शुभलक्ष्मी योजना के तहत 28 फरवरी तक भुगतान करना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि जननी सुरक्षा योजना, शुभलक्ष्मी योजना व मुख्यमंत्री राजश्री योजना योजना में भुगतान व फार्म की आॅनलाइन एण्ट्री करने की कार्यवाही में तेजी लाई जाए। इन कार्यों में कई ब्लाॅकों द्वारा लापरवाही बरती जा रही है। अगर इसी तरह से एण्ट्री आॅनलाइन करने में कोताही बरती गई, तो आर्थिक पेनल्टी लगाई जाएगी। उन्होंने कहा कि सभी बीसीएमओ अपने-अपने ब्लॉक का फॉलोअप करें व लापरवाही बरतने वाले कार्मिक के खिलाफ कार्यवाही की जाए। उन्होंने समस्त बीसीएमओ को निर्देशित किया कि वे स्वास्थ्य योजनाओं में पिछड़ रहे चिकित्सा संस्थानों की नियमित बैठक लें। निरीक्षण के दौरान अगर उन्हें कार्य में कमियां मिली, तो सख्त कार्यवाही की जाएगी। उन्होंने कहा कि पीसीटीएस व ईसीटीएस साॅफटवेयर में एण्ट्री करवाई जाए ताकि निदेशालय को सही समय पर रिर्पोटिंग भेजी जा सके। उन्होंने क्षमता के अनुरूप कार्य ना करने वाली सीएचसी व पीएचसी के मेडिकल आॅफिसर्स से व्यक्तिगत कारण पूछे। उन्होंने कहा कि समस्त ब्लाॅक नियमित पानी के नमूनों, स्वाइन फलू की रिपोर्ट व अन्य रिपोर्ट भेजें। एसीएमएचओ डॉ. योगेन्द्र तनेजा ने कहा कि परिवार कल्याण के संबंध में जागरूता लाने व पुरुष नसबंदी को स्वीकार करने के लिए प्रेरित करना है। उन्होंने कहा कि इस परिवार कल्याण में हनुमानगढ़ जिला किसी भी हालत में पिछडना नहीं चाहिए। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य योजनाओं में किसी भी प्रकार की परेशानी हो, तो उनसे व्यक्तिगत सम्पर्क कर सकता है। आरसीएचओ डॉ. विक्रम सिंह कहा कि सीबीआई-आरआई में किसी भी प्रकार की लापरवाही ना बरती जाए। समस्त मेडिकल आॅफिसर्स अपने चिकित्सा संस्थान की एएनएम व आशा से रिपोर्टिंग कार्य करवाएं। इसके तहत आॅनलाइन सर्वे व हैड काउण्ट सर्वे किया करवाया जाए। डीएनओ सुदेश जांगिड़ व ने समस्त योजनाओं के बारे संबंधित ब्लॉक की प्रगति के बारे में जानकारी दी। बैठक में राष्ट्रीय तम्बाकू नियंत्रण कार्यक्रम व बायो मेडिकल वेस्ट पर कार्यशाला का भी आयोजन किया गया।
श्रीगंगानगर। संपूर्ण भारत मेें एक लाख 11 हजार किलोमीटर की लम्बी यात्रा पूरी कर कल गुरूवार को श्रीपरशुराम यात्रा श्रीगंगानगर पहुुंचेगी, जिसकी तैयारियों को लेकर बुधवार को सर्व ब्राह्मण समाज की बैठक जवाहरनगर स्थित श्रीगायत्री माता मंदिर धर्मशाला में बनवारीलाल शर्मा की अध्यक्षता में हुई। जिसमें श्रीपरशुराम यात्रा के स्वागत व अभिनंदन को लेकर रणनीति बनाई गई। बैठक को संबोधित करते हुए ब्राह्मण समाज के पदाधिकारी बनवारीलाल शर्मा ने बताया कि श्रीपरशुराम यात्रा का सर्व ब्राह्मण समाज की ओर हनुमानगढ़ रोड स्थित सैक्टर-17 (नजदीक अंधविद्यालय) पर जोरदार अभिनंदन व स्वागत किया जायेगा। इसके बाद यह यात्रा नगर परिक्रमा करती हुई श्रीगायत्री माता मंदिर धर्मशाला में पहुंचेगी ओर श्रीपरशुराम यात्रा के साथ आने वाले युगलपीठाधीश्वर आचार्य राजेश्वर महाराज वहां भगवान परशुराम की गौरवमयी शौर्य गाथा के बारे में ब्राह्मण बंधूओं को बताये गये। वहीं राजस्थान ब्राह्मण महासभा के प्रदेशउपाध्यक्ष जगदीश गौड़ ने भी सर्व ब्राह्मण समाज के पदाधिकारियों को संबोधित करते हुए कहा कि हमारे समाज के लिये यह गौरव की बात हैं कि पूरे देशभर की परिक्रमा कर यह श्रीपरशुराम यात्रा श्रीगंगानगर आ रही हैं ओर इस यात्रा में आने वाले महानुभावों द्वारा ब्राह्मण समाज को भगवान परशुराम की गौरवमयी शौर्य गाथा के बारे में भी बताया जायेगा, जिससे जानने का यह समाज के लिये एक सुनहरा मौका हैं। इसलिये हमें एकजुटता दिखाते हुए इस यात्रा को सफल बनाना चाहियें। राजस्थान ब्राह्मण महासभा के प्रदेशउपाध्यक्ष जगदीश गौड़ ने सर्व ब्राह्मण समाज से अपील भी कि इस कार्यक्रम में ज्यादा से ज्यादा संख्या में पहुंचकर कार्यक्रम को सफल बनावें। वहीं इस बैठक में बनवारीलाल शर्मा, जगदीश गौड़, पवन गौतम, मनोहरलाल शर्मा, प्रेमप्रकाश शर्मा, तसिन्द्र कुमार, पवन शर्मा, विजय पंचारियां, डॉ. ओपी भारद्वाज, फूसाराम शर्मा, कैलाशचंद्र शर्मा, ओमप्रकाश पारीक, मीडिया कोर्डिंनेटर लक्ष्मीकान्त गौड़, जुगल किशोर शर्मा, द्वारकाप्रसाद सारस्वत, भगवतीप्रसाद सारस्वत, प्रो. जीएल शर्मा, सुबोधकुमार, ओमप्रकाश शर्मा, मदनलाल शर्मा सहित काफी संख्या में ब्राह्मणबंधू मौजूद थे।
श्रीगंगानगर। संपूर्ण भारत मेें एक लाख 11 हजार किलोमीटर की लम्बी यात्रा पूरी कर कल गुरूवार को श्रीपरशुराम यात्रा श्रीगंगानगर पहुुंचेगी, जिसकी तैयारियों को लेकर बुधवार को सर्व ब्राह्मण समाज की बैठक जवाहरनगर स्थित श्रीगायत्री माता मंदिर धर्मशाला में बनवारीलाल शर्मा की अध्यक्षता में हुई। जिसमें श्रीपरशुराम यात्रा के स्वागत व अभिनंदन को लेकर रणनीति बनाई गई। बैठक को संबोधित करते हुए ब्राह्मण समाज के पदाधिकारी बनवारीलाल शर्मा ने बताया कि श्रीपरशुराम यात्रा का सर्व ब्राह्मण समाज की ओर हनुमानगढ़ रोड स्थित सैक्टर-17 (नजदीक अंधविद्यालय) पर जोरदार अभिनंदन व स्वागत किया जायेगा। इसके बाद यह यात्रा नगर परिक्रमा करती हुई श्रीगायत्री माता मंदिर धर्मशाला में पहुंचेगी ओर श्रीपरशुराम यात्रा के साथ आने वाले युगलपीठाधीश्वर आचार्य राजेश्वर महाराज वहां भगवान परशुराम की गौरवमयी शौर्य गाथा के बारे में ब्राह्मण बंधूओं को बताये गये। वहीं राजस्थान ब्राह्मण महासभा के प्रदेशउपाध्यक्ष जगदीश गौड़ ने भी सर्व ब्राह्मण समाज के पदाधिकारियों को संबोधित करते हुए कहा कि हमारे समाज के लिये यह गौरव की बात हैं कि पूरे देशभर की परिक्रमा कर यह श्रीपरशुराम यात्रा श्रीगंगानगर आ रही हैं ओर इस यात्रा में आने वाले महानुभावों द्वारा ब्राह्मण समाज को भगवान परशुराम की गौरवमयी शौर्य गाथा के बारे में भी बताया जायेगा, जिससे जानने का यह समाज के लिये एक सुनहरा मौका हैं। इसलिये हमें एकजुटता दिखाते हुए इस यात्रा को सफल बनाना चाहियें। राजस्थान ब्राह्मण महासभा के प्रदेशउपाध्यक्ष जगदीश गौड़ ने सर्व ब्राह्मण समाज से अपील भी कि इस कार्यक्रम में ज्यादा से ज्यादा संख्या में पहुंचकर कार्यक्रम को सफल बनावें। वहीं इस बैठक में बनवारीलाल शर्मा, जगदीश गौड़, पवन गौतम, मनोहरलाल शर्मा, प्रेमप्रकाश शर्मा, तसिन्द्र कुमार, पवन शर्मा, विजय पंचारियां, डॉ. ओपी भारद्वाज, फूसाराम शर्मा, कैलाशचंद्र शर्मा, ओमप्रकाश पारीक, मीडिया कोर्डिंनेटर लक्ष्मीकान्त गौड़, जुगल किशोर शर्मा, द्वारकाप्रसाद सारस्वत, भगवतीप्रसाद सारस्वत, प्रो. जीएल शर्मा, सुबोधकुमार, ओमप्रकाश शर्मा, मदनलाल शर्मा सहित काफी संख्या में ब्राह्मणबंधू मौजूद थे।

Top News

http://www.hitwebcounter.com/